पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नाभि पर लगाएं तेल, रहेंगे रोगमुक्त:सही ऑयल से मिलेगी पीरियड्स के दर्द में राहत, इंफेक्शन-मुंहासे-फटे होंठों से छुटकारा, सर्जरी के बाद न करें इस्तेमाल

2 महीने पहलेलेखक: मरजिया जाफर
  • कॉपी लिंक

आयुर्वेद में शरीर की समस्याओं को दूर करने के लिए नाभि पर तेल लगाने की सलाह दी जाती है। इस प्रक्रिया को 'बेली बटन थेरेपी' कहते हैं। बेली बटन बॉडी का सेंटर पॉइंट माना जाता है। इससे बॉडी का नर्वस सिस्टम जुड़ा होता है। नाभि पर तेल लगाने से कई रोगों से छुटकारा पा सकते हैं। आयुर्वेदाचार्य डॉ सिद्धार्थ सिंह से जानते हैं कि नाभि पर कौन-सा तेल, कब और कैसे लगाएं।

नाभि पर ये तेल लगाने से दूर होंगी बीमारियां

तेल मालिश पारंपरिक इलाज का एक अहम हिस्सा माना जाता है और ये चिकित्‍सा अनेक बीमारियों से बचाने और लड़ने में कारगर है। अब तक आपने बॉडी ऑयल मसाज के बारे में ही सुना होगा, लेकिन नाभि पर तेल लगाने से भी सेहत को सुधारा और बीमारियों को दूर रखा जा सकता है। जी हां, बेली बटन बॉडी का वो पॉइंट है जिसकी मदद से कई बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है।

नाभि पर तेल लगाने का नुस्खा काफी आसान है और इसके कई फायदे भी हैं। लेकिन इससे पहले आप ये जान लीजिए कि नाभि पर कौन-सा तेल लगाने से क्या लाभ मिलता है।

नाभि पर तेल लगाने का तरीका

नाभि में और इसके आसपास तेल की कुछ बूंदें डालें। रूई के फाहे में तेल की कुछ बूंदें डालकर उसे नाभि में लगा सकते हैं। इसे कम से कम 20 मिनट के लिए लगा रहने दें।

नाभि पर तेल लगाने से क्या होता है

नाभि के पीछे पेकोटि ग्लैंड पाई जाती है जो कई नसों, टिशू और अंगों से जुड़ी होती है। इस तरह यह ग्लैंड बहुत मजबूत होती है। नाभि में तेल लगाने पर पेकोटि ग्लैंड तेल को ऑब्जर्व कर दिमाग और शरीर में स्फूर्ति पैदा कर फ्रेश महसूस कराती है। ऐसा करने से आंखों की रोशनी बढ़ती है, तनाव दूर होता है और डाइजेशन दुरुस्त रहता है।

मुंहासों के लिए नीम का तेल

नीम स्किन प्रॉब्लम्स दूर करने का सबसे बेहतरीन उपाय है। चेहरे पर मुंहासे या फोड़े-फुंसियां हैं तो नीम का तेल बहुत फायदेमंद होगा। मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए रोज बेली बटन यानी नाभि पर कुछ बूंदें नीम के तेल की लगानी चाहिए।

बादाम का तेल दे ग्लोइंग स्किन

बादाम तेल बालों के लिए ही नहीं बल्कि स्किन के लिए भी बहुत फायदेमंद है। स्ट्रेस, काम का बोझ या स्किन की देखभाल ठीक तरह से न करने से चेहरा बेजान और मुरझाया हुआ लगने लगता है। इस प्रॉब्लम को बादाम के तेल से ठीक किया जा सकता है। कम समय में चमकदार स्किन पाना चाहते हैं तो नाभि पर बादाम तेल लगाएं।

पीरियड्स के दौरान नाभि में सरसों का तेल लगाने से दर्द से आराम मिलता है।
पीरियड्स के दौरान नाभि में सरसों का तेल लगाने से दर्द से आराम मिलता है।

फटे होंठों को सरसों का तेल नर्म बनाए

कई बार फटे होंठ शर्मिंदगी की वजह बनते हैं। कुछ लोगों के होंठ तो हमेशा ही फटे रहते हैं। फटे होंठों से छुटकारा पाने के लिए रोजाना नाभि पर सरसों का तेल लगाएं। ऐसा करने से फटी एडियां और ड्राई स्किन की प्रॉब्लम भी दूर होगी।

फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए जैतून या नारियल का तेल

नाभि पर नारियल तेल की 3 से 7 बूंदें लगाने से फर्टिलिटी बढ़ती है। साथ ही कमजोरी, ड्राई हेयर और आंखों में सूखेपन की प्रॉब्लम से भी राहत मिलती है।

