पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Tech auto
  • Ford Ecosport Vs Hyundai Verna Vs Hyundai Verna; Most Exported Car From India April 2020 To January 2021

एक्सपोर्ट के मामले में फोर्ड नंबर वन:भारत से सबसे ज्यादा निर्यात हुई इकोस्पोर्ट, हुंडई ऑरा के निर्यात में 600 गुना की बढ़त

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पोस्ट लॉकडाउन पीरियड में भारतीय कार बाजार ने तेजी से रिकवरी की लेकिन कार निर्यात के मामले में वैसी वृद्धि देखने को नहीं मिली। अप्रैल 2020 से जनवरी 2021 तक, भारत से कुल कार निर्यात में 43.14% की गिरावट आई है। कुछ निर्माताओं ने अपने निर्यात के आंकड़ों में भारी गिरावट दर्ज की है। देखे सबसे ज्यादा निर्यात की गईं टॉप-20 कारों की लिस्ट...

निर्यात के मामले में इकोस्पोर्ट नंबर वन

  • अप्रैल 2020 से जनवरी 2021 की अवधि के दौरान, फोर्ड इकोस्पोर्ट भारत की सबसे अधिक निर्यात की जाने वाली कार थी, कंपनी इसकी कुल 37,296 यूनिट विदेशों में भेजी। दूसरे और तीसरे स्थान पर, शेवरले बीट और हुंडई वर्ना है। कंपनी ने इनकी क्रमशः 28,619 यूनिट और 28,247 यूनिट निर्यात की। इसके बाद किआ सेल्टोस एसयूवी है, जिसकी 27,263 यूनिट निर्यात की गई।
  • पांचवें स्थान पर फॉक्सवैगन वेंटो रही, जिसकी 22,455 यूनिट का निर्यात किया गया। इसके ठीक बाद 19,031 यूनिट के निर्यात के साथ निसान सनी ने जगह बनाई। मारुति सुजुकी ने 17,804 एस-प्रेसो का निर्यात किया जबकि हुंडई ने 17,594 क्रेटा का निर्यात किया। मारुति की पॉपुलर हैचबैक बलेनो लिस्ट में 9वें स्थान पर रही. कंपनी ने इसकी 16,713 यूनिट का निर्यात किया 10वें स्थान हुंडई ग्रैंड i10 हैचबैक रही, जिसकी 13,925 यूनिट का निर्यात किया गया।
  • मारुति स्विफ्ट ने लिस्ट में 11वें स्थान पर है। स्विफ्ट की 9,987 यूनिट्स का निर्यात किया गया। इसके ठीक बाद मारुति डिजायर ने लिस्ट में जगह बनाई, सेडान के 9,250 यूनिट निर्यात किए गए। हुंडई ऑरा के 9,070 यूनिट का निर्यात करने में सफल रही।
  • अप्रैल 2020 से जनवरी 2021 की अवधि के दौरान फॉक्सवैगन पोलो की 5,913 यूनिट का निर्यात किया गया, जबकि मारुति ऑल्टो और हुंडई एलीट i20 ने क्रमशः 5,707 यूनिट और 4,825 यूनिट का निर्यात किया। उनके बाद जीप कंपास 17वें स्थान पर रही, कंपनी ने एसयूवी के कुल 4,075 यूनिट का निर्यात किया।
  • रेनो ट्राइबर लिस्ट पर 18वें स्थान पर जगह बनाने में कामयाब रही। रेनो ने कुल 4,067 ट्राइबर निर्यात कीं। इसके बाद 3,935 यूनिट के साथ मारुति सेलेरियो और 3,784 यूनिट के साथ हुंडई वेन्यू ने क्रमशः 19वें और 20वें स्थान पर अपनी जगह बनाई।
खबरें और भी हैं...