पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

व्हाट्सएप इंडिया हेड का इस्तीफा:मेटा इंडिया के पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर ने भी पद छोड़ा, शिवनाथ ठकराल को नई जिम्मेदारी

नई दिल्ली23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

WhatsApp के इंडिया हेड अभिजीत बोस और मेटा इंडिया के पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर राजीव अग्रवाल ने अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है। भारत में WhatsApp पब्लिक पॉलिसी के डायरेक्टर शिवनाथ ठकराल को अब भारत में सभी मेटा ब्रांडों के लिए पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर बनाया गया है।

मेटा ने हाल ही में उसकी अब तक की सबसे बड़ी छंटनी में दुनिया भर में लगभग 11,000 लोगों को निकाला है जिसके बाद ये डेवलपमेंट सामने आया है। इस महीने की शुरुआत में भारत में मेटा हेड अजीत मोहन ने अपनी पद से इस्तीफा दे दिया था।

अभिजीत के जबरदस्त योगदान के लिए धन्यवाद
WhatsApp के प्रमुख विल कैथकार्ट ने एक बयान में कहा “मैं भारत में WhatsApp के हमारे पहले प्रमुख अभिजीत बोस को उनके जबरदस्त योगदान के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। उनके एंटरप्रेनोरियल ड्राइव ने हमारी टीम को नई सर्विस डिलीवर करने में मदद की।

इससे लाखों लोगों और बिजनेसेज को फायदा हुआ है। WhatsApp इंडिया के लिए और भी बहुत कुछ कर सकता है और हम भारत के डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन को आगे बढ़ाने में मदद करने के लिए उत्साहित हैं।” अब बोस के स्थान पर जल्द ही एक व्यक्ति को नियुक्त किया जाएगा।

अगली नौकरी को लेकर उत्साहित
बोस ने लिंक्डइन पर भी अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा कि वह अपनी अगली नौकरी को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, 'एक छोटे से ब्रेक के बाद, मैं एंटरप्रेनोरियल की दुनिया में फिर से शामिल होने की योजना बना रहा हूं। मैंने कुछ समय पहले पद छोड़ने की योजना बनाई गई थी, लेकिन पिछले हफ्ते की घटनाओं को देखते हुए मैं उन लोगों को सपोर्ट करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहता था जो प्रभावित हुए हैं।

राजीव अग्रवाल ने भी छोड़ा पद
कंपनी ने कहा कि मेटा इंडिया के पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर राजीव अग्रवाल ने दूसरी ऑपरच्यूनिटी के लिए पद छोड़ने का फैसला किया है। पिछले एक साल में, उन्होंने देश में डिजिटल समावेशन को चलाने के लिए यूजर-सेफ्टी, प्राइवेस और GOAL जैसे कार्यक्रमों को बढ़ाने जैसे क्षेत्रों में हमारी नीति-आधारित पहलों का नेतृत्व करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

टेलीविजन जर्नलिस्ट रह चुके हैं शिवनाथ ठकराल
ठकराल एक टेलीविजन जर्नलिस्ट रह चुके हैं और WhatsApp पर फोकस करने से पहले 2017 से पब्लिक पॉलिसी टीम का हिस्सा रहे हैं। मनीष चोपड़ा, डायरेक्टर, पार्टनरशिप्स, इंडिया, ने कहा कि ठकराल अपनी नई भूमिका में भारत में मेटा ऐप्स - फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप - में पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर होंगे।

मेटा से 11 हजार कर्मचारी निकाले गए
हाल ही में फेसबुक, वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम की पैरेंट कंपनी मेटा प्लेटफॉर्म्स इंक ने अपने 11 हजार कर्मचारियों को नौकरी से निकाला था। कंपनी के 18 साल के इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में कर्मचारियों की छंटनी हुई है। कर्मचारियों को निकालने का ऐलान कंपनी के CEO मार्क जुकरबर्ग ने किया था। उन्होंने इसकी वजह गलत फैसलों से रेवेन्यू में आई गिरावट को बताया था।

मार्क ने कहा था, 'आज मैं मेटा के इतिहास में किए कुछ सबसे कठिन फैसलों के बारे में बताने जा रहा हूं। हमने अपनी टीम साइज में करीब 13% कटौती करने का फैसला किया है। इससे 11 हजार से अधिक प्रतिभाशाली कर्मचारियों की नौकरी जाएगी। हम खर्च में कटौती करके और Q1 तक हायरिंग फ्रीज को बढ़ाकर ज्यादा कुशल कंपनी बनने के लिए कदम उठा रहे हैं।'