पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59005.270.88 %
  • NIFTY175620.95 %
  • GOLD(MCX 10 GM)463320.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)602350.53 %

कू ऐप का वेरिफिकेशन प्रोग्राम:अब यूजर अपने अकाउंट के लिए यलो टिक ले पाएंगे, जानिए क्या है इसकी प्रोसेस?

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

माइक्रोबलोगिंग साइट कू (Koo) ऐप ने पब्लिक डोमेन में यलो टिक के साथ अपने नए अपडेट Eminence की घोषणा की है, जो कि कंपनी का अपना वेरेफिकेशन प्रोग्राम है। प्रोग्राम उन नोटेबल अकाउंट्स को एक यलो टिक ऑफर करेगा जो वेरीफीकेशन के लिए पात्र हैं या कोई यूजर इसके लिए अप्लाई करता है।

प्लेटफॉर्म ने यलो टिक का नाम 'Eminence' रखा है। ये ट्विटर के ब्लू टिक की तरह काम करता है। जो यूजर्स के अकाउंट को वेरीफाई होने की एक पहचान देता है।

यलो टिक देने के बाद भी कंपनी समीक्षा करती रहेगी
कंपनी ने बताया कि वह एमिनेंस, कद, उपलब्धि या प्रोफेशनल स्टेटस को मान्यता देने के लिए यूजर प्रोफाइल को यलो टिक देती है। यलो टिक एक पहले से तय किए गए क्राइटेरिया के आधार पर होता है और और यह दिखाता है कि यूजर भारत और भारतीयों की आवाज का रिप्रेजेंट करता है। कंपनी ने ये भी बताया है कि एमिनेंस क्राइटेरिया की समीक्षा "हर साल मार्च, जून, सितंबर और दिसंबर में कू में एक विशेष टीम" से की जाएगी।

Koo पर वेरिफाई कैसे करें?
कू ने एक गूगल डॉक्स फॉर्म जोड़ा है जिसे आप भरकर वेरीफीकेशन के लिए अप्लाई करने के लिए सबमिट कर सकते हैं। यूजर्स को पेज पर एमिनेंस वेरिफिकेशन और यहां तक ​​कि एमिनेंस टिक को हटाने के बारे में जानकारी का एक पूरा पेज भी मिलेगा। ये दूसरे ऐप्स की तरह ही गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। यूजर अपने फोन नंबर से जरिए कू के लिए साइन अप कर सकते हैं। यूजर्स इस प्लेटफॉर्म पर अपने विचार रख सकते हैं साथ ही दूसरे यूजर्स को फॉलो भी कर सकते हैं।

कू के मुताबिक, उसके एमिनेंस टिक को खरीदा नहीं जा सकता है। यह क्राइटेरिया के आधार पर ही मिलता है। इसकी गणना के क्राइटेरिया को भारतीय संदर्भ में तैयार किया गया है और इसमें बदलाव किया जा सकता है। कंपनी के मुताबिक, कू सभी क्षेत्रों में इसे देने के लिए प्रतिबद्ध है।

खबरें और भी हैं...