पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्राहक ने की शिकायत, होटल मैनेजर ने डाला खौलता तेल:खाना लगे खराब तो तुरंत करवाएं लैब टेस्ट, सरकार देगी पैसे

3 महीने पहलेलेखक: अलिशा सिन्हा
  • कॉपी लिंक

होटल में खाना खाते हैं, तो ये खबर जरूर पढ़ लें। ओडिशा के कटक से 45 किलोमीटर दूर बालीचंद्रपुर गांव में प्रसनजीत परिदा नाम का व्यक्ति 22 अक्टूबर को एक होटल में खाना खाने गया, लेकिन उसे खाने का टेस्ट पसंद नहीं आया।

प्रसनजीत ने होटल मैनेजर प्रवाकर साहू से शिकायत की। दोनों के बीच हाथापाई शुरू हो गई। फिर क्या, गुस्से में आकर मैनेजर ने कथित रूप से प्रसनजीत पर खौलता हुआ तेल फेंक दिया।

इसके बाद प्रसनजीत को कटक के SCB मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के अनुसार, गरम तेल के कारण प्रसनजीत का चेहरा, गर्दन, छाती, पेट और हाथ बुरी तरह झुलस गया है। होटल मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल वो फरार है और उसकी तलाश की जा रही है।

आज जरूरत की खबर में चर्चा करेंगें, होटल के खाने से जुड़े जरूरी सवालों के जवाब

सवाल- होटल का खाना खराब लगे, तो ग्राहक क्या कर सकता है?
जवाब-
अगर आपको लगता है कि आपको परोसे गए खाने में मिलावट है या फिर खाना सही नहीं है, तो आप इसकी श‍िकायत कर सकते हैं।

सवाल- होटल का खाना खराब लगने पर ग्राहक कहां और कैसे शिकायत कर सकता है?
जवाब-
इसका जवाब नीचे दिए ग्राफिक्स में पढ़ें और दूसरों को भी शेयर करें-

सवाल- लैब में खाने के सैंपल का टेस्ट करवाने पर ग्राहक के पैसे लगेंगे या नहीं?
जवाब-
जी बिल्कुल, ग्राहक के पैसे लगेंगे।

सवाल- ये पैसे वापस हो जाएंगे या नहीं?
जवाब-
स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, टेस्ट के दौरान गड़बड़ी सामने आने के बाद श‍िकायतकर्ता ने टेस्ट करने पर जो पैसे खर्च किए हैं, वो उसे वापस लौटा दिए जाएंगे।

सवाल- क्या FSSAI में ऑनलाइन शिकायत भी दर्ज कराई जा सकती है?
जवाब-
जी हां, बिल्कुल कराई जा सकती है। दरअसल, ग्राहक FSSAI की ऑनलाइन वेबसाइट पर जाकर शिकायत कर सकते हैं। ये है वेबसाइट लिंक- https://www.fssai.gov.in/

इसके अलावा फूड कनेक्ट ऐप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करके भी आप उसमें शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

सवाल- होटल के खाने के अलावा अगर दुकान से कोई सामान लेने पर उसमें कोई दिक्कत नजर आए, तो भी ग्राहक शिकायत कर सकता है?
जवाब-
जी हां। ग्राहक ऐसी सिचुएशन में कब-कब शिकायत दर्ज करा सकते हैं, ये जानने के लिए नीचे दिए ग्राफिक को पढ़ें-

सवाल- कई बार खाने का टेस्ट अच्छा होता है, लेकिन उससे हेल्थ को नुकसान पहुंच सकता है। ऐसे में कब माना जाएगा कि होटल का खाना मिलावटी है?
जवाब-
Food Adulteration Act, 1954 की धारा 2(A) के अनुसार…

  • ऐसा खाना, जिसे खाने के बाद ग्राहक की हेल्थ को नुकसान पहुंचने की संभावना हो।
  • किसी भी खाने को बनाने का ऐसा तरीका, जिससे खाने वाले की हेल्थ खराब हो।
  • खाने में कोई ऐसी चीज ऐड की जा रही हो, जो खाने वाले की हेल्थ को इफेक्ट करे।

सवाल- कई बार होटल या कुछ बाहर का खाने से फूड पॉइजनिंग की समस्या आ जाती है, ऐसे में भी शिकायत की जा सकती है?
जवाब-
जी हां, आप राज्य के फूड सेफ्टी ऑफिसर, कलेक्टर या आपके एरिया के फूड सेफ्टी कमिश्नर से शिकायत कर सकते हैं।

सवाल- फूड पॉइजनिंग के लक्षण क्या हैं?
जवाब-
नीचे लिखे कुछ कॉमन लक्षण दिखाई दे सकते हैं-

