पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Women
  • Viral In Various Colors Including South Delhi Style To Rajasthani, Bihari, State Changed, Name Changed

मोनालिसा का इंडियन लुक:राजस्थानी, बिहारी सहित कई रंग-रूप की पोशाक में वायरल, कभी ‘ओलंपिया’ ने मचा दी थी दुनिया में हलचल

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूरोपीय देश इटली की मशहूर पेंटिंग मोनालिसा के बारे में तो आपने कई बार सुना होगा। लेकिन इस समय सोशल मीडिया पर यह पेंटिंग किसी और रूप-रंग को लेकर चर्चा में बनी हुई है।

चर्चा की वजह यह है कि मोनालिसा की पेंटिंग को इंडियन लुक दे दिया गया है। इतना ही नहीं इंडियन लुक में भी गुजराती, राजस्थानी, बंगाली, दक्षिण भारतीय सहित कई स्टाइल में इसे प्रेजेंट किया गया है।

क्रिएटिविटी का यह भारतीय मेकओवर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। अब तक इस पोस्ट पर हजारों कमेंट और लाइक मिल चुके हैं। इंटरनेट यूजर्स को इस तरह की क्रिएटिविटी बेहद पसंद आ रही है।

ट्वीटर यूजर पूजा सांगवान ने इस तरह के फोटो की एक सीरीज शेयर की है। ये फोटो देश के अलग-अलग हिस्सों के पहनावे से ताल्लुक रखते हैं जिसमें मोनालिसा के दक्षिण दिल्ली वर्जन लीजा मौसी को शेयर किया गया है। ट्वीटर पर इस इंडियन मेकओवर को यहां आप खुद भी देख सकते हैं।

दूसरे ट्वीट में लीसा मौसी महाराष्ट्र की लीसा ताई के तौर पर शेयर की गई है।

तीसरे ट्वीट में मोनालिसा बिहार की लीसा देवी हो जाती हैं।

चौथा ट्वीट मोनालिसा को राजस्थान की महारानी लीसा बना देता है।

अगले ट्वीट में मोनालिसा कोलकाता की सोनालिसा बन जाती हैं।

केरल आते ही मोनालिसा का यह रूप गजरा, बिंदी और साड़ी के साथ लीसा मोल बन जाता है।

तेलंगाना पहुंचते ही मोनालिसा अपने नए कलेवर में लीसा बोम्मा हो गई हैं।

अपने आखिरी ट्वीट में मोनालिसा को गुजराती लुक दिया जाता है जहां वह लीसाबेन बन जाती हैं।

बता दें कि मोनालिसा पेंटिंग को 16वीं शताब्दी में लियोनार्डो द विंसी ने बनाया था जिसको लेकर अब तक दुनिया भर में कई तरह के रिसर्च भी हो चुके हैं। 30x21 इंच की इस पेंटिंग का वजन सुनेंगे तो हैरान रह जाएंगे। इसका वजन था-8 किलो। हालांकि, अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि लियोनार्दो द विंसी ने यह पेंटिंग किस महिला की बनाई थी। कुछ रिसर्चर्स का मानना है कि इस पेंटिंग में फ्लोरेंस की इटालियन महिला लिस घेरार्दिनी को चित्रित किया गया है। जबकि कुछ ऐसे भी रिसर्चर हैं जो कहते हैं कि लियोनार्डो द विंसी ने खुद को ही चित्रित किया है।

14 साल में जाकर पूरी हुई थी मोनालिसा पेंटिंग

लियोनार्डो के लिए इस पेंटिंग को बनाना इतना आसान नहीं रहा है। करीब डढ़ दशक (सन् 1503-17 तक) की मेहनत के बाद ही वे इस पेंटिंग को पूरा कर पाए थे। पहले 12 साल तक तो उन्होंने मोनालिसा के होंठ तैयार करने पर ही काम किया था।

मोनालिसा की इस पेंटिंग को बनाने वाले लियोनार्डो एक पेंटर के अलावा लेखक भी थे।
मोनालिसा की इस पेंटिंग को बनाने वाले लियोनार्डो एक पेंटर के अलावा लेखक भी थे।

लियोनार्डो इस पेंटिंग के पूरा होने के 2 साल बाद ही इस दुनिया को अलविदा कह गए।

दुनिया में महिलाओं से जुड़ी कई और पेंटिंग भी हैं जो कि लोकप्रिय हुई हैं। ऐसी ही कुछ पेंटिंग पर आइए नजर डालते हैं।

17वीं सदी की पेंटिंग गर्ल विथ अ पर्ल इअर रिंग

कला के इतिहास में 'गर्ल विथ अ पर्ल इअर रिंग' को बेहतरीन आर्ट वर्क माना गया है। इस पेंटिंग को 1665 में डच पेंटर जोहानस वरमीर ने बनाया था।

मोनालिसा के अलावा इस पेंटिंग की यूरोप और दुनिया भर के चित्रकारों में सबसे ज्यादा चर्चा हुई।
मोनालिसा के अलावा इस पेंटिंग की यूरोप और दुनिया भर के चित्रकारों में सबसे ज्यादा चर्चा हुई।

समय के साथ-साथ इस पेंटिंग को कई उपनामों से नवाजा गया। 20वीं शताब्दी में इसे 'मोनालिसा ऑफ हॉलैंड' की संज्ञा दी गई।

'ओलंपिया' पेंटिंग ने दुनिया में मचा दी थी हलचल

एडुआर्ड मोनेट की इस पेंटिंग को पहली बार 1865 में पेरिस सैलोन में प्रदर्शित किया गया था।

51.4 × 74.8 इंच की इस पेंटिंग को बाद में फ्रांसीसी सरकार ने खरीदकर पेरिस स्थित मूसे डि ओरसे म्यूजियम में रखवा दिया था। जो कि अभी भी यहां मौजूद है।
51.4 × 74.8 इंच की इस पेंटिंग को बाद में फ्रांसीसी सरकार ने खरीदकर पेरिस स्थित मूसे डि ओरसे म्यूजियम में रखवा दिया था। जो कि अभी भी यहां मौजूद है।

इस पेंटिंग में एक महिला को नग्न अवस्था में बिस्तर पर लेटे हुए दर्शाया गया है और उसके पास एक दासी फूलों का गुलदस्ता लिए हुए खड़ी है। 51.4 × 74.8 इंच की इस पेंटिंग को बाद में फ्रांसीसी सरकार ने खरीदकर पेरिस स्थित मूसे डि ओरसे म्यूजियम में रखवा दिया था। जो कि अभी भी यहां मौजूद है।

खबरें और भी हैं...