पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गठिया से उबरते-उबरते बन गई एक्सपर्ट:गुलजार, पीयूष मिश्रा तक की कर चुकी हूं हीलिंग, वैदिक मंत्र और सिंगिंग बाउल्स से होता है काम

2 महीने पहलेलेखक: मीना
  • कॉपी लिंक

‘मैं मात्र 28 साल की थी जब मुझे ऑटोइम्यून डिजीज रूमेटॉयड आर्थराइटिस यानी गठिया हुआ। पति की सरकारी नौकरी, दो खुशहाल बच्चे, कुल मिलाकर वैवाहिक जीवन की पिक्चर परफेक्ट थी, लेकिन मेरी अपनी हेल्थ टाय-टाय फुस्स हो रही थी।

'गठिया के कारण आठ महीने बिस्तर पर रही। घर मुझे काटने को दौड़ता। डिप्रेशन की शिकार हो गई। फिर लगा कि जिंदगी कब तक ऐसे काटूंगी। फिर मैं राख की तरह उड़ी और अंतहीन उपचारों की ओर दौड़ी।’

मध्यप्रदेश के कटनी में जन्मी साउंड हीलिंग थैरेपिस्ट और लाइफ कोच डॉ. आरती सिन्हा वुमन भास्कर से खास बातचीत में कहती हैं, ‘गठिया का मेडिकल साइंस में कोई इलाज नहीं है। मैंने खुद को ठीक करने के लिए शायद ही कोई इलाज छोड़ा होगा। होम्योपैथी, आयुर्वेदिक नेचुरोपैथी, ज्योतिष और हरसंभव तरीके से इस बीमारी के लिए उपचार ढूंढने की निरर्थक कोशिश की।

डॉ. आरती सिन्हा मध्यप्रदेश की रहने वाली हैं और साउंड हीलिंग थेरेपी से तन, मन के रोगों की हीलिंग करती हैं।
डॉ. आरती सिन्हा मध्यप्रदेश की रहने वाली हैं और साउंड हीलिंग थेरेपी से तन, मन के रोगों की हीलिंग करती हैं।

वैकल्पिक चिकित्सा की ओर पहुंची
तब मेरा ध्यान मेडिटेशन और वैकल्पिक चिकित्सा की ओर गया। शुरुआत हुई रेकी, आर्ट ऑफ लिविंग और प्राणिक हीलिंग से। धीरे-धीरे समझ में आया कि मन और मस्तिष्क का संबंध बहुत गहरा है। मस्तिष्क को शांत रखने के लिए मेडिटेशन सीखना चाहा पर ये बेहद जटिल प्रक्रिया लगी और मन को शांत रखना लगभग असंभव सा लगा।

इसी दरम्यान कुछ मंत्रों जैसे ओम का उच्चारण शुरू किया। तब मन में शांति की अनुभूति हुई। साथ ही दर्द में कमी हुई। तब साउंड से पहली बार रू-ब-रू हुई। वैदिक मंत्र और उनसे पैदा हुए साउंड की ओर आकर्षण भी बढ़ा।
…और साउंड हीलिंग के बारे में जान सकी
साउंड हीलिंग से परिचय ऋषिकेश से लाए गए एक सिंगिंग बॉल के जरिए हुआ। इसे जब प्ले किया तो लगातार ओम की मधुर आवाज निकली। तब इसमें और उत्सुकता जगी। सिंगिंग बाउल्स सात धातुओं से बने होते हैं उनका इस्तेमाल कर शरीर के विभिन्न चक्रों से संबंधित आव्रतियों को उत्पन्न किया जाता है। इसको डीप रिलैक्सेशन, मेडिटेशन और बीमारियों को वापस आने से रोकने में उपयोग किया जाता है।

5 हजार साल पुरानी चिकित्सा पद्धति
साउंड हीलिंग 5000 साल पुरानी ऐसी वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति है जो भावनात्मक रूप से मजबूत तो बनाती ही है, शरीर पर भी चमत्कारिक रूप से असर करती है।

इसमें छोटे सिंगिंग बॉल से लेकर बड़े सिंगिंग बाउल्स भी होते हैं जिनमें खड़े होकर आप साउंड बाथ ले सकते हैं। इस चिकित्सा में सिंगिंग बाउल्स, गोंग, चाइम्स, ट्यूनिंग फॉर्क्स, गाइडेड वॉयस टिंग्शा बेल, मंत्रों आदि का उच्चारण भी होता है।

