पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जरूरत की खबर:क्या ठंड में हर रोज सुबह बंद नाक के साथ उठना पड़ रहा है? जानिए इसके कारण और बचने के उपाय

4 महीने पहलेलेखक: सुनीता सिंह
  • कॉपी लिंक

हर सुबह बंद नाक के साथ उठना किसी के लिए भी परेशानी भरा हो सकता है। सर्दियों में ये समस्या काफी आम हो जाती है और उस पर कोरोना का कहर। नए वैरिएंट ओमिक्रॉन में भी सर्दी-जुकाम, बुखार और खांसी जैसे लक्षण मिल रहे हैं। कई लोगों को रनिंग नोज (बहती नाक) या सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में बंद नाक को नजरअंदाज करना खतरनाक हो सकता है।

बंद नाक वालों को सुबह उठते ही घुटन महसूस होती है। सांस लेने में भी कठिनाई होती है। इसके अलावा ये लोग नाक से सांस लने के बजाय मुंह से सांस लेते हैं, जिसका शरीर पर गलत असर पड़ता है। खासकर रात में सोते समय अगर आप ठीक से सांस नहीं ले पाते हैं, तो नींद बार-बार टूटती है। बंद नाक के कारण चेहरे के आस-पास की नसों में सूजन भी रहती है, जिससे आप पूरे दिन अनकम्फर्टेबल महसूस करते हैं।

आज जरूरत की खबर में हम जानेंगे बंद नाक होने के कारण और इससे निजात पाने के आसान उपाय …

खबरें और भी हैं...