पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गावस्कर ने कहा पंत को सौंपी जाए टेस्ट की कमान:बोले- जिम्मेदारी आने से तीनों फॉर्मेट के लिए बेहतर खिलाड़ी बनेंगे ऋषभ; हिटमैन का दिया उदाहरण

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीमित ओवर की कप्तानी से हटने के बाद अब विराट कोहली ने टेस्ट फॉर्मेट की कप्तानी से भी इस्तीफा दे दिया है। कोहली के टेस्ट की कप्तानी छोड़ने के बाद रोहित शर्मा को टीम इंडिया का नया टेस्ट कैप्टन बनाए जाने की पूरी उम्मीद है। हालांकि लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर इससे इत्तेफाक नहीं रखते। गावस्कर का ऐसा मानना है कि ऋषभ पंत को भारत का अगला टेस्ट कप्तान बनाना चाहिए।

चयनकर्ताओं पंत को देंगे तरजीह
सुनील गावस्कर ने कहा- यदि आप मुझसे पूछें, तो मैं अभी भी पंत को भारत के अगले कप्तान के रूप में देखूंगा। एक ही वजह से जैसे रोहित शर्मा को मुंबई इंडियंस की कप्तानी दी गई थी, जब रिकी पोंटिंग ने पद छोड़ा था, उसके बाद उनकी बल्लेबाजी में आए बदलाव को देखिए। अचानक कप्तान होने की जिम्मेदारी ने उन्हें छोटी पारियों को बड़ी पारियों में तब्दील करने में मदद की। मुझे लगता है कि ऋषभ पंत पर जिम्मेदारी आने पर, उनसे न्यूलैंड्स की तरह कई और बेहतरीन पारियां देखने को मिलेंगी।

केपटाउन टेस्ट की दूसरी पारी में पंत ने न्यूलैंड्स के मैदान पर साउथ अफ्रीका के खिलाफ कठिन परिस्थितियों में 139 गेंदों पर नाबाद 100 रन बनाए थे।

पंत की रिकॉर्डतोड़ पारी: अफ्रीका में पहला शतक लगाने वाले एशियाई कीपर बने ऋषभ, धोनी का रिकॉर्ड भी तोड़ा

पटौदी की राह पर चलेंगे पंत
सुनील गावस्कर ने कहा की मंसूर अली खान पटौदी ने भी 21 साल की उम्र में भारत की कमान संभाली थी और बतौर कप्तान अच्छा प्रदर्शन भी किया। पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा- टाइगर पटौदी 21 साल की उम्र में प्रतिकूल परिस्थितियों में कप्तान थे जब नारी कांट्रेक्टर चोटिल हो गए थे। देखिए उन्होंने उसके बाद क्या किया। उन्होंने आसानी से कप्तानी की। मुझे लगता है कि हमने IPL में दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान के रूप में ऋषभ के साथ जो देखा है, मुझे विश्वास है कि उनमें भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने और एक बहुत ही रोमांचक टीम बनाने की क्षमता है।

मंसूर अली खान पटौदी ने 40 टेस्ट मैचों में भारत की कप्तानी की और 9 मुकाबले जीते। 19 में टीम को हार का सामना करना पड़ा और 12 मैच ड्रॉ रहे।

दिल्ली के लिए जीते 10 मैच
गावस्कर के अलावा क्रिकेट के कई जानकार ऋषभ पंत को भविष्य का कप्तान मान रहे हैं। पंत ने IPL 2021 में अपनी कप्तानी से सभी को खासा प्रभावित भी किया था। उन्होंने 16 मैचों में कप्तानी करते हुए 10 मुकाबले जीते थे, जबकि 6 में टीम को हार का सामना करना पड़ा था। पंत तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया के अहम सदस्य है और उम्र भी कप्तानी के मामले में उनका साथ देती है। ऋषभ अभी केवल 24 साल के हैं। भविष्य के लिए अभी से ऋषभ पंत को कप्तान के तौर पर तैयार किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...