Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Experts »Market» Learn About Stop

    जानिए स्टॉप लॉस के बारे में

    जानिए स्टॉप लॉस के बारे में

    स्टॉपलॉस वह बिंदु या शेयर मूल्य होता है जिस पर लोग अपने शेयर को बेच देते हैं और उसके बाद होने वाले नुकसान से बच जाते हैं।

    इसे दूसरे शब्दों में ऐसे भी कहा जा सकता है कि किसी शेयर का स्टॉप लॉस वह मूल्य है जिसके बाद आपको कोई नुकसान नहीं होता है और एक तरह से आप किसी शेयर के संबंध में होने वाले संभावित नुकसान की सीमा तय कर लेते हैं जिससे आपका नुकसान कम हो जाता है। यह किसी विशेष शेयर के मामले में आपके नुकसान की सीमा तय करता है।

    कैसे काम करता है?
    स्टॉप लॉस की सीमा को शेयरधारक तय करता है। उदाहरण के लिए मान लीजिए अगर आपने कोई शेयर 100 रुपये में ख्ररीदा है।

    लेकिन आपको लगता है कि इसमें गिरावट आ सकती है तो आप अपने ब्रोकर को कह देंगे कि अगर इस शेयर के दाम 95 रुपये के स्तर पर आ जाए तो वह शेयर को बेच दे। इस तरह से इस शेयर के मामले में आपका स्टॉप लॉस 95 रुपये हो गया। अगर इसके बाद भी शेयर गिरता है तो उससे आपको कोई नुकसान नहीं होगा क्योंकि आप उसे 95 रुपये के स्तर पर ही बेच चुके होंगे।

    केवल गिरावट के समय ही नहीं, बल्कि यह तब भी काम करता है जब शेयर के भाव बढ़ रहे हों। उदाहरण के लिए अगर आप 100 रुपये की कीमत पर खरीदे गए उसी शेयर के बारे में अपने ब्रोकर से कहें कि जब यह शेयर 115 रुपये पर पहुंच जाए तो उसे बेच दिया जाए। इस तरह से ऊपरी सीमा के मामले में भी आप स्टॉप लॉस तय कर सकते हैं।

    क्यों होता है इसका इस्तेमाल
    स्टॉप लॉस का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है ताकि भारी उथल-पुथल में नुकसान से बचा जा सके। शेयर बाजार इमोशन से काफी हद तक प्रभावित होता है। स्टॉप लॉस उस नुकसान को कम करता है। शेयरों की खरीद-फरोख्त अपने आप में सब्जेक्टिव काम है। ऐसे में उसमें जितना लाभ होता है उतना ही नुकसान भी हो सकता है।

    स्टॉप लॉस इसी नुकसान को कम करने का तरीका है। साथ ही इसका एक फायदा यह भी है कि अगर आप नियमित तौर पर ट्रेडिंग नहीं करते हैं और उसे रेगुलर मॉनीटर नहीं कर सकते हैं तो भी यह आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। ऐसी स्थिति में स्टॉप लॉस आपको कई सारे खतरों से बचा सकता है।

    आपके लिए इसका महत्व
    बाजार में अक्सर उतार-चढ़ाव होते रहते हैं, ऐसे में यह जानना बहुत जरूरी है कि बाजार काम कैसे करता है और उसके नकारात्मक असर को किस तरह से कम किया जा सकता है।

    जहां तक स्टॉप लॉस की बात है तो छोटी अवधि के लिए तो यह बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन अगर किसी को लंबी अवधि के लिए निवेश करना है तो फिर इसका कोई बहुत ज्यादा महत्व नहीं है। आपको इस बात के लिए खुद को तैयार रखना चाहिए कि बाजार में कभी भी कोई बड़ा परिवर्तन हो सकता है।

    अगर आप छोटी अवधि वाले निवेशक हैं तो फिर आपको बाजार पर लगातार नजर रखनी होगी। लेकिन अगर आप लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहते हैं, तो फिर आपको कोई दिक्कत नहीं होगी।

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY