पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61315.470.15 %
  • NIFTY18305.650.27 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479960.3 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61497-0.1 %

जरूरत की खबर:कैसे पता चलेगा कि कोरोना वैक्सीन का दोनों डोज काम कर रहा है या नहीं? जानिए इसका तरीका

4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

देशभर में फ्रंटलाइन वर्कर्स और गंभीर बीमारी से पीड़ित बुजुर्गों को बूस्टर डोज लग रहा हैं। इसको लेकर लोगों के मन में कई सवाल भी हैं। मसलन जो लोग दोनों डोज ले चुके हैं, क्या उन्हें तीसरे डोज की जरूरत है। आखिर यह पता कैसे चलेगा? इसे पता करने का क्या तरीका है? क्या इसमें बहुत पैसे लगते है?

दरअसल इन सभी सवालों का जवाब 1 टेस्ट में सामने आ जाएगा, जिसका नाम है एंटीबॉडी टेस्ट। जरूरत की खबर में आज हम आपको बताएंगे कि एंटीबॉडी टेस्ट कैसे और कहां किया जा सकता है? इससे आपको किन-किन बातों की जानकारी मिलेगी और कितनी देर में आपके पास रिपोर्ट आ जाएगी...

एंटीबॉडी का मतलब क्या होता है?
जब कोई वायरस आपके शरीर में आता है तो उससे लड़ने के लिए कुछ प्रोटीन बनते हैं, जो वायरस की तरह ही आपके शरीर में होते हैं। ऐसे प्रोटीन को ही एंटीबॉडी कहा जाता है।

वैक्सीन काम कर रही है या नहीं, क्या इस बात का पता एंटीबॉडी टेस्ट में चलता है?
एंटीबॉडी टेस्ट कराने से इस बात का पता चलता है कि जो वैक्सीन हमें लगी है वो काफी है या हमें दोबारा लगवाने की जरूरत है। अगर आपने वैक्सीन का दोनों डोज लिया है और टेस्ट के बाद आपकी एंटीबॉडीज कम आती हैं तो इसका मतलब है कि वैक्सीन का असर आपके शरीर में कम हो गया है, लेकिन अगर आपके शरीर में एंटीबॉडीज ज्यादा हैं तो इसका मतलब है कि वैक्सीन अब भी काम कर रही है।

क्या सिर्फ वैक्सीन लगवाने से एंटीबॉडी बनती हैं?
नहीं, सिर्फ वैक्सीन से एंटीबॉडीज नहीं बनती हैं। अगर आप कोरोना से रिकवर हो चुके हैं और उसके बाद एंटीबॉडीज टेस्ट करवा रहें हैं तब भी आपके शरीर में एंटीबॉडी बनेगी, जो टेस्ट करवाने पर पता चल जाएगी। आप चाहे तो इस बारे में डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

एंटीबॉडी टेस्ट कराने में कितना खर्च आता है?
इसका टेस्ट करवाने में लगभग 500 से 1000 हजार तक का खर्च आ सकता है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने हाल ही में एंटीबॉडी की जांच के लिए डिप्कोवैन किट बनाई थी, जिसकी कीमत मात्र 75 रुपए है।

रिपोर्ट मिलने में कितना समय लगता है?
एंटीबॉडी टेस्ट कराने के बाद रिपोर्ट मिलने में ज्यादा देर नहीं लगती है। आपको 1-2 घंटे के अंदर रिपोर्ट मिल जाती है।

क्या एंटीबॉडी टेस्ट में कोरोना संक्रमण का पता कर सकते हैं?
नहीं, एंटीबॉडी टेस्ट से इस बात का पता नहीं लगाया जा सकता है कि आप संक्रमित हैं या नहीं। इस टेस्ट से आपके शरीर में एंटीबॉडीज की मात्रा का ही पता लगाया जा सकता है, जो संक्रमण से रिकवर होने के बाद बनती है या फिर वैक्सीन लगवाने के बाद।

रिकवर होने के कितने दिन बाद करवाना चाहिए ये टेस्ट?
अगर आप कोरोना संक्रमण से रिकवर हो गए हैं, तो लगभग 2 हफ्ते बाद आप ये टेस्ट करवा सकते हैं, क्योंकि ठीक होने के 13-14 दिन बाद आपके शरीर में एंटीबॉडीज बन जाती हैं।

खबरें और भी हैं...