पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जरूरत की खबर:क्या कोरोना से बचने के लिए आप खुद से एंटी वायरल दवाएं ले रहे हैं? इससे हो सकती हैं दूसरी बीमारियां

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ओमिक्रॉन संक्रमितों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। ऐसे में कई लोग सर्दी-जुकाम या बुखार होने पर बिना टेस्ट किए उसे कोरोना मानकर अपनी मर्जी से एंटी वायरल दवाएं ले रहे हैं। क्या आप जानते हैं बिना डॉक्टर की सलाह के एंटी वायरल दवाएं लेना ठीक नहीं है। ऐसा करने से आपको कई बीमारियां हो सकती हैं।

आज जरूरत की खबर में हम आपको बताएंगे कि अपने मन से एंटी वायरल दवाएं खाने से क्या-क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं और आपको इन दवाओं को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह क्यों लेनी चाहिए।

क्या होती हैं एंटी वायरल दवाएं?
एंटी वायरल दवाएं आपके शरीर में कुछ ऐसे वायरस से लड़ने में मदद करती हैं जो किसी बीमारी का कारण बन सकते हैं। साथ ही एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक वायरस फैलने से रोकने में भी एंटी वायरल दवाएं मदद करती हैं।

एंटी वायरल दवाएं कैसे काम करती हैं?
वायरस आपके शरीर की कोशिकाओं में जाकर आपको बीमार करता है और एंटी वायरल दवाएं ऐसे वायरस को बढ़ने से रोकने का काम करती हैं। ये दवाएं इम्यून सिस्टम को मजबूत करती हैं, ताकि आपका शरीर वायरस से लड़ सके। इसके अलावा शरीर में मौजूद एक्टिव वायरस को भी एंटी वायरल दवाएं कमजोर करती हैं।

अगर दोस्त/परिवार के सदस्य को डॉक्टर ने एंटी वायरल दवा दी है तो आप भी वही दवा ले सकते हैं?
नहीं, अगर आपके किसी दोस्त या परिवार के सदस्य को डॉक्टर ने कोई एंटी वायरल दवा दी है तो आप बिना डॉक्टर की सलाह के वही दवाइयां नहीं ले सकते, क्योंकि ये खतरनाक हो सकती हैं। आपको सोशल मीडिया के फर्जी मैसेज से भी बचने की जरूरत है। डॉ तनु सिंघल के अनुसार, कभी भी एंटी वायरल दवाएं बगैर डॉक्टर की सलाह के नहीं लेनी चाहिए।

एंटीबायोटिक और एंटी वायरल दवाओं में क्या अंतर है?
कई बार लोग एंटीबायोटिक और एंटी वायरल दवाओं को एक समझ लेते हैं, लेकिन इन दोनों में फर्क है और ये दोनों ही दवाएं अलग-अलग तरीके से काम करती हैं। चलिए समझते हैं दोनों में क्या अंतर है...

एंटीबायोटिक दवाएं- ये दवाएं बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करती हैं। बैक्टीरिया शरीर की कोशिकाओं के बाहर फैलते हैं, जिसकी वजह से उन्हें खत्म करना आसान होता है। एक एंटीबायोटिक दवा अलग-अलग तरह के बैक्टीरियल इंफेक्शन का इलाज कर सकती है, लेकिन ये वायरस से नहीं लड़ सकती है।

एंटी वायरल दवाएं- एक एंटी वायरल दवा से एक ही वायरस का इलाज किया जा सकता है। हर वायरस के इलाज के लिए अलग-अलग एंटी वायरल दवाएं होती हैं। वायरस शरीर की कोशिकाओं के अंदर फैलते हैं। इसलिए एंटी वायरल दवाएं बनाना मुश्किल होता है।