• Home
  • Tech auto
  • Maruti Suzuki Working On 5 All New Cars|From new 800 to 5 door Jimny, Maruti Suzuki is working on these five big projects

ऑटो /नई 800 से लेकर 5-डोर जिम्नी तक, इन पांच बड़े प्रोजेक्ट्स पर काम कर रही है मारुति सुजुकी

सेलेरियो के नेक्स्ट- जनरेशन वर्जन को लॉन्च करने की तैयारी में मारुति, सेलेरियो पिछले 6 सालों से मार्केट में बनी हुई है सेलेरियो के नेक्स्ट- जनरेशन वर्जन को लॉन्च करने की तैयारी में मारुति, सेलेरियो पिछले 6 सालों से मार्केट में बनी हुई है

  • कंपनी पिछले लंबे समय से वैगन आर के फुली-इलेक्ट्रिक वर्जन पर काम कर रही है
  • भारतीय बाजार के लिए खासतौर से जिम्नी का 5-डोर मॉडल तैयार किया जा रहा है

Moneybhaskar.com

May 18,2020 01:18:00 PM IST

नई दिल्ली. मारुति सुजुकी देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी है। कंपनी आगे भी नंबर वन पोजीशन पर बने रहने के लिए और मास मार्केट सेगमेंट के लिए कंपनी पांच नए प्रोजेक्ट्स पर काम कर रही है। हालांकि कंपनी डीजल इंजन पर काम न करना का फैसला ले चुकी है, ऐसे में ग्राहकों को लुभाने के लिए मारुति ने नए सेगमेंट की ओर बढ़ती नजर आ रही है। ये हैं वे पांच कारें जिनपर कंपनी फिलहाल काम कर रही है।

न्यू जनरेशन सेलेरियो

2014 में लॉन्च हुई मारुति सुजुकी सेलेरियो पिछले 6 सालों से मार्केट में बनी हुई है। पिछले 6 साल से कंपनी ने इसमें कोई बड़ा बदलाव नहीं किया। अब कंपनी इसके नेक्स्ट जनरेशन मॉडल को उतारने की तैयारी में है, जिसमें अपडेट डिजाइन, री-डिजाइन केबिन और कई सारे एडवांस्ड फीचर्स मिलेंगे।
नेक्स्ट जनरेशन मॉडल को YNC कोडनेम दिया गया है। इसे साल के अंत तक बाजार में उतारा जा सकता है। इसमें पहले की तरह ही 1.0 लीटर का थ्री-सिलेंडर K10B पेट्रोल इंजन मिल सकता है।

वैगन-आर इलेक्ट्रिक

कंपनी पिछले लंबे समय से वैगन आर के फुली-इलेक्ट्रिक वर्जन पर काम कर रही है। अक्टूबर 2018 में कंपनी ने गुरुग्राम यूनिट से लगभग 50 जापानीज स्पेसिफिकेशन वैगन-आर ईवी को देशभर में अलग-अलग मौसम और रास्तों पर टेस्टिंग के लिए भेजा।
यह वर्तमान में भारत में बेची जा रही वैगन-आर से मिलती-जुलती ही होगी। उम्मीद की जा रही है कि इसकी कीमत 10 लाख के अंदर होगी, जो इसे अन्य इलेक्ट्रिक कारों के मुकाबले मोस्ट अफॉर्डेबल इलेक्ट्रिक कार बनाएगी। भारतीय बाजार में यह महिंद्रा ई-केयूवी100 को टक्कर देगी।

नई 800 सीसी कार

मारुति अब अल्टो को नई एंट्री लेवल कार से रिप्लेस करने की प्लानिंग कर रही है, जिसे क्रॉसओवर की तर्ज पर शोकेस किया जाएगा। इस नई 800 सीसी कार को कंपनी के हार्टेक्ट प्लेटफार्म पर डिजाइन किया जाएगा, जिस पर एस-प्रेसो, वैगन-आर, स्विफ्ट और बलेनो भी बनी हैं।
रिपोर्ट के मुताबिक, इसमें पहले की तरह ही 796 सीसी थ्री-सिलेंडर नेचुरली-एस्पीरेटेड पेट्रोल इंजन मिलेगा, जो 48PS/69Nm का पावर जनरेट करेगा, जो नेक्स्ट जनरेशन अल्टो में भी मिलता है। नई 800 सीसी कार में 5 स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स के साथ ऑप्शनल ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन भी मिलेगा।

हुंडई क्रेटा राइवल मिड-साइज एसयूवी

इस समय भारत में मिड-साइज एसयूवी को काफी पंसद किया जा रहा है, और ऐसे में मारुति पीछे नहीं रहना चाहती। इस सेगमेंट में फिलहाल हुंडई केटा, किआ सेल्टॉस मौजूद हैं। जल्द ही मारुति भी सेगमेंट में एंट्री करने वाला है। इसे मारुति के प्रीमियम नेक्सा डीलरशिप से बेचा जाएगा, जो क्रेटा, सेल्टॉस, कैप्चर जैसे मिड साइज-एसयूवी को टक्कर देगी। हालांकि अभी तक कंपनी की तरफ से कोई ऑफिशियल अनाउंसमेंट नहीं किया गया है।

जिम्नी एसयूवी

जिम्नी सुजुकी की कॉम्पैक्ट ऑफ-रोडर है और इंटरनेशनल मार्केट में इसका 4th जनरेशन मॉडल अवेलेबल है। इसके सेकंड जनरेशन मॉडल को भारतीय बाजार में लगभग 30 सालों तक मारुति जिप्सी नाम से बेचा गया। लेकिन सेल्स के गिरते आंकड़ों के बाद इसे बीएस6 में अपग्रेड ने करते हुए डिस्कंटीन्यू कर दिया गया।
कंपनी ने नई जिम्नी को दिल्ली ऑटो एक्सपो में शोकेस किया था, जिससे उम्मीद की जा रही थी कि इसे जल्द ही भारत में उतारा जाएगा। लेकिन यह मॉडल 3-डोर जिम्नी सिएरा का था जिसे विदेशी बाजार में बेचा जा रहा है। कंपनी भारतीय बाजार में खासतौर से इसका 5-डोर वर्जन उतारेगी। इसे साल के अंत तक लॉन्च किया जा सकता है।

X
सेलेरियो के नेक्स्ट- जनरेशन वर्जन को लॉन्च करने की तैयारी में मारुति, सेलेरियो पिछले 6 सालों से मार्केट में बनी हुई हैसेलेरियो के नेक्स्ट- जनरेशन वर्जन को लॉन्च करने की तैयारी में मारुति, सेलेरियो पिछले 6 सालों से मार्केट में बनी हुई है

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.