पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Women
  • Some Were Already Married, Some Were Doing Fake Jobs, Some Had No Hair On Their Heads.

झूठी डिग्री या दूसरे की प्रॉपर्टी दिखाकर की शादी:कोई पहले से शादीशुदा, तो कोई कर रहा था फर्जी नौकरी, किसी के सिर पर नहीं थे बाल

नई दिल्ली4 महीने पहलेलेखक: राधा तिवारी
  • कॉपी लिंक

लड़की और लड़का दोनों पक्षों को बीच शादी तय करने को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट ने एक बड़ी टिप्पणी की है। कोर्ट ने बीमारी को छिपाकर की गई शादी को धोखा करार दिया है और कहा कि यह शादी रद्द करने का कारण बनता है। इस दौरान कोर्ट ने फैमिली कोर्ट के आदेश को निरस्त करते हुए एक व्यक्ति के विवाह को खारिज करने का आदेश जारी किया। इस मामले में पत्नी ने पति से अपनी मानसिक बीमारी सिजोफ्रेनिया को छुपाया था। शादी को लेकर हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति विपिन सांघी और न्यायमूर्ति जसमीत सिंह ने कहा कि भारत में शादी का काफी सम्मान किया जाता है। ऐसे में शादी से पहले किसी भी पक्ष द्वारा बीमारी को छिपाना धोखा है और यह शादी को रद्द का कारण बनता है।

कोर्ट ने बीमारी को छिपाकर की गई शादी को धोखा करार दिया है।
कोर्ट ने बीमारी को छिपाकर की गई शादी को धोखा करार दिया है।

न्याय पाने के लिए शिकायत जरूर करें
दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में वकील अनिल सिंह कहते हैं कि भारत में आज भी कई शादियां धोखे में रखकर कराई जाती हैं। फिर चाहे वह किसी बीमारी के कारण हो, या झूठी नौकरी या प्रॉपर्टी दिखाकर। अक्सर धोखे से हुई शादी के कई मामले हमारे सामने आते हैं। दिल्ली कोर्ट में एक केस 10 साल से चल रहा है, जिसमें शादी मैट्रिमोनियल साइट की मदद से हुई थी। लड़के के परिवार वालों ने शादी के पहले लड़के को नौकरी करने वाला और अपनी जमीन जायदाद को बढ़ा-चढ़ा कर बताया। शादी हो जाने के बाद जब लड़की उस घर में गई तो पता चला कि उनका लड़का जॉब भी नहीं करता और जमीन-जायदाद की बातें भी झूठी बताई गई हैं। शादी के पहले लड़के के बारे में जो भी जानकारी दी गई वो गलत थी।

आजकल ज्यादातर शादियां मैट्रिमोनियल साइट की मदद से की जा रही हैं।
आजकल ज्यादातर शादियां मैट्रिमोनियल साइट की मदद से की जा रही हैं।

शादी के लिए माता-पिता ने बनवाई फर्जी डिग्री
दूसरा केस पटियाला हाऊस कोर्ट का है जहां लड़की के माता-पिता ने अपनी बेटी की शादी के लिए झूठ बोला था। उन्होंने शादी के पहले बताया था कि लड़की ने फैशन डिजाइनिंग की है, अपना बुटीक चलाती है साथ ही किसी बड़े कंपनी के इवेंट के लिए ड्रेस भी डिजाइन करती है। इसके साथ ही उसके घर वालों के अनुसार लड़की घर का सारा काम करती है, काफी पढ़ी-लिखी है। शादी के बाद लड़की देर से सोकर उठने लगी और उसे खाना बनाने तक नहीं आता। किसी तरह उसके पेरेंट्स ने शादी के लिए उसकी फर्जी डिग्री कहीं से बनवा दी थी।

पेरेंट्स ने शादी के लिए उसकी फर्जी डिग्री कहीं से बनवा दी थी।
पेरेंट्स ने शादी के लिए उसकी फर्जी डिग्री कहीं से बनवा दी थी।

पहले से शादीशुदा था लड़का, दहेज के लिए की शादी
तीसरा केस हरियाणा के हिसार का है जहां मामला यह था कि लड़का कनाडा में जॉब करता था। उसके घरवालों ने शादी से पहले कहा कि लड़की भी शादी के बाद कनाडा चली जाएगी। फैमिली वालों ने सोचा कि लड़का विदेश में जॉब करता है, अच्छा पैसा कमाता है, उसका कनाडा में घर भी है, हमारी लड़की सुखी रहेगी। काफी दहेज देकर शादी करवाई गई। शादी के बाद लड़का यह बोलकर विदेश चला गया कि जल्दी ही उसे लेकर जाएगा। जब दो साल तक वह वापस नहीं आया तो लड़की के ससुराल वालों ने कोर्ट में केस किया। काफी तहकीकात के बाद पता चला कि लड़का पहले से शादीशुदा था और उसका एक बेटा भी है। उसने सिर्फ दहेज के लालच में शादी की थी।

