Home » States » Uttarakhandby 12 rs item hul will take revenge from patanjali

12 रु के आइटम से पूरा होगा रामदेव से बदला, विदेशी कंपनी ने किया पलटवार

देश की सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर बाबा रामदेव की पतंजलि से मिला जख्म भूली नहीं होगी।

1 of

नई दिल्ली. देश की सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल) बाबा रामदेव की पतंजलि से मिला जख्म शायद अभी भूली नहीं है। इसीलिए एचयूएल ने अब ऐसा दांव चला है जिसका सामना करना पतंजलि के लिए आसान नहीं होगा। दरअसल एचयूएल ने मार्केट में एक 12 रुपए का आइटम उतारा है, जिससे पतंजलि को करोड़ों का नुकसान होने की संभावना है।

 

 

पतंजलि ने HUL के टूथपेस्ट मार्केट में लगाई थी सेंध

दरअसल पतंजलि ने अपना दंतकांति टूथपेस्ट मार्केट में उतार कर एचयूएल के मार्केट में तगड़ी सेंध लगाई थी। इससे एचयूएल के टूथपेस्ट ब्रांड क्लोज-अप और पेप्सोडेंट के मार्केट में कमी आई थी। इसके चलते एचयूएल की भारत के टूथपेस्ट मार्केट में हिस्सेदारी डेढ़ साल में 20 फीसदी से घटकर 17 फीसदी रह गई।

 

 

अब नूडल्स मार्केट में पतंजलि को चुनौती देगी HUL

एचयूएल ने अब भारतीय बाजार में अपना नॉर नूडल्स उतार दिया है, जिसके पैक की शुरुआती कीमत 12 रुपए है। माना जा रहा है इससे पतंजलि के लिए नूडल्स मार्केट में अपनी हिस्सेदारी बनाए रखना मुश्किल हो सकता है। पतंजलि फिलहाल अपने आटा नूडल्स ब्रांड के साथ भारत की तीसरी बड़ी नूडल्स कंपनी है।  हालांकि नेस्ले की मैगी नूडल्स 60 फीसदी हिस्सेदारी के साथ इस मार्केट की सबसे बड़ी कंपनी है। इसके बाद सनफीस्ट यिप्पी नूडल्स के साथ आईटीसी दूसरे नंबर पर है।

 

आगे भी पढ़ें

 

 

एचयूएल ने उतारा नूडल्स, पतंजलि के मार्केट में लगेगी सेंध

एचयूएल ने अब 4 हजार करोड़ रुपए के इंस्टैंट नूडल्स मार्केट में उतरने का ऐलान किया है। कंपनी ने अपने नॉर ब्रांड के तहत गुरुवार को महाराष्ट्र और दिल्ली में इंस्टैंड नूडल्स लॉन्च कर दिया। इसके एक पैक की कीमत 12 रुपए है। कंपनी की योजना नेस्ले इंडिया की मैगी और पतंजलि के आटा नूडल्स के मार्केट में सेंध लगाने की है।


12 रुपए कीमत के लॉन्च किए दो वैरिएंट

एचयूएल ने महाराष्ट्र और दिल्ली में 12 रुपए कीमत में नॉर इटैलियन और देसी नूडल्स लॉन्च करने का ऐलान किया है, जिसका वजन 66-68 ग्राम है। एचयूएल का इंस्टैंट नूडल्स सेगमेंट में उतरने का फैसला उसकी फूड सेगमेंट से इनकम बढ़ाना और कॉम्पिटीशन से पार पाने के लिए अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाना है।


आगे भी पढ़ें

 

टूथपेस्ट मार्केट में पतंजलि ने पहुंचाया है बड़ा नुकसान

एचडीएफसी सिक्युरिटीजी की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत का टूथपेस्ट मार्केट लगभग 10 हजार करोड़ रुपए का है। एचयूएल अपने टूथपेस्ट ब्रांड पेप्सोडेंट और क्लोजअप के साथ इस मार्केट की दूसरी बड़ी कंपनी है, लेकिन दंतकांति के आने के बाद से कंपनी लगातार अपना मार्केट शेयर गंवा रही है।

डेढ़ साल पहले तक दंतकांति की भारत के टूथपेस्ट मार्केट में 2.2 फीसदी हिस्सेदारी थी, जो अब (दिसंबर, 2017 तक) बढ़कर लगभग 11 फीसदी हो चुकी है।

वहीं डेढ़ साल पहले तक एचयूएल की भारत के टूथपेस्ट मार्केट में 20 फीसदी हिस्सेदारी थी, जो घटकर 17 फीसदी रह गई है।

कोलगेट 53 फीसदी हिस्सेदारी के साथ भारत की सबसे बड़ी टूथपेस्ट कंपनी बनी हुई है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट