पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58649.681.76 %
  • NIFTY17469.751.71 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479790.62 %
  • SILVER(MCX 1 KG)612240.48 %

वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक:कोरोना पॉजिटिव मां बच्चों को दूध तो पिला सकती है, पर बंद नहीं हवादार जगह जरूरी; जानिए और क्या-क्या करना चाहिए

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एक अगस्त से 7 अगस्त तक हर साल दुनियाभर के 120 देशों में वर्ल्ड ब्रेस्ट फीडिंग वीक के तौर पर मनाया जाता है। इसका मकसद ब्रेस्ट फीडिंग के फायदे और महत्व के बारे में जागरूकता फैलाना है। इस साल यह वीक ज्यादा महत्वपूर्ण है, क्योंकि हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि कोविड पॉजिटिव को आइसोलेट रहना चाहिए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए।

ऐसे में कई लोगों के मन में यह सवाल आता है कि क्या यह नियम नई मां पर भी लागू होता है? पीडी हिंदुजा हॉस्पिटल खार की गायनेकोलॉजी एंड आब्सटेट्रिक्स डॉ. रंजना धनु कहती हैं कि कोविड पॉजिटिव मां भी अपने बच्चे को दूध पिला सकती है, लेकिन कुछ सावधानियां रखनी बेहद जरूरी हैं।

तो चलिए जानते हैं नई मां में कोरोना से जुड़े सवालों के जवाब....

डॉ. रंजना धनु कहती हैं कि हाल ही में हुई स्टडी के मुताबिक कोरोना पॉजिटिव मां भी बच्चे को दूध पिला सकती है। डब्ल्यूएचओ ने भी इस बात की सहमति दे दी है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि अब तक इस बात के कोई पुख्ता सबुत नहीं मिलें हैं कि कोविड पॉजिटिव मां के दूध से संक्रमण फैल सकता है। हालांकि मां को स्तनपान के लिए दिए गए दिशा-निर्देश और कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए।

कोविड पॉजिटिव मां बच्चे को दूध पिलाते वक्त रखें ये सावधानी

  • मां अपने शिशु के लेकर जिस जगह पर बैठे वह जगह पूरी तरह साफ और सैनिटाइज होनी चाहिए।
  • जिस जगह पर बैठ कर मां अपने बच्चे को फीडिंग कराए वहां वैंटिलेशन पूरा हो, यानी जगह हवादार हो ताकि वायरस के संक्रमण से बचा जा सके।
  • हर फीड से पहले मां अपने स्तन को गीले टिश्यू से जरूर साफ करे। हालांकि साफ करने का मतलब साबुन या सैनिटाइजर लगाना नहीं है।
  • मां के संक्रमित होने पर दूध की कमी हो सकती है, ऐसे में ब्रेस्ट पंप का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस्तेमाल से पहले पंप को भी गर्म पानी से अच्छी तरह साफ करना जरूरी है।
  • अगर मां बहुत ज्यादा बीमार है और बच्चे को फीडिंग नहीं करा सकती है, तो ऐसी कंडीशन में ब्रेस्ट पंप से निकाला गया दूध परिवार के सदस्य बच्चे को चम्मच की मदद से भी दे सकते हैं।
  • बच्चे को फीडिंग कराते वक्त मां का मास्क लगाना और ग्लव्स पहनना बेहद जरूरी है।
  • मां को नियमित अंतराल पर अपने हाथ धोते रहना चाहिए, खासकर जब बच्चे को फीडिंग कराना हो तो हाथ साबुन लगाकर अच्छी तरह धोएं।
  • बच्चे को फीड कराते वक्त खांसने या छींकने के समय मास्क लगाने के बावजूद टिश्यू से अपना चेहरा कवर करें।
  • कोरोना संक्रमित मां को अपनी डाइट का ख्याल रखना ज्यादा जरूरी है क्योंकि बच्चे की सेहत भी मां से जुड़ी होती है। इसलिए भूख न लगे तो भी मां के लिए खाना जरूरी है।
  • कोरोना पॉजिटिव होने पर कम से कम 10 दिन मां को यह सभी सावधानियां जरूर रखनी चाहिए।

वैक्सीन लगवाने के बाद मां का बच्चे को फीडिंग करवाना जरूरी

डॉ. रंजना कहती हैं कि वैक्सीन लगवाना बेहद जरूरी है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि मां वैक्सीन लगवाने के बाद बच्चे को दूध नहीं पिला सकती है। वैक्सीन के बाद मां के शरीर में एंटीबॉडी बनना शुरू होती है। ऐसे में जब मां फीडिंग कराती है तो यह बच्चे तक पहुंच जाती है और बच्चे की इम्यूनिटी भी मजबूत होती है।

वैक्सीन लगवाने के बाद मां को अपनी डाइट और नींद का खास ख्याल रखना चाहिए। इसके अलावा डाइट में ताजे फल और हरी सब्जियां जरूर शामिल करनी चाहिए। साथ ही ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। पानी की पर्याप्त मात्रा वैक्सीन से होने वाले साइड इफेक्ट से भी बचाती है।

ब्रेस्ट फीडिंग बच्चे की इम्यूनिटी बढ़ाती है

डॉ. रंजना कहती हैं कि बच्चे की सेहत के लिए मां का दूध बेहद जरूरी है। यह बेहद पौष्टिक और स्वस्थ होता है, जो बच्चे के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है जैसे- मां का दूध बच्चे के हेल्दी वेट के लिए जरूरी होता है। ये बच्चे में इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है। बच्चे को कई तरह की बीमारियों से बचाता हैै।