​​घी से पाएं सॉफ्ट स्किन

त्वचा बहुत रूखी और बेजान हो गई है तो नाभि पर घी लगाएं। इससे स्किन सॉफ्ट बनती है और उसकी चमक भी बढ़ती है।

ओबेसिटी-जॉइंट पेन के लिए जैतून का तेल

मोटापे से परेशान लोगों को नाभि पर जैतून का तेल लगाना चाहिए। रात में सोने से पहले जैतून के तेल से नाभि की मालिश करें। इससे मोटापा और जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है।

मौसम के मुताबिक नाभि में तेल डालें

  • गर्मियों के मौसम में नाभि में नीम और नारियल के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। चेहरे पर कील-मुंहासे हैं तो नाभि में नीम का तेल रोजाना रात में सोने से पहले डालें। नीम का तेल नाभि में डालने से कील-मुंहासे की प्रॉब्लम दूर होती है, वहीं नारियल का तेल डालने से स्किन की सॉफ्टनेस बरकरार रहती है और होंठ भी मुलायम होते हैं।
  • सर्दियों के मौसम में सरसों, बादाम और जैतून के तेल में से किसी भी तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने से सर्दियों में ड्राई स्किन की प्रॉब्लम खत्म होती है और चेहरे पर निखार आता है।
  • बारिश के मौसम में बेली बटन में बादाम का तेल डालने से चेहरे पर चमक आती है, साथ ही बरसात में बालों में होने वाली ड्राईनेस भी कम होती है।

कैस्टर ऑयल लगाएं परेशानियों से छुटकारा पाएं

पेट के लिए फायदेमंद- खराब पाचन तंत्र पेट की समस्याओं को बढ़ाता है। पेट से जुड़ी समस्याओं में नाभि पर कैस्टर ऑयल यानि अरंडी का तेल लगाने से कब्ज, ब्लोटिंग, गैस और पेट दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। नाभि पर अरंडी का तेल लगाने से पाचन तंत्र मजबूत रहता है जिससे खाना आसानी से पच जाता है।

पीरियड्स के दर्द से राहत- पीरियड्स के दर्द और ऐंठन को कम करने में नाभि पर अरंडी का तेल लगाना फायदेमंद है। इससे सूजन को कम करने में मदद मिलती है और पीरियड्स का फ्लो भी नॉर्मल रहता है।

इंफेक्शन से बचाए- नाभि पर मैल, गंदगी और कई तरह के बैक्टीरिया जमा हो जाते हैं। इससे इंफेक्शन का खतरा बढ़ता है। इंफेक्शन से बचने के लिए रोजाना रात को नाभि पर कैस्टर ऑयल लगा सकते हैं। इससे नाभि में जमा गंदगी निकल जाती है और संक्रमण से बचाव होता है।

स्किन के लिए फायदेमंद - नाभि पर कैस्टर ऑयल लगाने से स्किन प्रॉब्लम्स दूर होती हैं, जैसे मुंहासे, एलर्जी और दाग-धब्बे। इसके अलावा यह होंठों को फटने से बचाता है।

बालों के लिए फायदेमंद- नाभि पर अरंडी का तेल लगाने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। स्कैल्प और बालों को पोषण मिलता है जिससे रूसी और बाल झड़ने जैसी समस्याएं कम होती हैं।

नाभि को जोर से दबाने की जरूरत नहीं, हल्के हाथ से मालिश करनी चाहिए।
नाभि को जोर से दबाने की जरूरत नहीं, हल्के हाथ से मालिश करनी चाहिए।

नाभि में तेल लगाने के नुकसान

  • दबाव के साथ मालिश करने से बचें- नाभि को बहुत जोर से दबाने या जोर लगाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि पेट में कई नसें होती हैं और दबाव देने से पेट में दर्द हो सकता है। नाभि में हल्के हाथ से दबाव देकर तेल मालिश करनी चाहिए।
  • खराब क्वालिटी वाले तेल से बचें- नाभि पर लगाने वाले तेल की क्वालिटी पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। तेल के इस्तेमाल से एलर्जी नहीं होनी चाहिए। गलत तेल के इस्तेमाल से नाभि में जलन हो सकती है। कुछ तेल, जैसे पेपरमिंट, टी ट्री ऑयल या यूकेलिप्टस भी जलन या दर्द का कारण बन सकते हैं।

सर्जरी के बाद उपयोग से बचें

पेट या नाभि के आसपास कोई सर्जरी हुई है, तो उस स्थिति में नाभि में तेल लगाने से बचना चाहिए। ऐसे केस में सरसों का तेल इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

डिस्क्लेमर- यहां दी गई जानकारी घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों पर आधारित है। इसे अपनाने से पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें।

खबरें और भी हैं...