पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑटो सेल्स को बड़ा झटका:दिसंबर में सालाना आधार पर गाड़ियों की बिक्री 16% घटी, चिप की कमी सेल्स में बनी बड़ी रुकावट

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) ने दिसंबर 2021 के आंकड़े जारी कर दिए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक, दिसंबर में ओवरऑल ऑटो सेल्स में सालाना आधार पर 16.05% की गिरावट रही। दिसंबर 2020 में ओवरऑल 18,56,869 यूनिट की बिक्री हुई थी, जो दिसंबर 2021 में घटकर 15,58,756 यूनिट हो गई।

पैसेंजर व्हीकल की रिटेल बिक्री में दिसंबर में सालाना आधार पर 11% की कमी देखी गई। गिरावट की प्रमुख वजह सेमीकंडक्टर की कमी मानी जा रही है। दिसंबर में पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट में 2,44,639 यूनिट की बिक्री हुई। जो दिसंबर 2020 में 2,74,605 यूनिट रही थी।

टू-व्हीलर्स की बिक्री में 19% की गिरावट
टू-व्हीलर्स की बिक्री ने भी दिसंबर में खराब प्रदर्शन किया। दिसंबर में 19.96% की कमी के साथ 11,48,732 यूनिट टू-व्हीलर्स की बिक्री हुई, जो कि पिछले साल समान अवधि में 14,33,334 यूनिट बिकी थी। दिसंबर 2019 की तुलना में भी गिरावट रही है। 2 साल पहले समान अवधि में 12,75,501 यूनिट की बिक्री हुई थी।

कमर्शियल व्हीकल में 13% का उछाल
कॉमर्शियल व्हीकल की सेल्स में दिसंबर में 13.72% की तेजी देखी गई। इसने पिछले साल के 51,749 यूनिट के बजाए दिसंबर, 2021 में 58,847 की सेल्स दर्ज की। बेहतर रोड इंफ्रास्ट्रक्चर, बेहतर माल ढुलाई दरों, जनवरी में कीमतों में बढ़ोतरी के चलते भी कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में तेजी देखने को मिली।

सेमीकंडक्टर की कमी गिरावट का कारण
फाडा प्रेसिडेंट विंकेश गुलाटी ने कहा कि दिसंबर के महीने में आमतौर पर अधिक बिक्री देखी जाती है, जहां OEM साल के बदलाव के कारण अपनी इन्वेंट्री को साफ करने के लिए भारी छूट देते हैं। हालांकि इस बार ऐसा नहीं हुआ। साल का आखिरी महीना रिटेल बिक्री में गिरावट के साथ बंद हुआ। सेमीकंडक्टर की कमी का असर सेक्टर पर जारी है। जिसके चलते दिसंबर में भारी बुकिंग के बावजूद पैसेंजर व्हीकल की सेल गिरावट के साथ बंद हुई।

फाडा देश भर में 26,500 डीलरशिप वाले 15,000 से अधिक ऑटोमोबाइल डीलरों का प्रतिनिधित्व करता है। उसने देश भर के 1590 RTO में से 1379 का डेटा कलेक्ट करके रिपोर्ट तैयार की है। उसके मुताबिक, अगले 2-3 महीनों में कोरोना के एक और लहर को लेकर मार्केट में सतर्कता जारी रहेगी।