पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57107.15-2.87 %
  • NIFTY17026.45-2.91 %
  • GOLD(MCX 10 GM)481531.33 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633740.45 %

यूं निपटें अनचाहे आलस से:मोटर स्किल्स के जारिए पाएं निजात अनचाहे आलस यानी प्रोकास्टिनेशन से

2 महीने पहलेलेखक: शालिनी पाण्डेय
  • कॉपी लिंक
  • ढेर सारा काम है पर आपका तो मन ही नहीं करता काम करने का, दिल चाहता है कि बस पड़े रहें।
  • मनोचिकित्सक की मानें तो यह एक तरह की ऐन्जाइटी का ही एक रूप है।

जरा सा आलस और ऑफिस के लिए लेट, ट्रैवेल बैग पैक करना था नहीं हो पाया, जिम जाना आज फिर टल गया, ऑफिस भी लंच लिए बिना आ गई। ढेर सारा काम है पर आपका तो मन ही नहीं करता काम करने का, दिल चाहता है कि बस पड़े रहें। क्या आप जानती हैं, इस अनचाहे आलस यानी प्रोकास्टिनेशन के पीछे का असली कारण क्या? मनोचिकित्सक की मानें तो यह एक तरह की ऐन्जाइटी का ही एक रूप है। ऐन्जाइटी आपमें आलस भरती है और आपका रूटीन बिगाड़ती है। सुबह सवेरे यह आलस आपका सबसे ज्यादा नुकसान करता है अनचाहे आलस से निपटने के तरीके बता रहे हैं मनोचिकित्सक डॉ. आशुतोष सिंह

डॉ. आशुतोष सिंह, मनोचिकित्सक
डॉ. आशुतोष सिंह, मनोचिकित्सक

काल करे सो अब कर

डॉक्टर कहते हैं कि अपना काम पूरा करने के लिए अगर आप किसी सही पल का इंतजार कर रही हैं तो जान लीजिए कि सही समय सिर्फ अभी है। किसी भी काम को कल पर मत टालिए. खुद को आलसी बनने की छूट देने का मतलब है अपने काम को फिर से अधूरा छोड़ना।

काम की प्लानिंग करें

सही समय पर पूरा किया गया टार्गेट आपको आगे काम करने के लिए इंस्पायर करता है। काम की प्लानिंग करें। प्लानिंग आपके काम को जल्दी पूरा करने में मदद करेग।

काम को इंट्रेस्टिंग बनाएं और साथ काम करें

अगर अकेले काम करने में बोरियत होती है, काम बीच में छोड़ देते हैं या उसमें मन नहीं लगता तो काम में अपने पार्टनर या फ्रेंड को भी उसमें शामिल कर सकते हैं। यह आपका सपोर्ट सिस्टम बनेगा। इससे आपका मन काम से जल्दी नहीं उचटेगा। काम को इंट्रेस्टिंग बनाने के लिए गाने सुनते हुए काम करें। छोटी छोटी कोशिशें इस अनचाहे आलस से आपको निजात दिला सकती हैं। एक्सपर्ट या दोस्तों की मदद आपके काम को आसान बनाएगी। बहुत जरूरी है कि आपके अन्दर इस समस्या से जूझने की इच्छा शक्ति हो जिसे आप खुद को छोटे छोटे रीवार्ड डे कर बूस्ट कर सकती हैं।

लें डॉक्टर की सलाह

डॉक्टर की मानें तो किसी भी तरह के आलस या प्रोकास्टिनेशन से उबरने का बेस्ट तरीका है एक्सरसाइज, मेडिटेशन या योगा करना। यह आपको प्रोक्रास्टिनेटिंग से लड़ने के लिए आपको फिजिकली ही नहीं मेंटली भी तैयार करेगा। काम को शुरू करके पूरा करना, आपको अपनी प्रैक्टिस का हिस्सा बनाना होगा ताकि इस समस्या से छुटकारा पाया जा सके। मोटर स्किल्स यानी फिजिकल एक्टिविटी में खुद को इंगेज कर इससे निजात मिल सकती है पर ना मिले या समस्या लगातार बनी तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

खबरें और भी हैं...