पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX49792.120.8 %
  • NIFTY14644.70.85 %
  • GOLD(MCX 10 GM)490860.22 %
  • SILVER(MCX 1 KG)659170.23 %

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सत्ता जाने के साइड इफेक्ट्स:सिग्नेचर बैंक ने बंद किया ट्रम्प का अकाउंट, दुनियाभर में उनकी प्रॉपर्टी पर भी खतरा मंडराया

नई दिल्ली8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

डोनाल्ड ट्रम्प के लिए अमेरिकी प्रेसिडेंट का पद छोड़ने का काउंटडाउन शुरू हो गया है। 20 जनवरी को जो बाइडेन राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे। जिसके बाद ट्रम्प का कार्यकाल खत्म हो जाएगा। प्रेसिडेंट पद से हटने के बाद ट्रम्प की कंपनियों के लिए आगे की राह कठिन हो सकती है। कैपिटल हिल पर हुए हमले के बाद लोग उनकी कंपनियों के साथ काम करने से बच रहे हैं।

सिग्नेचर बैंक ने सोमवार (11 जनवरी) से ट्रम्प के पर्सनल अकाउंट्स को बंद करना शुरू कर दिया है। वहीं, कैपिटल हिल की घटना से ट्रम्प की प्रॉपर्टीज पर भी खतरा पैदा हो गया है। इनमें सबसे ऊपर वॉशिंगटन डीसी के पूर्व डाकघर के ऊपर बना उनका होटल है। पिछले चार साल के दौरान ट्रम्प के साथ बिजनेस के लिए विदेशी सरकारों ने यहां रूम बुक किए हैं या इवेंट का आयोजन किया है।

ट्रम्प के साथ बिजनेस करने से बच रहे कारोबारी ग्रुप
सरकारी प्रॉपर्टी में होटल चलाना ट्रम्प को अब नुकसान पहुंचा सकता है। उनके आलोचकों का कहना है कि अपने प्रशासन के दौरान इसे ऑपरेट करना गलत था। वॉशिंगटन में सिटीजन फॉर रिस्पॉन्सिबिलिटी एंड एथिक्स के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर, नूह बुकबाइंडर ने कहा कि ट्रम्प वॉशिंगटन की प्रॉपर्टी के साथ अपने कई होटल और बिजनेस पहले ही खो चुके हैं। ऐसे में पिछले हफ्ते हुई घटना के बाद कई कंपनियों ने ट्रम्प के साथ बिजनेस नहीं करने का फैसला किया है।

ट्रम्प की बायोग्राफी लिखने वाले राइटर माइकल डी‘एंटोनियो ने कहा, 'ट्रम्प के लिए अब मुश्किल घड़ी है। अमेरिका में हिंसा की वजह से उन्होंने अपनी कंपनियों के लिए बाजार में निगेटिविटी ला दी है। मुझे नहीं लगता कि अब लोगों का नजरिया बदलेगा। ज्यादातर ब्रांड विवादों से बचने की कोशिश कर रहे हैं। अब कंपनियां खुद तय करेंगी कि उन्हें ट्रम्प के साथ काम करना है या नहीं।'

ट्रम्प के लिए बंद हो रहे लोन के रास्ते
ट्रम्प आर्गनाइजेशन को कोई बैंक लोन देना चाहेगा या नहीं, अभी ये बात साफ नहीं है। ड्यूश बैंक (DB) ने पिछले दस साल में ट्रम्प की कंपनियों को 300 मिलियन डॉलर से ज्यादा का लोन दिया है। हालांकि, ड्यूश बैंक ने अपने एंटी मनी लॉन्ड्रिंग विशेषज्ञ टैमी मैकफेडेन को पिछले साल निकाल दिया था। टैमी ने बैंक के रवैये पर चिंता जताई थी। पिछले महीने ड्यूश बैंक में ट्रम्प के दो करीबी प्राइवेट बैंकर्स ने इस्तीफा दे दिया था।

ट्रम्प ने 42 करोड़ डॉलर के लोन की पर्सनल गारंटी दी है
न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 42.1 करोड़ डॉलर के लोन ऐसे हैं, जिनकी पर्सनल गारंटी ट्रम्प ने दी है। इनमें से ज्यादातर कर्ज दूसरे देशों के बैंकों या कंपनियों से लिया गया है। चार साल में इन्हें चुकाना भी है। आर्थिक मामलों की जांच करने वाली अमेरिकी जांच एजेंसी IRS के मुताबिक, 2010 में ट्रम्प ने एफिडेविट में कहा कि 2008 और 2009 के दौरान मेरी कंपनियों को 140 करोड़ डॉलर का घाटा हुआ है।

