Home » States » UttarakhandTGBL aims to position brand Himalayan as a global label

दुनिया भर में बिकेगा इंडिया का पानी, टाटा ने बनाया प्लान

भारत में हिमालय की शिवालिक रेंज से निकलने वाला मिनरल वाटर अब दुनिया भर में बिकता नजर आएगा।

TGBL aims to position brand Himalayan as a global label

 

नई दिल्ली. भारत के सबसे महंगे पैकेज्ड वाटर में शुमार टाटा ग्रुप का हिमालयन अब दुनिया भर में बिकता नजर आएगा। टाटा ग्रुप की कंपनी टाटा ग्लोबल बेवरेजेस (टीजीबीएल) अपने पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर पोर्टफोलियो को मजबूत बनाने की दिशा में काम कर रही है। कंपनी ने अपने ब्रांड हिमालयन को ग्लोबल ब्रांड के तौर पर स्थापित करने के लिए ओवरसीज मार्केट में विस्तार करने का भी ऐलान किया है। हालांकि कंपनी अमेरिका और सिंगापुर में पहले से ही हिमालयन की बिक्री कर रही है।  

 

 

शिवालिक रेंज से निकलता है हिमालयन

हिमालयन को हिमालय पर्वत की शिवालिक रेंज के पहाड़ियों में स्थित एक्विफर से निकाला जाता है। कंपनी ने टाकिंग रेन के साथ डिस्ट्रीब्यूशन एग्रीमेंट के माध्यम से चरणबद्ध तरीके से अमेरिकी मार्केट में एंट्री की थी। 

 

 

अमेरिका और सिंगापुर में पहले बिक रहा है हिमालयन
टीजीबीएल ने अपनी ताजा एनुअल रिपोर्ट में कहा कि कंपनी की अपने हिमालयन नैचुरल मिनरल वाटर का अमेरिका और सिंगापुर के अलावा दूसरे देशों में भी विस्तार की योजना है। कंपनी ने कहा, ‘हालांकि वर्तमान में पानी की हमारे बेवरेज पोर्टफोलियो में मामूली हिस्सेदारी है, लेकिन यह एक अहम स्ट्रैटजिक बिजनेस है। इसमें आने वाले वर्षों में हमारी ग्रोथ अहम योगदान देने की संभावनाएं हैं।’

 

 

हिमालयन में ग्लोबल ब्रांड बनने की पूरी संभावना
टाटा ग्रुप की कंपनी ने कहा, ‘हमारी ग्रोथ के लिए घरेलू मार्केट के साथ ही इंटरनेशनल मार्केट्स पर भी नजर है, क्योंकि हम मानते हैं कि हमारे प्रीमियम वाटर ब्रांड हिमालयन में ग्लोबल ब्रांड बनने की पूरी संभावनाएं हैं।’

 

 

भारत में हैं तीन ब्रांड
वाटर सेगमेंट में टीजीबीएल के तीन ब्रांड-हिमालयन, टाटा वाटर प्लस और टाटा ग्लूको प्लस हैं। उसका भारत के भीतर इन प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग और डिस्ट्रीब्यूशन के लिए पेप्सिको, नरिश्को बेवरेजेस के साथ एक ज्वाइंट वेंचर है। टीजीबीएल ने कहा, ‘हमारी हिमालयन के लिए बड़ी महत्वाकांक्षी योजनाएं हैं और हमारी अमेरिका व सिंगापुर के आगे चरणबद्ध तरीके से अपने विस्तार की भी योजना है।’
कंपनी ने कहा कि विकसित बाजारों में प्रीमियम नैचुरल मिनरल वाटर और फंक्शन बेवरेजेस अग्रणी कैटेगरी हैं। हालांकि भारत में विटामिन और मिनरल्स के मिश्रण के साथ फंक्शन बेवरेजेस का ट्रेंड बढ़ रहा है। 

 

 

18 हजार करोड़ रु का है मार्केट
कंपनी ने वित्त वर्ष 18 की अपनी रिपोर्ट में कहा, ‘अगले कुछ साल के दौरान डिस्ट्रीब्यूशन और पहुंच बढ़ने के साथ वैल्यू ऐडेड वाटर सेगमेंट में अच्छी ग्रोथ बनी रहेगी।’ 
भारत का लिक्विड रिफ्रेशमेंट बेवरेज (एलआरबी) मार्केट लगभग 18,000 करोड़ रुपए का होने का अनुमान है और इसकी सालाना ग्रोथ 6 फीसदी के आसपास बनी हुई है। एलआरबी मार्केट में डेयरी, जूस, कॉर्बोनेटेड सॉफ्ट ड्रिंक और बल्क वाटर भी आते हैं। टीजीबीएल ने कहा, ‘एलआरबी में पैकेज्ड वाटर की हिस्सेदारी लगभग 18 फीसदी है और यह कैटेगरी खासी तेजी से बढ़ रही है।’

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट