पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्मला की 10 से 2000 के नोट जैसी साड़ियां:साड़ी को शान मानने वालीं वित्तमंत्री संबलपुरी, इकत, कांजीवरम की शौकीन; काले रंग से परहेज

नई दिल्ली2 महीने पहलेलेखक: ऐश्वर्या शर्मा
  • कॉपी लिंक

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पास साड़ियों का खूबसूरत कलेक्शन है। उनकी साड़ियों के रंग अक्सर देश की करेंसी से मेल खाते दिखते हैं। वह कई मौकों पर 10 रुपए से लेकर 2,000 रुपए के नोट के रंग की मैचिंग साड़ी में नजर आती हैं।

निर्मला ने आज 2023-24 का बजट लाल रंग की संबलपुरी सिल्क साड़ी में पेश किया, जिसे टेंपल साड़ी भी कहते हैं। वह ऐसे मौकों पर अपने गुडलक कलर्स को पसंद करती हैं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बजट बस्ता और साड़ी का रंग जिस तरह मैच कर रहा है, उससे लगता है कि उनका इरादा जनता का दिल जीतने का है, क्योंकि लाल रंग जीत को दर्शाता है।
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बजट बस्ता और साड़ी का रंग जिस तरह मैच कर रहा है, उससे लगता है कि उनका इरादा जनता का दिल जीतने का है, क्योंकि लाल रंग जीत को दर्शाता है।

निर्मला की पर्सनैलिटी की USP है-उनकी हैंडलूम और सिल्क साड़ियां। 26 जनवरी को वह बजट से पहले होने वाली हलवा सेरेमनी में नॉर्थ ब्लॉक में हरी और पीली कांजीवरम साड़ी में नजर आईं। खास मौकों पर वह ज्यादातर संबलपुरी, इकत, कांजीवरम की साड़ियों में नजर आती हैं, लेकिन काले रंग से उन्हें परहेज है।

निर्मला सीतारमण ज्यादातर साड़ियों में ही नजर आई हैं और वित्त मंत्री बनने के बाद उन्होंने अपने पहनावे में कोई बड़ी तब्दीली नहीं की। साड़ी पहनकर वह आम भारतीय होम मेकर्स जैसी ही लगती हैं।

हर साल बजट पेश करने से पहले नॉर्थ ब्लॉक में हलवा सेरेमनी होती है।
हर साल बजट पेश करने से पहले नॉर्थ ब्लॉक में हलवा सेरेमनी होती है।

निर्मला सीतारमण ने हमेशा दिखाया है अपना साड़ी प्रेम

निर्मला सीतारमण ने 17 दिसंबर 2022 को दिल्ली के जनपथ पर हैंडलूम हाट का दौरा किया और साड़ियों के लिए अपना लगाव दिखाया। इस मौके पर वह साउथ सिल्क की साड़ी पहने नजर आईं। अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर उन्होंने इस इवेंट की तस्वीर शेयर की और साथ ही #MySariMyPride हैशटैग भी यूज किया।

फाइनेंस मिनिस्टर अपनी साड़ियों का रंग इंडियन करेंसी के संग कैसे मैच करती हैं, यह देखने वाली बात है। आइए आपको बताते हैं कि खास मौकों पर वह किस तरह की साड़ियां चुनती हैं-

शहीदी दिवस पर 10 रुपए के नोट के रंग से मिलती-जुलती मणिपुरी साड़ी पहनी

30 जनवरी 2019 को शहीदी दिवस पर निर्मला सीतारमण ने राजघाट पर क्रीम कलर की मोदरंग फी फैब्रिक से बनी मणिपुरी साड़ी पहनी। ‘मोइरंगफीजिन’ डिजाइन वाली साड़ी मणिपुर के मोइरंग गांव में ही बनाई जाती है।

पश्चिम बंगाल में पहनी 20 रुपए के नोट से मिलती हरी मंगलागिरी साड़ी

20 रुपए के नोट से मैचिंग साड़ी में निर्मला पश्चिम बंगाल के एक कार्यक्रम में नजर आईं। उन्होंने धानी हरे रंग की मंगलागिरी सिंपल कॉटन साड़ी पहनी थी। ये साड़ियां आंध्रप्रदेश में बनाई जाती हैं।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहनी जामदानी साड़ी का रंग 50 रुपए के नोट से करता है मैच

संसद में फाइनेंस मिनिस्टर नीले रंग की जामदानी साड़ी पहने दिखीं। निर्मला की पहनी ज्यादातर साड़ियों को देखें तो उनका फेवरेट कलर क्वीन एलिजाबेथ के पसंदीदा रंग ब्लू जैसा ही है।

100 रुपए के नोट के रंग वाली लिलिएक कलर की सम्बलपुरी साड़ी में निर्मला

सीतारमण ने कई मौकों पर लिलिएक (हल्का बैंगनी) साड़ी पहनी। संसद के सत्र के बाद उन्होंने एक बार ही 100 रुपए के नोट से मैचिंग कलर की सम्बलपुरी (ओडिशा) इकत साड़ी पहनीं।

मनमोहन सिंह से 200 रुपए के नोट के रंग वाली साड़ी में मिलीं

निर्मला सीतारमण वित्त मंत्री बनने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री और पूर्व वित्त मंत्री मनमोहन सिंह से नारंगी रंग की कॉटन साड़ी में मिलीं।

अमेरिका में वर्ल्ड बैंक की बैठक में पहनी 500 के नोट के रंग की साड़ी

अक्टूबर 2022 में निर्मला अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन में नेशनल साइंस फाउंडेशन के हेडक्वॉर्टर पहुंचीं। इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड और वर्ल्ड बैंक की बैठक में उन्होंने सलेटी रंग (जहरमुराहरा) की साउथ कॉटन साड़ी पहनी।

