पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नवरात्रि व्रत रखने पर रूबी खान को जलाने की धमकी:घर पर माता का दरबार लगाया, बोलीं- दिवाली में लक्ष्मी पूजा भी करूंगी

नई दिल्ली2 महीने पहलेलेखक: मरजिया जाफर
  • कॉपी लिंक

गणेश प्रतिमा स्थापित कर उलेमाओं के निशाने पर आई अलीगढ़ की रूबी आसिफ खान ने फिर 9 दिनों के लिए अपने घर में माता का दरबार लगाया है। अब उन्हें धमकियां मिल रही हैं। रूबी की नाफरमानी से उलेमा क्यों नाराज हैं? आइए जानते हैं उन्हीं की जुबानी।

तमाम धमकियों के बावजूद किया गणेश विसर्जन

मैं 8 साल पहले BJP में शामिल हुई। अभी BJP महानगर के जयगंज मंडल महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष हूं। मैं पिछले पांच साल से घर में भगवान श्री गणेश की प्रतिमा स्थापित करती आ रही हूं, लेकिन इस बार मेरे साथ मुस्लिम कट्टरपंथियों ने बहुत बुरा बर्ताव किया और मुझे पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच गणपति बप्पा का विसर्जन करना पड़ा।

अब मेरे खिलाफ मौलानाओं के फतवे जारी कर दिए गए हैं कि ये हिंदू बन चुकी है। मेरे परिवार को जिंदा जलाने की धमकी दी जा रही है, घर से बाहर निकलती हूं तो मुझ पर तरह-तरह की टिप्पणियां की जाती हैं। हालांकि मुझे इन सब से डर नहीं लगता, लेकिन प्रशासन ने मेरे अनुरोध पर एक सिपाही को मेरे घर के सामने तैनात किया है।

अलीगढ़ BJP महानगर के जयगंज मंडल महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष रूबी आसिफ खान।
अलीगढ़ BJP महानगर के जयगंज मंडल महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष रूबी आसिफ खान।

फतवों से नहीं डरती, नमाज-आरती सब करती हूं

अभी मैंने 9 दिनों के लिए अपने घर में पूरे विधि-विधान के साथ दुर्गा प्रतिमा स्थापित की है। रोज शाम को मगरिब की नमाज के बाद मैं आरती करती हूं। मेरी इस आस्था के चलते मुझ पर मुस्लिम संगठन, कभी फतवा जारी करते हैं तो कभी धमकियां देते हैं।

मैं ज्यादा पढ़ी-लिखी नहीं हूं। मुझे बस इतना समझ में आता है कि ईश्वर और अल्लाह एक ही हैं। मैं उनसे अपने देश के लिए चैन और अमन की दुआएं करती हूं। मेरे मन में शुरू से ही इबादत और पूजा अर्चना को लेकर समान भाव से आस्था है। मैंने अपने घर में बचपन से ही यही देखा है। इसलिए मुझे सभी तरह के त्योहार मनाना अच्छा लगता है।

हिंदू-मुस्लिम सब मिलजुल कर रहें। मैंने माता रानी से प्रार्थना की है कि इस देश में चैन, सुकून, अमन शांति इसी तरीके से बना रहे। सारे भेदभाव खत्म हो जाएं। मैं अल्लाह ताला से यही दुआ करूंगी कि भेदभाव खत्म हो और ऐसे मुल्ला मौलवी जो पूरे देश को बर्बाद करना चाहते हैं, उनको सद्बुद्धि दें।

रोजे, इबादत और व्रत में है आस्था

नवरात्रि में पूरे 9 दिन की व्रत भी रख रही हूं। जैसे रमजान में रोजे रखती हूं। नमाज पढ़ती हूं और पूजा-पाठ भी करती हूं, लेकिन जिहादी सोच वाले मौलानाओं को यह बुरा लगता है, और वो मेरी कौम को मेरे खिलाफ भड़का रहे हैं।

इन जिहादियों का काम है फतवे देना और डराना-धमकाना। जो फतवा जारी करते हैं मैं उनको कहना चाहूंगी कि वे संभल जाएं। अभी वक्त है वर्ना आगे बहुत नुकसान होगा। मिलजुल कर रहें तो बहुत अच्छा रहेगा।

रूबी आसिफ खान दोनों समुदाय की प्रार्थना सभा में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेती हैं।
रूबी आसिफ खान दोनों समुदाय की प्रार्थना सभा में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेती हैं।