पहले से शादीशुदा था लड़का, दहेज के लिए की शादी
पहले से शादीशुदा था लड़का, दहेज के लिए की शादी

शादी के पहले से तलाकशुदा था लड़का, साथ हीं थे दो बच्चे
चौथा केस पंजाब के भटिंडा का है, जहां लड़का यूके में रहता था और तलकाशुदा था। लड़की के घर वालों को यह बात शादी के पहले कहीं से पता नहीं चला। काफी धूमधाम से दोनों की शादी हुई। उसके बाद लड़की विदेश चली गई लेकिन वहां पर जाते ही पति और उसकी सास ने लड़की के साथ बुरा व्यवहार करना शुरु कर दिया और दहेज कम लाने के ताने मारने शुरु कर दिए। लड़की को वहां जाकर पता चला कि लड़के के पहली शादी से दो बच्चे हैं और वह अकसर उनके घर आते हैं। जबकि शादी के समय बस यह बात बताई गई थी कि लड़के की दो साल पहले सगाई होकर टूट गई है , शादी और बच्चों की बात नहीं बताई गई थी। किसी तरह लड़की को वापस इंडिया लाया गया और उनका केस चल रहा है।

शादी के कुछ ही दिन बाद पत्नी की खुली पोल, नहीं थे सर पर एक भी बाल
पांचवा मामला मेरठ का हैं, जहां शादी के कुछ ही दिन बाद जब पति को पता चला कि उसकी पत्नी के सिर पर बाल बहुत कम है। वे इतने दिन से झूठ बोलकर विग लगाकर रह रही थी। पति ने इसकी जानकारी परिजनों को दी। उनलोंगो ने दुल्हन को उसके घर वापस भेज दिया। लड़की के घरवालों ने कार्रवाई की गुहार लगाई। इस पर पुलिस ने दोनों पक्षों को थाने बुलाया और आपसी सहमति से मामला सुलझाने की बात कही, लेकिन पति और उसके घर वाले उसे वापस ले जाने को राजी नहीं हुए और कोर्ट में केस चल रहा है।

जहां शादी के कुछ ही दिन बाद जब पति को पता चला कि उसकी पत्नी के सिर पर बाल बहुत कम है।
जहां शादी के कुछ ही दिन बाद जब पति को पता चला कि उसकी पत्नी के सिर पर बाल बहुत कम है।

लड़की की उम्र बताई गलत, शादी के बाद हुआ संदेह
छठा मामला राजस्थान के भरतपुर का है, जहां बिचौलियों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। पति का आरोप है कि उसकी पत्नी की उम्र गलत बताकर उससे शादी कराई गई है। महिला उससे उम्र में काफी बड़ी है। डॉक्यूमेंट्स में हेरफेर कर उसके साथ धोखा हुआ है। शादी के पहले लड़की की उम्र कम बताई गई थी। बायोडाटा, आधार कार्ड पर लड़की की उम्र काफी कम लिखी गई थी। शादी के बाद जब पति ने पत्नी का चेहरा देखा तो उसे शक हुआ। उसकी उम्र ज्यादा लगी। इस पर पति ने पत्नी से पूछा, तो उसने सब कुछ सच बता दिया कि उसके घर वालों ने फेक डॉक्यूमेंट्स बनाकर शादी करवाई है। ससुराल वाले लड़के को धमकी दे रहे हैं। कह रहे हैं कि अब शादी हो चुकी है, उम्र से क्या मतलब। लड़के ने पत्नी, ससुराल वालों के साथ ही शादी कराने वाले कई लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज करा दिया है। मामले की जांच में चल रही है।

झूठ बोलकर रिक्सा चलाने वाले से करा दी शादी
सातवां मामला उतराखंड के अलमोड़ा का है जहां लड़की की शादी झूठ बोलकर कराई गई थी। शादी के पहले कहा गया था कि दिल्ली में लड़के का अपना घर है, किसी प्रेस में नौकरी करता है। लेकिन, वो झुग्गी झोपड़ी में रहता था और रिक्शा चलाता था। शराब पीकर बहुत मारपीट भी करता था। बाद में लड़की ने किसी तरह अपने घर वालों को कांटेक्ट किया, मामला दिल्ली फैमिली कोर्ट में चल रहा है।

जांच पड़ताल में पता चला कि लड़की का तलाक का केस चल रहा
आठवां मामला साउथ दिल्ली का है। जहां शादी से पहले कहा गया था कि लड़का एक मल्टिनेशनल कंपनी में नौकरी करता है और फैमिली के साथ नोएडा में रहता है। लड़की वालों को लड़का अच्छा लगा। लड़कीवाले जल्दी शादी करना चाहते थे, लेकिन लड़के के पैरंट्स ने अच्छी तरह जांच-पड़ताल करने की सोची। जांच पड़ताल में पता चला कि लड़की की 5 साल पहले कहीं शादी हुई थी। बाद में लड़की के घर वालों ने बताया कि उनकी बेटी के ससुराल वाले शादी के बाद बहुत परेशान करते थे जिस वजह से उनकी बेटी का तलाक का केस कोर्ट में चल रहा है।

