बिज़नेस न्यूज़ » News Room » Corporateग्रामीण क्षेत्रों में इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप खोलने का मौका, जानिए कैसे उठाएं फायदा

ग्रामीण क्षेत्रों में इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप खोलने का मौका, जानिए कैसे उठाएं फायदा

इंडियन ऑयल ने अकेले पश्चिमी यूपी में 296 किसान सेवा केंद्र के लिए आवेदन मांगे हैं।

1 of
नई दि‍ल्ली. पेट्रोलियम उत्पाद बेचने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल (आईओसी) ग्रामीण क्षेत्रों में 296 किसान सेवा केंद्र की डीलरशिप देने जा रही है।
आईओसी ने इसके लिए आवेदन भी निकाल दिए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में किसान सेवा केंद्र के जरिए कंपनी अपनी पेट्रोल पम्प विस्तार योजना को रफ्तार देने की कोशिश कर रही है। आईओसी ने डीलर्स के लिए नई गाइडलाइन भी जारी कर दी है।
 

कहां, कितने मांगे आवेदन

 
इंडियन ऑयल ने अकेले पश्चिमी यूपी में 296 किसान सेवा केंद्र के लिए आवेदन मांगे हैं। इसके लिए कंपनी की जारी गाइनलाइन में तमाम शर्तें भी जारी कर दी हैं। आईओसी से मिली जानकारी के मुतायबिक, कंपनी इस साल देश भर में करीब दो हजार रिटेल आउटलेट खोलने की तैयारी कर रही है। इसकी शुरुआत पश्चिमी उत्तर प्रदेश से हो चुकी है। इससे पहले इंडियन ऑयल ने शहरी क्षेत्रों में 320 पेट्रोल पम्प खोलने के लिए भी आवेदन मांगे थे। रिटेल विस्तार योजनाओं के बारे में जानकारी देते हुए कंपनी ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में कंपनी अपना आधार तेजी से बढ़ा रही है। 
 

कितनी जमीन और पूंजी की जरूरत?

 
इंडियन ऑयल ने आवेदनकर्ताओं के लिए जारी निर्देशों में पम्प के लिए जमीन और पूंजी को भी जारी किया है। कंपनी के मुताबिक, आवेदन वो ही कर सकता है जिसके पास खुद की जमीन या फिर 20 सालों तक लीज पर ली गई जमीन हो। वहीं, ग्रामीण इलाकों में पम्प खोलने के लिए 12 से 14 लाख रुपए का निवेश करना होगा। आवेदन फीस और एफिडेबिट फीस अलग से आवेदन के वक्त देनी होगी। 
 
 

क्या है किसान सेवा केंद्र

 
किसान सेवा केंद्र रिटेल आउटलेट मॉडल के तौर पर डीजल की बिक्री के लिए रिटेल आउटलेट की डीलरशिप प्रदान करता है। केएसके आउटलेट ग्रामीण मार्केट में प्रमुख खिलाड़ी के रूप में उभरा है। फिलहाल ग्रामीण क्षेत्रों में काम कर रहे केएसके को टू टीयर और थ्री टीयर शहरों में भी खोले जाने पर विचार चल रहा है। किसान सेवा केंद्र रिटेल आउटलेट मॉडल के तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में डीजल की बिक्री के लिए रिटेल आउटलेट की डीलरशिप प्रदान करेगा। उपभोक्ता की मांग को पूरा करने में केएसके डीलर की मदद करता है। इसके अलावा केएसके पेस्टिसाइड्स, सब्जियां, बैंकिग प्रोडक्ट्स और स्टेशनरी आइटम्स भी मुहैया कराता है। 
 
क्या होगा केंद्र खुलने से फायदा
 
- किसान सेवा केंद्र खुलने से ग्रामीणों को पेट्रोल पम्प की जानकारी मुहैया कराई जाती है। 
- हर आवेदन के साथ ही केंद्र ग्रामीणों को पक्की रसीद मिलेगी। 
- पेट्रोल पम्प खरीदने वाले किसानों को बीमा का लाभ का भी मिलेगा।
 
आगे की स्लाइड में जानें साल भर में खुलेंगे कितने पेट्रोल पंप-
 
 
 
अगले एक साल में खुलेंगे 4 हजार पेट्रोल पंप
 
डीजल बिक्री पर तेल कंपनियों का घाटा खत्‍म होने के साथ ही सरकारी और प्राइवेट कंपनियों के बीच अपना रिटेल नेटवर्क बढ़ाने की होड़ मच गई है। अगले एक साल के भीतर देश में करीब चार हजार नए पेट्रोल पंप खुलने की संभावना है। अच्छी लोकेशन पर अपने पेट्रोल पंप खोलने के लिए इंडियन ऑयल ने अकेले पश्चिमी यूपी में 320 पेट्रोल पंप के लिए आवेदन मांगे हैं। आईओसी से मिली जानकारी के मुताबिक, कंपनी इस साल देश भर में करीब दो हजार रिटेल आउटलेट खोलने की तैयारी कर रही है। इसकी शुरुआत पश्चिमी उत्तर प्रदेश से हो चुकी है।
 
लॉटरी के जरिए होगा का आवंटन
 
किसान सेवा केंद्र आवदेक के सेलेक्शन प्रोसेस को अपने स्तर पर निपटाने के बाद कंपनी के पास आवेदन भेजेगी। इसके बाद कंपनी लॉटरी के जरिए डीलर का सलेक्शन करेगी। किसान सेवा केंद्र और ग्रामीण इलाकों में हाईवे पर खुलने वाले रूरल आउटलेट की लोकेशन का चयन तेल कंपनी खुद करेगी।
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss