पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57107.15-2.87 %
  • NIFTY17026.45-2.91 %
  • GOLD(MCX 10 GM)481531.33 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633740.45 %
  • Business News
  • Tech auto
  • Nitin Gadkari Mumbai Delhi Expressway Car Speed Test | All You Need To Know About Mumbai Delhi Expressway

सड़क का स्पीड टेस्ट:एक्सप्रेसवे के नियम तोड़ गडकरी ने 170km/h पर दौड़वाई कार, ऐसी गलती की तो आप पर लग सकता है 2000 रुपए का जुर्माना

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी हेलिकॉप्टर से उतरे... किआ कार्निवाल की ड्राइविंग सीट पर बैठे.... और उसे 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ाया। ये नजारा था जावरा (मध्यप्रदेश) का। जहां दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे तैयार किया जा रहा है। सड़क की क्वालिटी को परखने के लिए उन्होंने ऐसा किया। इतना ही नहीं, इस एक्सप्रेसवे पर उन्होंने कंस्ट्रक्शन अधिकारी से गाड़ी को 170 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से भी चलवाया।

16 सितंबर को गडकरी रतलाम जिले की जावरा तहसील में एक सभा को संबोधित करने पहुंचे थे। जहां मंच पर कहा कि एक्सप्रेसवे की क्वालिटी को चेक करने के लिए उन्होंने 150 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से कार चलाई। उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेसवे से मुंबई और दिल्ली का सफर सिर्फ 12 घंटे में पूरा हो जाएगा। लौटते वक्त उन्होंने करीब 5 किमी तक गाड़ी चलवाकर टेस्टिंग की।

170km/h की रफ्तार पर टेस्टिंग करवाई
जब गडकरी वापस लौटे तो उन्होंने कंस्ट्रक्शन अधिकारी को ड्राइविंग सीट पर बैठाया। फिर एक्सप्रेसवे के उस हिस्से पर पहुंचे जहां काम चल रहा था। इस दौरान उन्होंने वहां की मशीनों के बारे में जानकारी ली। साथ ही, ये कहा कि यहां पर छोटा प्लेन उतर सकता है। बाद में उन्होंने यूटर्न लिया और अधिकारी से गाड़ी की स्पीड बढ़ाने और आगे ध्यान देने के लिए कहा। जब कार की स्पीड 120km/h से ऊपर चली गई तब स्पीड अलर्ट की बीप आने लगी, लेकिन मंत्री जी स्पीड बढ़वाते रहे। जब कार की स्पीड 170km/h तक पहुंच गई तब इसे मेंटेन किया गया।

कितनी सेफ है किआ कार्निवाल SUV?

कार्निवाल भारत में मिलने वाली सबसे सुरक्षित SUV में से एक है। सेफ्टी के लिए इसमें 6 एयरबैग, ISOFIX चाइल्ड सीट एंकर, ABS और EBD, इले​क्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल जैसे फीचर्स दिए गए हैं। इसके अलावा इसमें रोल ओवर मिटिगेशन, हिल स्टार्ट असिस्ट और कॉर्नरिंग ब्रेक कंट्रोल का फीचर भी दिया गया है। इसे ऑस्ट्रेलियन NCAP क्रैश टेस्ट में 5 स्टार रेटिंग भी मिली है। इसमें 2.2-लीटर BS6 इंजन दिया है, जो 200bhp का पावर और 440nm का टॉर्क जनरेट करता है। इसकी टॉप स्पीड 190km/h तक है।

क्वालिटी चेक करने सेफ्टी नियम तोड़े
गडकरी ने दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे की क्वालिटी को चेक करने के लिए सेफ्टी नियम को भी तोड़ा। दरअसल, नए सेफ्टी नियमों के चलते अब कार में स्पीड अलर्ट दिया जाता है। जब कार की स्पीड 120km/h से ऊपर होने लगती है तब अंदर बीप बजना शुरू हो जाती है। इस स्पीड के लिए अलर्ट होता है। वहीं गडकरी ने कार को 170km/h की रफ्तार से दौड़ाया। हालांकि, इसके पीछे की बड़ी वजह एक्सप्रेसवे की टेस्टिंग करना था।

देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे होगा
दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे को बनाने में 98,000 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसकी लंबाई 1380km है। इतनी लंबाई वाला ये देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे बन जाएगा। ये एक्सप्रेसवे देश के 6 राज्यों दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र से होकर गुजरेगा। इस एक्सप्रेसवे से दिल्ली से मुंबई के बीच की दूरी करीब 130 किलोमीटर कम हो जाएगी। एक्सप्रेसवे 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है।

एक्सप्रेसवे पर गाड़ी की स्पीड से जुड़ा नियम

भारत में नेशनल हाईवे और एक्सप्रेसवे पर चलने वाली गाड़ियों की स्पीड को लेकर अलग-अलग नियम हैं। नेशनल हाईवे पर कार के लिए जहां 100km/h की अधिकतम स्पीड लिमिट तय की गई है, तो एक्सप्रेस-वे पर ये लिमिट 120km/h की है। स्पीड लिमिट टू-व्हीलर और हैवी व्हीकल के लिए भी अलग-अलग है। टू-व्हीलर के लिए हाईवे और एक्सप्रेसवे पर स्पीड लिमिट 80km/h और हैवी व्हीकल, जैसे बस और ट्रक के लिए स्पीड लिमिट 100km/h तक है। इतना ही नहीं, सर्दी के मौसम में स्पीड लिमिट को घटा दिया जाता है।

कैमरे रखते हैं स्पीड पर नजर

देश के लगभग सभी एक्सप्रेसवे पर ऐसे CCTV कैमरे लगाए गए हैं जो गाड़ी की स्पीड पर नजर रखते हैं। जैसे ही गाड़ी की स्पीड 120km/h से ज्यादा होती है ये आगे के टोल प्लाजा को अलर्ट कर देते हैं। जिसके बाद वहां पर गाड़ी का चालान किया जाता है। ये चालान वैसे तो फिक्स होता है, लेकिन स्पीड के हिसाब से ज्यादा भी किया जा सकता है। जैसे यमुना एक्सप्रेसवे पर स्पीड लिमिट क्रॉस करने पर 500 रुपए का चालान लगता है, जबकि 2019 में 214km/h की स्पीड के चलने वाली मर्सिडीज पर 2000 रुपए का ई-चालान किया गया था। चालान नहीं भरने की कंडीशन में ड्राइविंग लाइसेंस कैंसल किया जा सकता है।

अभी देश का सबसे लंबा नेशनल एक्सप्रेसवे दिल्ली-नकोदर-गुरदासपुर सेक्शन ऑफ दिल्ली-अमृतसर-कटरा है। इसकी लंबाई 398 किमी है। वहीं, सबसे छोटा लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेसवे है, जो महज 74 किमी लंबा है। ऐसे में अब 1380 किमी की लंबाई वाला दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे देश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे भी बन जाएगा।

खबरें और भी हैं...