• Home
  • Despite slump in agri commodity prices, unorganised biscuits and FMCG cos remains gloomy

अनाज की गि‍रती कीमतों पर भारी पड़ा VAT, नहीं सुधरा FMCG कंपनि‍यों का मार्जि‍न

CORPORATE TEAM

Nov 08,2014 11:53:00 AM IST
नई दि‍ल्‍ली। पि‍छले कुछ दि‍नों में एग्री कमोडि‍टी की कीमतों में भारी गि‍रावट दर्ज की गई है। इसके बावजूद छोटी बेकरी और एफएमसीजी कंपनि‍यों के प्रॉफिट मार्जि‍न में कोई सुधार नहीं आया है। इसके चलते कंपनि‍यां वि‍ज्ञापन पर अपना खर्च नहीं बढ़ा पा रही हैं। कंपनि‍यों के मुताबि‍क, एग्री कमोडि‍टी की कीमतों में कमी आ असर चालू वि‍त्‍त वर्ष की चौथी ति‍माही में दि‍खाई दे सकता है। प्रमुख एग्री कमोडि‍टी जैसे शुगर, पाम ऑयल, मेथा ऑयल और क्रूड ऑयल पर सि‍तंबर-अक्‍टूबर में ज्‍यादा सप्‍लाई और अत्‍याधि‍क उत्‍पादन का दबाव रहा। वहीं पिछली ति‍माही के दौरान इनकी कीमतों में 11 से 23 फीसदी की गि‍रावट दर्ज की गई है।

अंतरराष्‍ट्रीय मार्केट में एग्री कमोडि‍टी की कीमतें कम रहेंगी

चावल, तेल, चीनी, मेथा तेल, कच्‍चे तेल की कीमत घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में नि‍चले स्‍तर पर पहुंच गई हैं। चावल की कीमत अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में 4 साल के नि‍चले स्‍तर पर पहुंच गई है। वहीं, यूपी, महाराष्‍ट्र और कर्नाटक में चीनी का उत्‍पादन बढ़ने से कीमतें घट रही है।

चौथी ति‍माही में दि‍ख सकती है एफएमसीजी में राहत

अनमोल बि‍स्‍कुट के एक्‍जीक्‍यूटि‍व मि‍थेश मि‍श्रा ने कहा, ‘जमीनी स्‍तर पर कच्‍चे माल की लागत अब भी ज्‍यादा है जि‍सकी वजह से कंपनि‍यों की आमदनी पर कोई खास सकारात्‍मक प्रभाव नहीं पड़ा है। सारे प्रोडक्‍ट फॉरवर्ड कॉन्‍ट्रैक्‍ट में बुक होते हैं। कच्‍चे माल की ऊंची लागत के साथ-साथ बि‍स्‍कुट प्रोडक्‍ट पर 13.5 फीसदी वैट भी लगता है।’ उन्‍होंने यह भी कहा कि‍ कच्‍चे तेल के दाम कम होने के बाद भी ट्रांसपोर्ट के रेट में कोई कमी नहीं आई है। ऐसे में उनकी कंपनी को कोई फायदा नहीं मि‍ल रहा है।

कंपनी के मर्जि‍न पर नहीं होगा गिरती कीमतों का असर

मनी भास्कर से बात करते वक्‍त बिस्कुट नमकीन निर्माता प्रि‍यागोल्ड बिस्कुट्स के बी बी अग्रवाल ने कहा की भले ही बिस्कुट्स की मुख्‍य सामग्री जैसे चीनी,पाम ऑयल की कीमतों पर दबाव है पर इसका असर मर्जि‍न पर नही पड़ेगा क्‍योंकि‍ कुछ एग्री कमोडिटी की कीमतों पर दबाव है पर कुछ की कीमतें आसमान छू रही हैं जैसे की गेहूं के दामों में तेजी है। गेहूं MSP कीमतों से भी ज्यादा पर बि‍क रहा है। बात करते हुआ उन्होंने यह भी कहा की फ्लेवर्स, सोपरा और दूध की कीमतों में तेजी है। दूध की कीमतों में 12 फीसदी का उछाल है।
विज्ञापन पर नहीं बढ़ेगा खर्च
एग्री कमोडिटी की गि‍रती कीमतों का असर कंपनि‍यों की इनपुट कॉस्ट पर कम दि‍ख रहा है। पार्ले के डिप्टी मार्केटिंग मैनेजर मयंक शाह ने कहा कि इनपुट कॉस्ट में कमी का असर इस ति‍माही पर नहीं पड़ेगा। इसलिए कंपनी हाल फिलहाल में एडवरटाइजिंग खर्च बढ़ाने या घटाने के बारे में नहीं सोच रही है। उन्होंने कहा की अगर सारे एग्री कमोडिटी में 2 फीसदी की कमी आए तो कंपनी का मार्जि‍न एक फीसदी तक बढ़ता है।
प्रोडक्ट पोर्टफोलियो बढ़ने की उम्मीद
फिनेटिक वेल्थ सर्विसेज के डायरेक्टर विवेक नेगी का मानना है की गिरती कीमतों से FMCG कंपनियां अपने प्रोडक्ट पोर्टफोलियो को बढ़ा सकती हैं। बाजार में नए प्रोडक्ट नजर आ सकते हैं। कंपनि‍यां रिसर्च और डेवलपमेंट में भी और तेजी से काम कर सकती है।
X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.