Advertisement
Home » अपडेट » कमोडिटीFASTags to Be Available at Selected Petrol Pumps

यह बारकोड बनाएगा हाईवे पर आपके सफर को सुहाना, नहीं रुकना पड़ेगा देशभर के किसी भी टोल प्लाजा पर

बारकोड को यहां से खरीद पाएंगे यात्री

1 of

नई दिल्ली

हाईवे पर सफर करने वाले यात्रियों को आज से लंबी लाइनों में नहीं खड़ा होना पडे़गा। जी हां, देश के 800 पेट्रोल पंपों पर सोमवार से फास्टैग बारकोड उपलब्ध कराए जाएंगे। आपको बता दें कि मार्च तक देश के सभी नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर फास्टैग बारकोड अनिवार्य होगा। यात्री अगले 6 महीने तक देशभर के 25 हजार पेट्रोल पंपों से इस बारकोड को खरीद सकेंगे। 

फास्टैग्स की आसान उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा प्रवर्तित कंपनी भारतीय राजमार्ग प्रबंधन कंपनी लिमिटेड (IHMCL) 7 जनवरी 2019 को राज्य सरकार द्वारा संचालित तेल विपणन कंपनियों (IOCL,BPC और HPC) के साथ एक समझौते ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। पहले चरण में यह फास्टैग बारकोड दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के  50 तेल स्टेशनों पर उपलब्ध होंगे, इसके बाद इन्हें पूरे भारत के विक्रय केन्द्रों में विस्तारित किया जाएगा।

 

क्या होता है फास्टैग बारकोड

फास्टैग बारकोड से हाईवे के टोलप्लाजा में लगने वाली लंबी लाइनों को खत्म किया जा सकेगा। फास्टैग एक बारकोड स्टीकर होता है जिन्हें वाहनों में लगाया जाता है। यह बारकोड पेटीएम और बैंक अकाउंट से लिक होता है। इन फास्टैग बारकोड लगी गाड़ियों को किसी भी टोल प्लाजा से गुजरते हुए कैश नहीं देना पड़ेगा। साथ ही टोल प्लाजा सपर लगे सेंसर इस बारकोड को स्कैन कर लेंगे जिससे अपने आप ही पेमेंट हो जाएगी और गेट खुल जाएंगे। साथ ही फास्टैग बारकोड लगे वाहनों की टोल प्लाजा पर एक अलग लेन होगी। वहीं गैर फास्टैग बारकोड लगे वाहन यदि इस लेन से गुजरता है तो उन्हें जुर्माना देना होगा। 

Advertisement

देशभर के नेशनल हाइवे में 479 टोल प्लाजा

आपको बता दें कि अभी तक देशभर के नेशनल हाईवे में 479 टोल प्लाजा हैं। इन टोल प्लाजा से रोजाना 43 लाख वाहन गुजरते हैं। इन 479 टोल प्लाजा  में से 425 में फास्टैग लेन उपलब्ध हैं। जबकि बाकी बचे हुए टोल प्लाजा में मार्च तक यह सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।

IHMCL ने बनाई मोबाइल ऐप शुरू करने की योजना

इस सेवा को अधिक सुविधाजनक बनाने के लिए भारतीय राजमार्ग प्रबंधन कंपनी लिमिटेड (IHMCL) ने दो मोबाइल ऐप शुरू करने की योजना बनाई है। यह ऐप ग्राहकों को न सिर्फ फास्टटेग को अपने पसंदीदा बैंक खाते के साथ जोड़ने में सक्षम बनाएगा बलिक यूपीआई प्लेटफॉर्म के माध्यम से फास्टैग को रिचार्ज भी करेगा।   

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement