पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Women
  • Kalpana Chawla Took Her Second Flight To Space Mission On January 16 2003

कल्पना चावला की आखिरी उड़ान:पहले मिशन पर 65 लाख मील से अधिक की दूरी तय की, अंतरिक्ष में 376 घंटे से अधिक बिताए

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आज ही के दिन भारतीय मूल की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला ने अंतरिक्ष के लिए आखिरी बार उड़ान भरी थी। 16 जनवरी 2003 को कल्पना नासा के स्पेस यान कोलंबिया स्पेस शटल से अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी थीं, लेकिन वे दोबारा धरती पर लौट नहीं पाईं। धरती पर लौटते समय 1 फरवरी 2003 को कल्पना का स्पेस यान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस दुर्घटना से इस स्पेस शिप में सवार कल्पना चावला समेत सभी सातों अंतरिक्ष यात्रियों की मौत हो गई थी।

कल्पना चावला का जन्म 1 जुलाई 1962 को हरियाणा के करनाल में हुआ था। वे अपने चार भाई-बहनों में सबसे छोटी थी। कल्पना को बचपन से ही हवाई जहाज और उड़ान की दुनिया में रुचि थी। उनकी शुरुआती शिक्षा करनाल से हुई। इसके बाद उन्होंने पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज से एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में बीटेक किया था।

1997 में कल्पना चावला अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय मूल की महिला बनी थीं।
1997 में कल्पना चावला अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय मूल की महिला बनी थीं।

अमेरिका से हासिल की एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में डिग्री
कल्पना 1982 में अमेरिका चली गईं थी। उन्होंने 1984 में टेक्सास यूनिवर्सिटी से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री हासिल की। 1986 में उन्होंने इसी विषय पर दूसरी मास्टर डिग्री और फिर पीएचडी की। कल्पना चावला ने 1983 में फ्रांस के जॉन पियर से शादी की थी। वे पेशे से फ्लाइंग इंस्ट्रक्टर थे।

1997 में बनी थीं भारतीय मूल की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री
कल्पना चावला को 1991 में अमेरिका की नागरिकता मिली और उसी साल वे नासा से जुड़ीं। 1997 में अंतरिक्ष में जाने के लिए नासा स्पेशल शटल प्रोग्राम में चुनी गईं। 19 नवंबर 1997 को कोलंबिया स्पेस शटल (STS-87) के जरिए कल्पना चावला का पहला अंतरिक्ष मिशन शुरू हुआ था। इसके साथ ही वह अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय मूल की महिला बन गईं।

उस समय कल्पना की उम्र 35 साल थी। अपनी पहले अंतरिक्ष मिशन पर, चावला ने 65 लाख मील से अधिक की दूरी तय की और अंतरिक्ष में 376 घंटे (15 दिन और 16 घंटे) से अधिक बिताए। कल्पना चावला की यह आखिरी सफल अंतरिक्ष यात्रा साबित हुई। 16 जनवरी 2003 को कल्पना चावला अपने दूसरे और जीवन के आखिरी स्पेस मिशन का हिस्सा बनीं।

खबरें और भी हैं...