पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61716.05-0.08 %
  • NIFTY18418.75-0.32 %
  • GOLD(MCX 10 GM)473880.43 %
  • SILVER(MCX 1 KG)637561.3 %
  • Business News
  • Tech auto
  • CarDekho Turns Unicorn, Valued At $1.2 Billion In Pre IPO Round; India’s 33rd Unicorn In 2021

कारदेखो बना यूनिकॉर्न:उसने इक्विटी और डेट के जरिए 1884 करोड़ रुपए से ज्यादा जुटाए, अगले साल आ सकता है IPO

नई दिल्ली6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पुरानी और नई कारों को बेचने वाला प्लेटफॉर्म कारदेखो ने इक्विटी और डेट के जरिए 250 मिलियन डॉलर (करीब 1884 करोड़ रुपए) जुटाए हैं। इसके साथ ही इसका वैल्यूएशन 1.2 बिलियन डॉलर (करीब 9 हजार करोड़ रुपए) हो गया है। माना जा रहा है कि अगले साल इसका IPO आ सकता है।

लीपफ्रॉग इन्वेस्टमेंट्स के नेतृत्व में मिराए एसेट, फ्रैंकलिन टेम्पलटन, कैन्यन पार्टनर्स और हार्बर स्प्रिंग कैपिटल जैसे अन्य नए इन्वेस्टर्स ने इसमें निवेश किया है। इसके मौजूदा इनवेस्टर्स में सिकोइया कैपिटल, हिलहाउस कैपिटल और गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट की इनवेस्टमेंट यूनिट CapitalG शामिल है।

कारदेखो 2021 में भारत का 33वां यूनिकॉर्न बन गया है। यूनिकॉर्न ऐसे स्टार्टअप को कहा जाता है जिसका वैल्यूएशन कम से कम एक अरब डॉलर का है। पिछले फंडिंग राउंड में CarDekho की वैल्यू लगभग 70 करोड़ डॉलर की थी।

प्लेटफॉर्म पर 3000 से ज्यादा कारें मौजूद
कारदेखो 100 से ज्यादा बाजारों में कार खरीदता है और इसके प्लेटफॉर्म पर 3000 से अधिक कारें हैं, जिनका एनुअल रेवेन्यू रन रेट 100 मिलियन डॉलर (करीब 753 करोड़ रुपए) है। कारदेखो के पास इंश्योरेंस वर्टिकल भी है, जिसने हाल ही में एक बायर फोकस्ड प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है।

कारदेखो के कोफाउंडर और सीईओ, अमित जैन ने कहा कि नए फंडरेज को बेचने से हमें अपने यूज्ड-कार लेनदेन और वित्तीय सेवाओं के व्यवसाय का विस्तार करने में मदद मिलेगी।

2019 में 6033 करोड़ थी वैल्यू
2019 के आखिर में कारदेखो की वैल्यू 800 मिलियन डॉलर (करीब 6033 करोड़ रुपए) थी। ये उस वक्त सबसे वैल्यूएबल स्टार्टअप था। इसका मूल्यांकन हाल ही में कार्स 24 और स्पिनी द्वारा पार किया गया था। कार्स 24 ने सॉफ्टबैंक के नेतृत्व में निवेशकों से फंडिंग की और इसकी वैल्यू 1.8 बिलियन डॉलर (करीब 13 हजार करोड़ रुपए) है।

कारदेखो के इन्वेस्ट करने वाले लीपफ्रॉग इनवेस्टमेंट्स, सिकोइया और सनली हाउस कैपिटल ने इस पर ये कहा

  • लीपफ्रॉग इनवेस्टमेंट्स के पार्टनर और साउथ एशियन इनवेस्टमेंट्स के को-हेड स्टीवर्ट लैंगडन ने कहा, "अमित और टीम ने भारत के ऑटो-टेक बाजार में अग्रणी डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाने की दिशा में शानदार काम किया है। हम उम्मीद करते हैं कि टीम की क्षमता और आगे बढ़ने की असाधारण नीति की वजह से यह व्यवसाय अपने तेज विकास पथ पर बढ़ना जारी रखेगा, जो अब इस सेगमेंट को औपचारिकता, डिजिटलीकरण और पारदर्शिता बढ़ाने से प्राप्त हुआ है। कार देखो बड़े पैमाने पर सामाजिक प्रभाव के लिए एक उत्कृष्ट मंच है, जो पहले से ही 30 लाख से अधिक उभरते उपभोक्ताओं के लिए वाहनों को अधिक सुलभ, किफायती और भरोसेमंद बना रहा है। इस तरह से मोबिलिटी तक पहुंच में सुधार से स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे अन्य प्रमुख क्षेत्रों में विकास को गति देने में मदद मिलेगी।"
  • सिकोइया इंडिया के प्रबंध निदेशक शैलेश लखानी ने कहा, ''अमित, अनुराग और कार देखो की टीम ने एक ऐसा व्यवसाय बनाया है जो हमारी शुरुआती अपेक्षाओं से कहीं अधिक है। उनकी कई व्यावसायिक इकाइयां नेतृत्व की स्थिति रखती हैं, और अब पुरानी कारों और वित्तीय सेवाओं के क्षेत्र में और विशेषज्ञता का निर्माण कर रही हैं जहां वे मजबूती से स्थित हैं। सिकोइया इंडिया की टीम को अपनी दीर्घकालिक सफलता पर पूरा भरोसा है।''
  • सनली हाउस कैपिटल के डायरेक्‍टर अभिनव शर्मन ने कहा, ''हम कार देखो को अपना समर्थन जारी रखने और दक्षिण पूर्व एशिया में अग्रणी खुदरा ऑटो और वित्तीय सेवा प्रदाता बनने के उनके मिशन को जारी रखने के लिए उत्‍साहित हैं। हमारे शुरुआती निवेश के बाद से कंपनी ने जबरदस्त विकास करते हुए खुद को भारत में सबसे बड़े टेक-ऑटो प्लेटफॉर्म के रूप में स्थापित किया है। हमें विश्वास है कि यह नया निवेश कार देखो को ऑटो बीमा में बड़े पैमाने पर अवसरों का लाभ उठाने के साथ ऑटो खुदरा बाजार में उनकी आर्थिक वृद्धि को तेज करने में सक्षम बनाएगा।''