पानी और साउंड हीलिंग का संबंध
जब कभी कोई बीमारी होती है तो हमारे शरीर की नैसर्गिक फ्रिक्वेंसी डिस्टर्ब होती है। साउंड शरीर के अंदर आसानी से प्रवेश कर जाता है क्योंकि शरीर के अंदर 70 प्रतिशत पानी ही है और साउंड पानी में ट्रैवल कर सकता है।

चिकित्सा के दौरान विभिन्न आवृतियों वाले सिंगिंग बाउल्स शरीर के आसपास और शरीर के ऊपर रखकर प्ले की जाती हैं, जो शरीर की बिगड़ी हुई आवृतियों को रिस्टोर करती हैं। शरीर की ये तरंगें आपको बीमार होने से बचाती हैं।

चक्रों के आधार पर इनकी विभिन्न आवृतियों के अनुसार विशिष्ट मंत्र और चक्र साउंड होते हैं जिनके दीर्घ उच्चारण के माध्यम से खुद को स्वस्थ रख सकते हैं।

खुला करिअर का ब्रह्मांड
एक बीमारी को ठीक करने की प्रक्रिया में मैं साउंड हीलिंग थेरेपी की ओर बढ़ी थी, लेकिन इसने तो मेरे करिअर का ही ब्रह्मांड खोल दिया। अब मैं साउंड हीलिंग थैरेपिस्ट से लेकर लाइफ कोच तक हूं।

मेरे नाम कई उपलब्धियां हैं। मैंने एक साथ 1313 स्टूडेंट्स को मेडिटेशन कराया जिस वजह से इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स का खिताब मेरे नाम हुआ।

युनिवर्सिटी में कोर्स भी हुआ लांच
यही नहीं, साउंड हीलिंग का मेरा कोर्स सांची यूनिवर्सिटी में लांच हुआ है। साउंड की मदद से कैंसर, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, गठिया, ट्रॉमा, पीसीओडी जैसी सभी बीमारियों को हील करना संभव है। मेरा दावा है कि अगर हम रेगुलर हीलिंग करते हैं तो हमें कभी बीमारी होगी ही नहीं।

अब मेरा आरती सिन्हा ट्रस्ट भी है जिसके जरिए मैं 10 हजार लोगों तक पहुंची हूं। हेल्दी माइंड रूटीन के नाम से प्रोग्राम शुरू किया है। हमने आंगनबाड़ी सेविकाओं के साथ भी काम किया। उन्हें मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखना सिखा रहे हैं। कैंसर पेशेंट्स के लिए निशुल्क शिविर करती हूं। स्पेशल चिल्ड्रन के लिए भी काम करती हूं। जेल में भी मेडिटेशन कराए हैं। पुलिस ऑफिसर्स को भी मेडिटेशन कराया है।

नेता से लेकर अभिनेता तक की हीलिंग
मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी मेरे काम की सराहना की है। गुलजार, पीयूष मिश्रा, सुष्मिता मुखर्जी को भी माइंड रिलेक्सेशन के लिए साउंड हीलिंग कराई है।

आज सात साल हो गए हैं साउंड हीलिंग करते हुए। विजार्ड ऑफ साउंड नाम से मेरी क्लिनिक भी है जहां मैं देशी और विदेशी सभी तरह के मरीजों को देखती हूं। सेंट्रल इंडिया में यह पहला क्लिनिक है जो साउंड हीलिंग पर काम करता है।

कवि गुलजार को साउंड हीलिंग थेरेपी के बारे में बताते हुए डॉ. आरती सिन्हा।
कवि गुलजार को साउंड हीलिंग थेरेपी के बारे में बताते हुए डॉ. आरती सिन्हा।

हिम्मत न हारें, आगे बढ़ते रहें
अपनी परेशानी का हल ढूंढ़ते हुए मैं यहां तक पहुंची, लेकिन कभी हार नहीं मानी। हमेशा पढ़ना जारी रखा। हमें कोई भी दिक्कत है सबसे पहले उस स्थिति में खुद को स्वीकार करें, तब आगे बढ़ पाएंगे। मैं अक्सर एक शेर गुनगुनाती हूं कि गर देखना चाहते हो मेरी उड़ान को। तो थोड़ा और ऊंचा कर दो आसमान को।

खबरें और भी हैं...