  • पेट दर्द या मरोड़
  • जी मचलना
  • दस्त
  • बुखार
  • शरीर में दर्द
  • डायरिया
  • उल्टी

सवाल- बाहर के खाने के अलावा कई बार फूड पॉइजनिंग खुद की गलती के कारण भी हो जाती है, ऐसे में बचने के लिए किन बातों का ख्याल रखना चाहिए?
जवाब-

  • कच्ची सब्जियों और फलों को नमक वाले पानी से अच्छी तरह धोएं।
  • किचन साफ रखें। चाकू और कटिंग बोर्ड को रोज साबुन से धोएं।
  • फ्रिज को अंदर से साबुन के पानी से साफ करें। फ्रिज में अगर कोई जूस या खाने का सामान गिर जाए, तो तुरंत साफ करें।
  • मांस को हमेशा अच्छे से साफ करके ठीक तरह से पकाना जरूरी है।
  • पके हुए खाने को बहुत देर तक फ्रिज में न रखें।
  • बाहर का खाना न खाएं। अक्सर ऐसे खाने को ढंक कर भी नहीं रखा जाता।
  • खराब खाना या काफी देर से रखा खाना तो बिल्कुल न खाएं। साफ पानी पिएं।
  • किसी भी संक्रमित या गंदी चीज को छूने के बाद साबुन और पानी से हाथ धोएं।
  • मैले कपड़े या घर की गंदगी साफ करते समय दस्ताने पहनें।

चलते-चलते
अगर ज्यादातर खाते हैं रेस्टोरेंट या होटल का खाना, तो जान लीजिए

रेस्टोरेंट या होटल का खाना शरीर में phthalates नाम के केमिकल के प्रोडक्शन को बढ़ाता है और आपकी हेल्थ को काफी ज्यादा नुकसान पहुंचाता है। यह नैचुरल हार्मोनल बैलेंस को भी बिगाड़ता है।

बाहर के खाने में कौन सी ऐसी चीजें होती हैं, जिससे हेल्थ पर बुरा इफेक्ट पड़ता है-

  • बाहर का खाना हाइजीनिक नहीं होता है।
  • चटनी, शक्कर की लेयर, सलाद टॉपिंग ऐसी चीजें बनाते वक्त सोडियम या चीनी की मात्रा ज्यादा होती है।
  • ऐसे में इन चीजों को खाने से आप जरूरत से ज्यादा नमक या चीनी खाने लगते हैं।
  • खराब तेल होता है, जिसमें वसा और कैलोरी की मात्रा ज्यादा होती है।
  • कई बार सर्विंग प्लेट दिखने में साफ होती है, लेकिन वो रियल में साफ नहीं होती। उसमें कई तरह के बैक्टीरिया मौजूद होते हैं।
  • जब आप बाहर का खाना खाते हैं, तो भूख से ज्यादा खाने लगते हैं। जिससे कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं।

जरूरत की खबर के कुछ और आर्टिकल भी पढ़ेंः

1- सेलिब्रेशन खत्म:सावधान रहें, प्रदूषण पार्टिकल से गर्भ में बच्चे के लंग्स पर होगा असर

घर की सफाई, शॉपिंग और दिवाली सेलिब्रेशन हो गया, मेहमान भी चले गए। तो क्या अब हमें कोई चिंता नहीं? भ्रम मत पालिए, क्योंकि जितने पटाखें आपने या आपके पड़ोसियों ने फोड़े हैं, उसका असर जल्द ही दिखेगा। हवा का रुख बदलेगा। क्योंकि पॉल्यूशन दस्तक देने वाला है। (पढ़िए पूरी खबर)

2-जब मन होगा, तब फोड़ेंगे पटाखें:ऐसा न सोचें, गाइडलाइन पढ़ें, पटाखे खरीदते और जलाते वक्त, ध्यान रखें 8 बातें

कल रात से ही पटाखों की आवाज आपके कानों में सुनाई देने लगी होगी। क्योंकि आज है दिवाली और बहुत से लोगों का सोचना है कि बिना पटाखों के दिवाली कैसी। आतिशबाजी त्योहारों का पारंपरिक हिस्सा हैं। आतिशबाजी कई तरह की होती है। जैसे- पटाखों की आतिशबाजी, फुलझड़ी की या रॉकेट की, लेकिन ये पटाखे ज्यादातर लोगों के घर में सेलिब्रेशन को तब फीका बना देते हैं। जब इससे कोई जल जाएं या कोई बड़ी घटना घट जाए। (पढ़िए पूरी खबर)