बेरोजगारी की वजह से शादी के लिए बनाई फेक प्रोफाइल
ऐसा ही एक मामला गुड़गांव का है, जहां एक महिला का डिवॉर्स हो गया था। दोबारा शादी करने के मकसद से उसने ऑनलाइन मैट्रिमोनियल साइट पर प्रोफाइल बनाया। एक शख्स ने उससे कॉन्टैक्ट किया और बताया कि वह एक बड़ी कंपनी में बड़े पद पर काम करता है और उसका बीवी के साथ तलाक का केस चल रहा है। काफी दिन तक जब लड़का शादी को टालता रहा तो महिला के पुछने पर उसने बताया कि पत्नी को तलाक के लिए पैसे देने हैं और मेरे पास पैसे नहीं हैं। महिला शादी को बेताब थी इसलिए उसने युवक को 10 लाख रुपये दे दिए। इसके बाद उस लड़के ने महिला से मिलना और फोन पर बात करना कम कर दिया। महिला को उस पर शक हुआ। उसने लड़के के बारे में पता लगाने की कोशिश की तो पता चला कि उसका अपनी पत्नी के साथ तलाक का कोई केस नहीं चल रहा था। वह बेरोजगार था और इसी तरह वह कई लड़कियों को ठग रहा था।

बेरोजगारी की वजह से शादी के लिए बनाई फेक प्रोफाइल
बेरोजगारी की वजह से शादी के लिए बनाई फेक प्रोफाइल

ये महज कुछ मामले हैं, लेकिन ऐसे मामले लगातार देखने को मिल रहे हैं। पहले शादी-ब्याह अक्सर लोग दोस्तों-रिश्तेदारों के जरिए तय करते थे, इसलिए धोखे की गुंजाइश भी कम होती थी। अब मैट्रिमोनियल साइट्स के जरिए शादियां तय हो रही हैं। ऐसे में दूर-दराज के मामलों की पूरी छानबीन मुमकिन नहीं होती और लोगों ने प्रोफाइल में कितना सच लिखा है और कितना झूठ, यह भी पता लगाना मुश्किल होता है। अपनी तरफ से शादी से पहले पूरी जानकारी हासिल करने की कोशिश करें ताकि आगे जाकर पछताना ना पड़े।

कैसे-कैसे झूठ बोलकर की जा रही शादी
शादी को लेकर लड़का या लड़की कई चीजों को लेकर अक्सर झूठ बोलते हैं। जिन चीजों पर अक्सर झूठ बोला जाता है, वे हैं लव-अफेयर, फैमिली बैकग्राउंड की गलत जानकारी देना (कई बड़े अधिकारी रिश्तेदार हैं, प्रॉपर्टी काफी है आदि), सिगरेट या शराब पीने की आदत, बीमारी (बीपी, डायबीटीज, ऑपरेशन आदि) को छुपाना, एजुकेशन की गलत जानकारी देना, सैलरी को बढ़ा-चढ़ाकर बताना, खुद को एनआरआई बताना, अपनी उम्र कम बताना, पहले शादी हुई है तो उसे छुपाना, पहली पत्नी से कानूनन अलग हुए बिना खुद को तलाकशुदा बताना आदि।

मैट्रिमोनियल साइट्स का रोल
आजकल ऑनलाइन मैट्रिमोनियल साइट्स या अखबार में ऐड के जरिए काफी रिश्ते तय हो रहे हैं। ऐसे में साइट पर प्रोफाइल के साथ दी गई जानकारी को वेरिफाई करने की जिम्मेदारी लड़के या लड़की और उसके घरवालों की हो जाती है। हालांकि ज्यादातर मैट्रिमोनियल साइट्स प्रीमियम क्लाइंट के बारे में लिखती हैं कि हमने इनका वेरिफिकेशन और इनवेस्टिगेशन कराया है, लेकिन अक्सर यह सच नहीं होता। ऐसे में बेहतर है कि पैरंट्स साइट्स के दावे में न आकर खुद ही जांच करें और जरूरत लगे तो किसी भरोसेमंद एजेंसी से जांच कराएं।

क्या कहते हैं मैरिज काउंसलर
दिल्ली के संगम मैरिज ब्यूरो के प्रांजल रंजन कहते हैं कि हमारे यहां जितने भी लोगों की शादी के लिए प्रोफाइल रजिस्टर होते हैं, सभी वेरीफाई होते हैं। हर महीने 2 से 3 हजार लोगों का रजिस्ट्रेशन होता है। लोग अपने प्रोफाइल की जानकारी खुद डालते हैं। अब यह मुमकिन नहीं होता कि सबके घर जाकर उनकी संपत्ति और विवरण चेक किया जा सके। लोग अपनी संपत्ति जैसे घर, गाड़ी, बंगला सबका विवरण खुद ही डालते हैं। हमारा ब्यूरो सभी को यह सलाह देता है कि किसी भी शादी से पहले आप सभी तरह से तहकीकात कर लें, ताकि बाद में कोई दिक्कत न हो।

खबरें और भी हैं...