पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विराट के टेस्ट कप्तानी छोड़ने पर BCCI बोला:वो सबसे महान कप्तानों में से एक, ऐसे खिलाड़ी कभी-कभार पैदा होते हैं

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने तीनों फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ दी है। रविवार को टेस्ट कप्तानी छोड़ने के बाद BCCI ने उनका शुक्रिया अदा किया है। बोर्ड ने कहा कि विराट सबसे महान कप्तानों में से एक हैं। ऐसे क्रिकेटर कभी-कभार पैदा होते हैं। यह उनका व्यक्तिगत निर्णय था और बोर्ड इसका सम्मान करता है। BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने ये भी कहा- हर अच्छी चीज का अंत होता है।

विराट के बाद कौन?: क्या रोहित बनेंगे तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया के कप्तान या राहुल को टेस्ट की कमान सौंपेगा BCCI

क्या बोले गांगुली?
बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी विराट को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा, 'मैं व्यक्तिगत रूप से विराट को भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में उनके अपार योगदान के लिए धन्यवाद देता हूं। उनकी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम ने खेल के सभी प्रारूपों में तेजी से प्रगति की। उनका निर्णय व्यक्तिगत है और BCCI इसका बहुत सम्मान करता है। वह इस टीम के एक बहुत ही महत्वपूर्ण सदस्य बने रहेंगे और एक नए कप्तान के नेतृत्व में बल्ले से अपने योगदान के साथ इस टीम को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे। हर अच्छी चीज का अंत होता है और यह बहुत अच्छा रहा है।'

BCCI और कोहली के अनबन की पूरी कहानी
BCCI की सीनियर सिलेक्शन कमेटी ने रोहित शर्मा को वनडे और टी-20 टीम का कप्तान बनाने की घोषणा की थी। विराट वनडे की कप्तानी नहीं छोड़ना चाहते थे। इस पर गांगुली ने कहा कि बोर्ड ने उनसे सितंबर में ही कहा था कि अगर वे टी-20 की कप्तानी छोड़ेंगे तो वनडे में उन्हें कप्तान बनाए रख पाना मुश्किल होगा। इसलिए वे टी-20 में कप्तान बने रहें।

गांगुली के मुताबिक, विराट ने ऐसा करने से मना कर दिया और फिर BCCI के पास विराट से वनडे कप्तानी लेने के अलावा कोई चारा नहीं रह गया था। बकौल गांगुली WHITE BALL क्रिकेट में दो कप्तान नहीं हो सकते हैं।

इसके बाद विराट ने बड़ा धमाका करते हुए यह कह दिया था कि उन्हें टी-20 की कप्तानी छोड़ने से किसी ने नहीं रोका, बल्कि BCCI उनके इस फैसले से खुश था। विराट ने यह भी कहा था कि साउथ अफ्रीका दौरे के लिए टेस्ट टीम की घोषणा से महज 90 मिनट पहले उन्हें बताया गया कि वे अब वनडे टीम के कप्तान नहीं हैं। इसके बाद साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया को हार मिलने के बाद कोहली ने टेस्ट टीम की भी कप्तानी छोड़ दी।

टेस्ट में कैप्टन कोहली का सफर: 42 महीनों तक नंबर-1 रहा भारत, ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज फतह करने वाले पहले एशियाई कप्तान बने

खबरें और भी हैं...