पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जरूरत की खबर:अब ट्रेन में मां के बगल में आराम से सोएगा बच्चा, रेलवे ने दी छोटे बच्चों के लिए बेबी बर्थ सुविधा

14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जब एक महिला अपने बच्चे के साथ अकेले ट्रेन में सफर करती है तो उसे नीचे की बर्थ देने का नियम है, लेकिन इसमें भी बच्चे के सीट से गिरने का डर रहता है। मां के साथ छोटे बच्चे आराम से सो सकें, इसके लिए अब भारतीय रेलवे ने एक अनूठी सुविधा दी है। रेलवे ने महिलाओं के लिए लोअर बर्थ के साथ 'बेबी बर्थ' का भी इंतजाम कर दिया है।

आइए जानते हैं किस तरह रेलवे की इस सर्विस का फायदा लिया जा सकता है…

क्यों शुरू की गई यह सुविधा?
ट्रेन के रिजर्व्ड बर्थ की चौड़ाई कम होती है। इस वजह से महिलाओं को बच्चों के साथ सफर करने में दिक्कत आती है। खासकर रात के सफर में सोने में सबसे ज्यादा प्रॉब्लम होती है। इसलिए महिला के लिए अब रिजर्व्ड लोअर बर्थ के साथ बेबी बर्थ की व्यवस्था भी की गई है। इस बेबी बर्थ में इस बात का ध्यान रखा गया है कि बच्चा बर्थ से नीचे न गिरे।

क्या बेबी बर्थ की सुविधा हर ट्रेन में शुरू हो गई है?
लखनऊ DRM ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि फिलहाल लखनऊ मेल की कोच संख्या 194129/बी4, बर्थ नंबर 12 और 60 में एक बेबी बर्थ की शुरुआत की गई है। इससे मां के लिए अपने बच्चे के साथ ट्रैवल करना आसान हो जाएगा। यात्रियों की प्रतिक्रिया मिलने के बाद इसे दूसरी ट्रेनों में भी लगाया जाएगा। इससे स्पष्ट है कि अभी लखनऊ मेल में दो बर्थ की व्यवस्था की गई है।

क्या खासियत है इस बेबी बर्थ की?
बच्चे की सुविधा देखते हुए बेबी बर्थ में एक स्टॉपर लगाया गया है। इस पर ऊपर की तरफ एक छोटा हैंडल और साइड में भी एक रॉड लगा है, जिससे बच्चा सोते वक्त सुरक्षित रहे। दोनों तरफ तकिया लगाकर बच्चे को उसमें सुलाया जा सकता है। यह मेन बर्थ सीट से अटैच है और फोल्डेबल भी है।

बेबी बर्थ में दो बेल्ट हैं। इस बेल्ट से बेबी को पूरी तरह से सुरक्षित किया जा सकता है। मां अगर सो रही है तो भी बेल्ट की वजह से बच्चा गिरेगा नहीं।

बेबी बर्थ के लिए अलग से कितने पैसे देने होंगे?
रेलवे बच्चे की बर्थ के लिए कोई एक्स्ट्रा किराया नहीं लेगा। इसके लिए रिजर्वेशन के दौरान बच्चे के नाम का फॉर्म भरना होगा। तभी सफर में आपको बेबी बर्थ मिलेगी।