पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59015.89-0.21 %
  • NIFTY17585.15-0.25 %
  • GOLD(MCX 10 GM)46178-0.54 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61067-1.56 %
  • Business News
  • Tech auto
  • Carl Pei Nothing Invest | Nothing; All You Need To Know About OnePlus Co founder Carl Pei's Startup

कार्ल पेई के 10 साल का सफर:2010 में नोकिया से शुरू हुआ करियर, वनप्लस को दुनियाभर में पहचान दिलाई; अब नथिंग से डिजिटल फ्यूचर के बैरियर खत्म करेंगे

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लंदन की टेक कंपनी नथिंग (Nothing) ने मंगलवार, 27 जुलाई को भारतीय बाजार में कदम रख दिया। उसने अपना पहला प्रोडक्ट नथिंग ईयर 1 लॉन्च किया। इस कंपनी के को-फाउंडर का नाम कार्ल पेई (Carl Pei) है। जी हां, वही कार्ल पेई जो वनप्लस के को-फाउंडर भी रहे हैं।

पेई ने सितंबर 2020 में वनप्लस को छोड़कर हार्डवेयर कंपनी नथिंग की कमान संभाली है। इस कंपनी में दुनियाभर के कई लोगों ने 7 मिलियन डॉलर (करीब 52 करोड़ रुपए) का निवेश किया है।

कार्ल पेई ने नथिंग को पॉपुलर करने के लिए क्या प्लानिंग की है? उन्होंने अब तक कौन-कौन सी कंपनियों में काम किया है? और उनके नाम की चर्चा क्यों होती है? इस खबर में हम इन्हीं सब की बात करेंगे, लेकिन शुरुआत करते हैं नथिंग ईयर 1 प्रोडक्ट से...

कैसा है नथिंग का पहला प्रोडक्ट ईयर 1?

ये ईयरफोन पहली नजर में ही आकर्षक लगते हैं। ईयरफोन्स का डिजाइन ट्रांसपेरेंट हैं। इतना ही नहीं, इसका केस भी ट्रांसपेरेंट है। इसमें चार्जिंग इंडिकेटर लाइट भी है, जो बंद केस में बाहर से ही दिखाई देती है।नथिंग ईयर 1 की भारत में कीमत 5,999 रुपए है।

चीन में जन्मे, स्वीडन में बड़े हुए
कार्ल पेई का जन्म 11 सितंबर, 1989 में बीजिंग (चीन) में हुआ था। उनका परिवार जल्द ही अमेरिका चला गया और बाद में स्वीडन। पेई स्वीडन में ही बड़े हुए। उन्होंने 2008 में स्टॉकहोम स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री हासिल की। 2011 में ले चीनी स्मार्टफोन इंडस्ट्री में काम करने के स्वीडन से बाहर चले गए। उन्होंने 2013 में पीट लाउ के साथ वनप्लस की स्थापना की। वे वनप्लस ग्लोबल के डायरेक्टर भी रहे।

नोकिया से शुरू हुआ करियर

पेई ने 2010 में नोकिया जॉइन किया और कंपनी में 3 महीने तक काम किया। 2011 में उन्होंने नोकिया को छोड़ा और हांगकांग बेस्ड मेजू (Meizu) से जुड़ गए। उन्होंने इस कंपनी की मार्केटिंग टीम में काम करना किया। उसी साल नवंबर में उन्होंने ओप्पो को जॉइन किया। यहां उन्होंने पीट लाउ के अंडर काम किया।

दिसंबर 2013 में वनप्लस की स्थापना की
दिसंबर 2013 में उन्होंने पीट लाउ के साथ वनप्लस की सह-स्थापना की। उनका पहला डिवाइस, वनप्लस वन केवल 50,000 के बिक्री लक्ष्य के बावजूद, 2014 में करीब एक मिलियन यूनिट बिका। जुलाई 2015 में पेई ने यूट्यूब पर एक वर्चुअल रियलटी वीडियो के माध्यम से वनप्लस 2 को पेश किया। वीडियो में वर्चुअल रियलटी वाले पहला प्रोडक्ट को लॉन्च होने का दावा किया गया था। पेई ने दावा किया कि वनप्लस 5 जून 2017 में रिलीज होने के कुछ समय बाद ही उनका अब तक का सबसे तेजी से बिकने वाला फोन रहा।

जनवरी 2021 में नथिंग का अनाउंस किया
पेई ने सितंबर 2020 में वनप्लस को छोड़ दिया। उन्होंने 27 जनवरी, 2021 को नथिंग कंपनी का अनाउंस किया। 10 साल के सफर के दौरान ये उनकी चौथी कंपनी है। पेई के अनुसार, नथिंग लोगों और टेक्नोलॉजी के बीच आने वाले डिजिटल फ्यूचर के बीच आने वाला बाधाओं को खत्म करेगी। कंपनी का भारत में पहला प्रोडक्ट ईयर 1 है। जिसे फ्लिपकार्ट पर लॉन्च किया जा रहा है।

फोर्ब्स और फॉर्च्यून में मिली जगह

  • अप्रैल 2016 में पेई को मार्केटिंग वीक विजन 100 की लिस्ट में शामिल किया गया।
  • टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री में उनके प्रभाव के लिए जनवरी 2016 में उन्हें फोर्ब्स 30 अंडर 30 लिस्ट में शामिल किया गया था।
  • 2019 में उन्हें फॉर्च्यून 40 अंडर 40 लिस्ट के 2019 एडिशन में शामिल किया गया।
खबरें और भी हैं...