बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Banking » Updateमोबाइल से पता करें, आपका आधार कार्ड बैंक से जुड़ा है या नहीं, ये है तरीका

मोबाइल से पता करें, आपका आधार कार्ड बैंक से जुड़ा है या नहीं, ये है तरीका

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इसके तहत अब तक 10 करोड़ आधार नंबर को बैंक अकाउंट से जोड़ा जा चुका है।

1 of
 
नई दिल्ली. एक जनवरी से एलपीजी की सब्सिडी सीधे उपभोक्ता के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करने के लिए आधार कार्ड को बैंक खातों से जोड़ा जा रहा है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इसके तहत अब तक 10 करोड़ आधार नंबर को बैंक अकाउंट से जोड़ा जा चुका है। इसके अलावा मनरेगा, पीडीएस, स्कॉलरशिप, रेमिटेंस आदि के लिए भी आधार को बैंक अकाउंट से जोड़ना जरूरी है। आधार नंबर को बैंक अकाउंट से जोड़ने के लिए नागरिकों से उनका आधार कार्ड या आधार नंबर उस बैंक की शाखा में जमा करवाने को कहा गया है जहां उनका बैंक खाता है।
 
 

ऐसे पता करें बैंक से जुड़ा आधार या नहीं

 
यह पता करने के लिए कि आपका आधार नंबर आपके बैंक अकाउंट के साथ जुड़ गया है या नहीं, उपभोक्ता अपने मोबाइल पर *99*99# डायल करें। इसके बाद 12 डिजिट का आधार नंबर डालें और ओके करें। आधार नंबर सही है यह पुष्टि करने के लिए 1 डायल करें। इसके बाद मोबाइल पर आधार कार्ड के बैंक से जुड़े होने की जानकारी मिल जाएगी। इस मैसेज में यह भी बताया जाएगा कि किस बैंक से किस तारीख को आधार कार्ड लिंक हुआ है। 
 
आगे की स्लाइड में पढ़िए एक जनवरी से लागू होगी डीबीटीएल...
 
नोटः तस्वीरों का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।
 

एक जनवरी से देशभर में लागू होगी डीबीटीएल

 
पहल (डीबीटीएल) स्कीम सबसे पहले 1 जून 2013 को लॉन्च की गई थी और इसके तहत एलपीजी सब्सिडी लेने के लिए लिए आधार कार्ड होना अनिवार्य बताया गया था। सरकार ने बाद में इस स्कीम में फेरबदल कर इसे 15 नवंबर 2014 को 54 जिलों के लिए लॉन्च किया था और अब ये सेवा 1 जनवरी 2015 से यह देश भर में लागू होने जा रही है। 
 

ऐसे पा सकते हैं सब्सिडी

 
इस स्कीम के तहत अब एलपीजी उपभोक्ता सब्सिडी सीधे बैंक अकाउंट में ले सकेंगे। स्कीम से जुड़ने वाले सीटीसी कंज्यूमर कहलाएंगे। इसके दो तरीके हैं। प्राइमरी तरीके में जहां उपभोक्ता के पास आधार नंबर है उसे अपने आधार नंबर को बैंक अकाउंट नंबर और एलपीजी कंज्यूमर नंबर के साथ लिंक करना होगा। जबकि सैकंड्री तरीके में जहां उपभोक्ता के पास आधार नंबर नहीं है वहां वह अपनी सब्सिडी सीधे बैंक अकाउंट में पा सकता है। इसके लिए या तो वे अपना बैंक अकाउंट की जानकारी एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर को दें या फिर अपना एलपीजी कंज्यूमर आईडी अपने बैंक को दें।
 
मार्केट रेट पर मिलेगा सिलेंडर
 
पहल (डीबीटीएल) स्कीम के तहत उपभोक्ता को मार्केट रेट पर सिलेंडर खरीदना होगा और उस पर मिलने वाली सब्सिडी सीधे सीटीसी कंज्यूमर के बैंक अकाउंट में जाएगी। 
 
ग्रेस पीरियड
 
नॉन-सीटीसी कंज्यूमर्स को इस स्कीम से जुड़ने और सीटीसी बनने के लिए 3 महीने का समय मिलेगा। इस दौरान उन्हें सिलेंडर सब्सिडाइज्ड रिटेल सेलिंग प्राइस पर ही मिलेगा। इसके बाद उन्हें 3 महीने का पार्किंग पीरियड भी मिलेगा और इस दौरान उन्हें एलपीजी सिलेंडर बिना सब्सिडी के मार्केट प्राइस पर ही लेना होगा।
 
पर्मानेंट एडवांस
 
हर सीटीसी कंज्यूमर को पहल के साथ जुड़ने पर वन-टाइम एडवांस मिलेगा। यह एडवांस वित्तीय वर्ष के लिए फिक्स रहेगा। कनेक्शन कटने पर ही यह एडवांस एडजस्ट किया जाएगा।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट