पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58461.291.35 %
  • NIFTY17401.651.37 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47394-0.41 %
  • SILVER(MCX 1 KG)60655-1.89 %
  • Business News
  • Rsmssb patwari exam
  • Board President Hariprasad Said Administrative Decision Not To Conduct Examination In 10 Districts, Only Copying Is Not The Only Reason For This; Said On Cutoff Experts Will Decide After The Result

डोटासरा के गृहजिले में पटवारी परीक्षा क्यों नहीं:बोर्ड अध्यक्ष बोले- इसके पीछे केवल नकल गिरोह नहीं कई अन्य कारण, कटऑफ फॉर्मूले पर फैसला रिजल्ट के बाद

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की पटवारी भर्ती परीक्षा-2021 का आयोजन प्रदेश के 10 जिलों में नहीं होगा। इनमें शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का गृह जिला भी शामिल है। बोर्ड का तर्क है कि इन जिलों में परीक्षा नहीं कराए जाने के पीछे कई कारण हैं। वहीं बोर्ड पटवारी भर्ती की बड़े स्तर पर परीक्षा तो करवा रहा है, लेकिन कटऑफ पर कोई फॉर्मूला अभी तक तय नहीं किया है।

इस परीक्षा में 15.63 लाख आवेदन प्राप्त हुए हैं। 23 जिलों में 15 लाख से ज्यादा स्टूडेंट को बुलाने से कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। हालांकि 5 लाख से ज्यादा महिला अभ्यर्थियों को राहत देते हुए 23 अक्टूबर को ही उनकी परीक्षा करवाने का फैसला लिया है। ऐसी परेशानियों से बोर्ड कैसे निपटेगा दैनिक भास्कर ने ऐसे कई सवालों के जवाब लिए अध्यक्ष हरिप्रसाद शर्मा से।

अभ्यर्थियों की संख्या के आधार पर लिया निर्णय
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरि प्रसाद शर्मा ने कहा कि यह सिर्फ एक प्रशासनिक निर्णय है। परीक्षा कहां होगी, कब होगी और कैसे आयोजित होगी, इस पर बोर्ड के चिंतन और मंथन के बाद ही फैसला लिया जाता है। इसमें अभ्यर्थियों की संख्या के साथ उस जिले के मौजूदा हालात पर चर्चा की जाती है। इसी आधार पर इस बार भी प्रदेश के 10 जिलों में परीक्षा केंद्र नहीं स्थापित करने का निर्णय हुआ है।

यह निर्णय पहली बार नहीं हुआ बल्कि इससे पहले भी कई बार बोर्ड की परीक्षाओं में प्रदेश के जिलों को शामिल नहीं किया गया था। अगर पटवारी परीक्षा में अभ्यर्थियों की संख्या और भी कम होती, तो सिर्फ जयपुर में भी परीक्षा का आयोजन किया जा सकता था।

विशेषज्ञों की राय के बाद जारी होगा कटऑफ
शर्मा ने कहा कि पटवारी भर्ती परीक्षा पूरी होने के बाद परिणाम आने पर हम उसके आधार पर निर्णय लेंगे। अगर चारों प्रश्नपत्र का एवरेज लगभग बराबर आ रहा है, तो फिर हम राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के सॉफ्टवेयर के आधार पर कटऑफ निकालेंगे। इसके साथ ही हम विशेषज्ञों से भी इसका आकलन करवाएंगे। ऐसे में अगर जरूरत पड़ती है तो हम स्केलिंग फॉर्मूला भी अपनाएंगे। एक्सपर्ट कमेटी के सुझाव पर ही निर्णय लेंगे।

पड़ोसी जिलों में ही दिए गए हैं सेंटर
पटवारी भर्ती परीक्षा प्रदेश के 23 जिलों में आयोजित हो रही है। सिर्फ 10 जिलों में आयोजित नहीं हो रही है। ऐसे में अभ्यर्थियों के लिए रोडवेज बसों की निशुल्क व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही गृह जिले के नजदीकी अभ्यर्थियों को सेंटर भी अलॉट किए गए हैं। ऐसे में परीक्षा के दौरान अभ्यर्थियों के परिवहन में कोई भी असुविधा नहीं आएगी। परिवहन विभाग जरूरत पड़ने पर निजी बसों का उपयोग भी कर सकता है।

पुलिस के जवान रोकेंगे नकल
परीक्षा के दौरान नकल रोकने के लिए हमने पुख्ता व्यवस्था की है। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के उड़न दस्तों के साथ ही पुलिस की टीम का भी सहयोग लिया जा रहा है। ताकि परीक्षा के दौरान किसी भी तरह की धांधली और बेईमानी को रोका जा सके।

इंटरनेट बंद करने का फैसला जिला स्तरीय अधिकारी करेंगे
इंटरनेट बंद को लेकर निर्णय जिला स्तर पर लिया जाएगा। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा इसको लेकर कोई तैयारी नहीं की गई है। बोर्ड का कार्य परीक्षा का सफल आयोजन करवाना है। इसलिए जरूरी व्यवस्थाओं को लेकर संबंधित विभागों को पहले से ही लिखा जाता है। इंटरनेट बंद करने को लेकर जिला पुलिस अधीक्षक और कलेक्टर जरूरत पड़ने पर संभागीय आयुक्त को पत्र लिखते हैं या फिर संभागीय आयुक्त स्वविवेक से निर्णय ले सकते हैं।

रोडवेज कम पड़ी तो निजी बसों का करेंगे इस्तेमाल-खाचरियावास
राजस्थान में 23 और 24 अक्टूबर को होने वाली पटवारी भर्ती परीक्षा के दौरान भी रीट की तरह परिवहन की व्यवस्था की गई है। परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बताया कि आम छात्रों की सहूलियत के लिए रोडवेज बसों के साथ ही निजी बसों का भी इस्तेमाल किया जाएगा। ताकि अभ्यर्थी समय रहते परीक्षा केंद्र तक पहुंच सके। प्रताप सिंह ने बताया कि इसके लिए रोडवेज अधिकारी, राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के साथ ही जिला स्तर पर अधिकारियों से चर्चा के बाद बसों की संख्या निर्धारित करेंगे, जिनमें प्रदेशभर के अभ्यर्थी फ्री में सफर कर सकेंगे।

ध्यान रखें
पानी की बोतल, पर्स, बैग, ज्योमैट्री, पेंसिल बॉक्स, प्लास्टिक पाउच, कैल्कुलेटर, तख्ती, पैड, गत्ता, पैन ड्राइव, रबर, टेबल स्कैनर, किताबें, नोटबुक, पर्चियां, व्हाइटनर लाने पर रोक रहेगी।

इस लिंक पर CLICK कर भेजें अपने सवाल, एक्सपर्ट देंगे इसका जवाब

पटवारी भर्ती परीक्षा-2021 : सभी विषयों से 150 प्रश्नों से तैयार छठवां मेगा टेस्ट, सॉल्व करने के साथ-साथ देखें ANSWER KEY

5 दिन में पटवारी परीक्षा की तैयारी:एक्सपर्ट से जानिए सक्सेस के 11 टिप्स, आखिरी दिनों में इस तरह करें स्टडी प्लान

खबरें और भी हैं...