• Home
  • Tech
  • Apples four smartphones sales to be stopped in India iOS13 to be launched for the first time with support in 22 Indian languages

टेक /ऐपल के चार स्मार्टफोन की भारत में बिक्री बंद, आईफोन के लिए खर्च करने होंगे ज्यादा पैसे

  • एंट्री-लेवल आईफोन खरीदना महंगा हो जाएगा।

Moneybhaskar.com

Jul 15,2019 11:55:20 AM IST

नई दिल्ली. स्मार्टफोन निर्माता कंपनी ऐपल (Apple) ने अपने चार एंट्री लेवल स्मार्टफोन की बिक्री बंद कर दी है। यह सभी फोन कंपनी के कम बजट वाले स्मार्टफोन थे। इममें iPhone SE, iPhone 6, iPhone 6Plus और iPhone 6sPlus शामिल हैं। कंपनी के इस निर्णय के बाद अब भारतीय यूजर्स को एंट्री-लेवल आईफोन खरीदना महंगा हो जाएगा। इन स्मार्टफोन को खरीदने के लिए करीब 8000 रुपए तक ज्यादा खर्च करने होंगे। एप्पल भारत में जल्द आईफोन ऑपरेटिंग सिस्टम iOS 13 को पहली बार 22 भारतीय भाषाओं, मैप, वर्चुअल असिस्टेंट Siri के साथ जल्द भारत में पेश करेगा।

आईफोन का नया एंट्री लेवल स्मार्टफोन iPhone 6s होगा पेश

ईटी में छपी खबर के मुताबिक इन मॉडल्स की सप्लाई को पिछले महीने ही रोक दिया गया है। ऐसे में एप्पल अपनी नई रणनीति के तहत अब सेल की संख्या से ज्यादा वैल्यू पर फोकस करेगा। कंपनी ने बताया कि पुराने मॉडल्स के स्टॉक के खत्म होने के बाद भारत में आईफोन का नया एंट्री लेवल स्मार्टफोन iPhone 6s पेश होगा। बता दें कि आईफोन 6एस इस वक्त 29,500 रुपए की कीमत के साथ आता है। जबकि आईफोन SE का एंट्री लेवल स्मार्टफोन 21,000-22,000 रुपए में बिकता था।

नेट प्रॉफिट दोगुना बढ़कर हुआ 896 करोड़ रुपए

ऐपल ने यह फैसला साल 2018-19 में भारत में कंपनी के रेवेन्यू और प्रॉफिट में हुए सुधार के बाद लिया है। ऐपल की सेल में अप्रैल-जून में बढ़ोतरी हुई। वित्त वर्ष 2018 में ऐपल के रेवेन्यू 12 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 13,097 करोड़ हो गया। इसके साथ ही नेट प्रॉफिट दोगुना बढ़कर 896 करोड़ हो गया।

X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.