ट्रम्प के गोल्फ कोर्स में नहीं होगी PGA चैंपियनशिप
पिछले हफ्ते ट्रम्प समर्थकों ने US कैपिटल पर हमला किया था। इसके बाद कई कंपनियों ने नियम तोड़ने के चलते ट्रम्प से संबंध खत्म किए हैं। वे अपने ब्रांड के बारे में सोचने लगी हैं। अब PGA अमेरिका, ट्रम्प के न्यू जर्सी गोल्फ कोर्स में चैंपियनशिप का आयोजन नहीं करेगी। उसने ट्रम्प से अपने रिलेशन भी खत्म कर लिए हैं। ट्विटर और फेसबुक जैसी कंपनियां ट्रम्प के अकाउंट सस्पेंड कर चुकी हैं।

रिपब्लिकन मेंबर्स को अब डोनेशन भी नहीं मिल रहा
अमेरिका की बड़ी कंपनियां रिपब्लिकन कांग्रेस के उन मेंबर्स को डोनेशन देने से मना कर रही हैं, जिन्होंने इलेक्टोरल कॉलेज के वोटों पर आपत्ति जताई थी। इनमें अमेरिकन एक्सप्रेस, ब्लू क्रॉस ब्लू शील्ड, कॉमर्स बैंक, डॉऊ कैमिकल, मैरियट, मास्टर कार्ड, अमेजन जैसी अन्य कंपनियां शामिल हैं।

कई कंपनियां उन 147 रिपब्लिकन को डोनेशन नहीं देंगी, जिन्होंने इलेक्टोरल कॉलेज वोटों की गिनती का विरोध किया था। इनमें मिसौरी के सीनेटर जोश हाउले, कैनसस के सीनेटर रोजर मार्शल, टेक्सास के सीनेटर टेड क्रूज, अलबामा के सीनेटर टॉमी ट्यूबरविल के साथ सैकड़ों दूसरे कांग्रेस मेंबर्स शामिल थे।

ट्रम्प के पास कितने बिजनेस
ट्रम्प परिवार के पास करीब 500 तरह के बिजनेस हैं। उनके नाम से ही कंपनियां हैं। होटल्स, रिसॉर्ट्स और करोड़ों डॉलर के गोल्फ क्लब। फोर्ब्स मैगजीन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, महामारी के दौर में ट्रम्प की कंपनियों को लाखों डॉलर का नुकसान हुआ। इस दौरान उनकी नेटवर्थ भी 100 करोड़ डॉलर कम हो गई। फोर्ब्स के मुताबिक, ट्रम्प की नेटवर्थ 2.5 बिलियन डॉलर (करीब 18,308 करोड़ रुपए) है। उनकी कंपनियां कई सेक्टर्स में काम करती हैं...

  • कमर्शियल रियल एस्टेट
  • ट्रॉफीस एंड अदर एस्टेट
  • गोल्फ कोर्सेस
  • रेसिडेंशियल रियल एस्टेट
  • होटल लाइजनिंग और मैनेजमेंट
  • हॉस्पिटैलिटी होलडिंग्स

ट्रम्प के बायोग्राफरमाइकल डी‘एंटोनियो के मुताबिक, उन्हें मीडिया से ज्यादा लगाव है। 2016 में जब उन्हें लगा कि वे हिलेरी क्लिंटन से हार जाएंगे तो उन्होंने कैम्पेन के लिए एक मीडिया कंपनी शुरू करने का प्लान बनाया था।

​​​​भारत में ट्रम्प का बिजनेस
भारत के मुंबई और पुणे में डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्रम्प टावर बनाए हैं। पुणे स्थित टावर को पंचशील डेवलपर्स ने और मुंबई स्थित टावर को लोधा ग्रुप ने तैयार किया है। पुणे की 23 मंजिला ट्रम्प टावर आलीशान और देश में पहली ईको फ्रेंडली बिल्डिंग है। इसमें बॉलीवुड स्टार्स भी फ्लैट ले चुके हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसमें फ्लैट की कीमत 15 करोड़ रुपए है। इसके साथ ट्रम्प गुड़गांव में M3M इंडिया, गुड़गांव में ही IREO, कोलकाता में यूनीमार्क ग्रुप के साथ रियल एस्टेट से जुड़े हैं।

Open Money Bhaskar in...
  • Money Bhaskar App
  • BrowserBrowser