पहले भी हो चुके हैं हमले

मैं मुस्लिम बहुल इलाके में रहती हूं। मेरे पड़ोसी मुझसे कतराने लगे हैं। जब मैंने 2016 में BJP जाॅइन की थी तभी से यह सब मेरे खिलाफ हो रहा है। उसी वक्त से मेरे घर पर हमले हो रहे हैं। पहला हमला 2016 में हुआ जब मेरा घर जलाया गया था। उस वक्त मेरे बच्चे सो रहे थे।

दूसरी बार घर पर फायरिंग की गई, जिसमें मेरी बेटी के पेट में गोली लगी। आज वो 17 साल की है, लेकिन उसकी सेहत नहीं सुधरी। मुझे फ़िक्र है मेरे बाद बच्ची कैसे जिंदगी गुजारेगी। कौन उसका हाथ थामेगा।

सात महीने पहले मेरे ऊपर फिर से फायरिंग कराई गई थी। खैर उसमें मैं बच गई और CCTV की मदद से दोषियों को गिरफ्तार किया जा सका, लेकिन दो-तीन दिन पहले हुए हादसे ने मुझे अंदर तक झकझोर कर रख दिया है। जब मेरे घर पर पर्चे लगाए गए। वैसे मैं किसी से डरती नहीं हूं, लेकिन बच्चों का ख्याल आते ही मेरी रूह कांप जाती है, क्योंकि दस महीने पहले मैंने अपने 15 साल के बच्चे को खोया है। अभी मेरे अंदर और कोई सदमा बर्दाश्त करने की हिम्मत नहीं है।

दो साल पहले रूबी ने अपने घर में भगवान राम की मूर्ति स्थापित की थी।
दो साल पहले रूबी ने अपने घर में भगवान राम की मूर्ति स्थापित की थी।

शौहर ने बताया-गली में मेरे नाम के पोस्टर लगे हैं

सुबह जब उठकर देखा, तो घर और गली में मेरे खिलाफ ब्लैक एंड वाइट पोस्टर लगे थे, जिस पर लिखा हुआ था कि ‘रूबी काफिर हो गई है, यह पूजा कर रही है, इसको परिवार समेत इस्लाम से खारिज कर देना चाहिए, इनको जिंदा जला देना चाहिए’ पोस्टर पर सबसे नीचे जमाते इस्लामी का नाम लिखा था।

फिलहाल, थाने में पोस्टर लगाने के मामले में अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी गई है। मुस्लिम संगठन मेरे खिलाफ कई बार फतवे जारी कर जान से मारने की धमकी दे चुके हैं। जिसके बाद मैंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, DGP, ADG, DIG, SSP को पत्र भेजकर अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा की गुहार लगाई है। दो साल पहले मैंने भगवान राम की मूर्ति अपने घर में स्थापित की थी, तब भी मेरे खिलाफ पोस्टर लगवाए गए थे।

दशमी के बाद दिवाली भी धूमधाम से मनाएंगी।
दशमी के बाद दिवाली भी धूमधाम से मनाएंगी।

धूमधाम से दिवाली भी मनाऊंगी

मैं लक्ष्मी और गणेश का पूजन भी धूमधाम से करूंगी। त्योहार किसी भी संप्रदाय या समुदाय का हो, सभी को सौहार्द के साथ आपस में मिलकर मनाना चाहिए। मेरे बच्चे भी आजाद हैं और बालिग होने पर किसी भी धर्म या समुदाय के युवक और युवतियों से शादी कर सकते हैं, मुझे कोई ऐतराज नहीं है। मुझे दोनों में कोई फर्क नजर नहीं आता।

देश में सौहार्द और एकता को बरकरार रखने के लिए प्रयास जारी रहेंगे।
देश में सौहार्द और एकता को बरकरार रखने के लिए प्रयास जारी रहेंगे।

PM नरेंद्र मोदी से महिलाओं की रक्षा की अपील की

मैंने ईरान में हो रहे महिलाओं पर अत्याचार के खिलाफ भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से महिलाओं की जान और सम्मान की रक्षा करने की अपील की है। ईरान सरकार ने जो जिहादी कानून महिलाओं के ऊपर हिजाब पहनने का लगाया है, उसके खिलाफ एक्शन लें।

मुसलमानों को भड़का कर प्रदेश की फिजा खराब करने वाले मौलाना रशीद फिरंगी के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील करती हूं कि विवाद पैदा करने वाले मौलानाओं पर मुकदमे दर्ज हों।

इस्लाम में कहीं नहीं लिखा है कि खून खराबे की बात करो, लड़ाई-झगड़े की बात करो, भाई को भाई से लड़ाओ। इस्लाम सिखाता है मोहब्बत बांटो, इंसानियत बांटो, सब के साथ भेदभाव खत्म करो और हिंदू-मुस्लिम एकता बढ़ाओ।