2000 रुपए के नोट के रंग से मैचिंग साउथ सिल्क की साड़ी में भी दिखीं

निर्मला सीतारमण ने अपने दिल्ली के आवास के बाहर 2000 रुपए के नोट से मैचिंग लैवेंडर कलर की साउथ सिल्क की साड़ी पहनी हुई थी।

कॉलेज के जमाने से हैंडलूम साड़ी का रहा क्रेज

7 सितंबर 2020 को निर्मला सीतारमण ने ट्वीट कर हैंडलूम साड़ियों को लेकर अपना लगाव जाहिर किया। इसमें मंगलागिरी, मणिपुरी, पोचमपल्ली, बनारसी, सम्बलपुरी समेत कई हैंडलूम साड़ियां शामिल हैं। शायद यही वजह है कि PhD करते समय उनकी रिसर्च का विषय ‘इंडो-यूरोपियन टेक्सटाइल ट्रेड’ था।

खास मौके पर रेड शेड चुनती हैं, लेकिन काले से करती हैं तौबा

वित्त मंत्री खास मौकों पर लाल रंग पहनती हैं या उससे मिलते-जुलते शेड्स की साड़ियां चुनती हैं। बजट के दिन वह अक्सर रेड कलर के शेड्स की साड़ी में दिखाई देती हैं। हालांकि वह ब्लैक कलर से तौबा करती हैं।

वित्त मंत्री ने खास दिनों में रेड कलर के शेड से मिलते-जुलते रंग पहने। ग्राफिक्स देखिए:

पीले-हरे जैसे खिलखिलाते रंगों में दिखती हैं वित्त मंत्री

निर्मला सीतारमण 23 जनवरी 2019 को चेन्नई में चिल्ड्रन हॉस्पिटल में ‘आयुष्मान भारत योजना’ का फीडबैक लेने के लिए गई थीं। जहां उन्होंने बनारसी कॉटन की हरी साड़ी पहनी।

23 सितंबर 2022 में उन्होंने बारामती के प्राइमरी हेल्थ सेंटर पहुंचकर आशा वर्कर्स और नई मां बनीं महिलाओं से बातचीत की। यहां वह पीले रंग की साउथ कॉटन साड़ी में दिखीं।

यूं तो वित्त मंत्री हर मौके पर आम महिला की तरह खुद को प्रेजेंट करती हैं। उनकी सादगी और साड़ी, दोनों में भारतीय संस्कृति झलकती है। 26 जनवरी को जब वह हलवा सेरेमनी में हरी-पीली रंग की साड़ी पहन हलवा बांटती नजर आईं तब भी वह पूरी तरह होममेकर ही लग रही थीं, लेकिन देखने वाली बात यह होगी कि आज पेश होने वाला बजट आम आदमी का मुंह कितना मीठा करेगा।

नोटों के खुशनुमा रंगों से ज्यादा लकी कलर्स इस गणतंत्र में आम आदमी के लिए क्या होंगे? अक्सर इन नोटों को कई नामों से बुलाया जाता है, जैसे-गांधीजी से मिलवाओ, करारे नीले नोट दिखाओ, लक्ष्मी के दर्शन कराओ और कभी हरियाली लाओ जैसी डिमांड भी रखी जाती है। यही नहीं बेचारा नोट कभी-कभी ‘चायपानी’ में भी डूबा मिलता है। अगर किसी सच्चे सेकुलर से मिलना है तो ‘श्रीमान’ नोट से मिलिए। और आज वित्त मंत्री हमें इस नोट के किस रूप से मिलवाएंगी, यह देखने वाली बात होगी।

ग्राफिक्स: सत्यम परिडा

नॉलेज बढ़ाने और जरूरी जानकारी देने वाली ऐसी खबरें लगातार पाने के लिए डीबी ऐप पर 'मेरे पसंदीदा विषय' में 'वुमन' या प्रोफाइल में जाकर जेंडर में 'मिस' सेलेक्ट करें।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें...

सीतारमण का 5वां बजट, हर बार कुछ नया लेकर आईं:8 साल बाद इनकम टैक्स में छूट बढ़ने की उम्मीद

1 फरवरी 2019 की यह तस्वीर इतिहास बन गई, जब सीतारमण ब्रीफकेस में बजट की जगह बहीखाता लेकर संसद पहुंचीं।
1 फरवरी 2019 की यह तस्वीर इतिहास बन गई, जब सीतारमण ब्रीफकेस में बजट की जगह बहीखाता लेकर संसद पहुंचीं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सुबह 11 बजे लोकसभा में अपना पांचवां और देश का 75वां बजट पढ़ेंगीं। पिछले 4 बजट में उन्होंने कुछ न कुछ नया किया है। चाहे वो ब्रीफकेस से बही-खाता हो, पेपर लेस बजट हो या फिर सबसे लंबा बजट भाषण। 8 साल हुए, तब से कुछ नहीं बदला। तो इस बार टैक्स में छूट का दायरा बढ़ सकता है। बात आखिर 8 करोड़ से ज्यादा टैक्स पेयर्स की है। पूरी खबर यहां पढ़ें...

बजट के मोमेंट्स:इंदिरा ने माफी मांगी तो सदन में सन्नाटा छाया, निर्मला की तबीयत बिगड़ी तो राजनाथ बोले- अब मत पढ़िए

बजट बोरिंग होता है। पर इसके मोमेंट्स अब तो सोशल पर भी ट्रेंड करने लग जाते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि ऐसी कहानियां अभी बनने लगी हैं। पहले भी होती थीं। मसलन, इंदिरा का सिगरेट टैक्स बेइंतहा बढ़ाने से पहले सदन को सॉरी बोलना। पूरी खबर यहां पढ़ें