बिज़नेस न्यूज़ » States » Uttar Pradeshनोवार्टिस आरोग्य का UP में टेलिमेडिसन पायलट प्रोजेक्ट शुरू, भदोही बना पहला जिला

नोवार्टिस आरोग्य का UP में टेलिमेडिसन पायलट प्रोजेक्ट शुरू, भदोही बना पहला जिला

उप्र के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है। लोग भी स्वास्थ्य के प्रति जागरूक नहीं है।

Novartis tellimedison service in UP pilot project started in Bhadohi यूपी में नोवार्टिस की टेलीमेडिसन सेवा

 

वाराणसी. उप्र के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है। लोग भी स्वास्थ्य के प्रति जागरूक नहीं है। नोवार्टिस आरोग्य परिवार के 10 साल पूरे होने पर पूर्वी उप्र के ग्रामीण क्षेत्र के जरूरतमंदों को निशुल्क टेली मेडिसिन से मदद देने की तैयारी की है, जिसकी शुरुआत पायलट प्रोजेक्ट के रूप में भदोही से होगी।

गांवों में स्वास्थ सेवाओं का ढांचा बेहद कमजोर और चिकित्सकों की संख्या बेहद कम है। आरोग्य परिवार ने स्वास्थ्य शिक्षक, डाक्टर, स्थानीय अस्पतालों को आपस में जोड़ने का मॉडल बनाया है। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का माता आनन्दमयी अस्पताल भी इस नेटवर्क का हिस्सा है।

 

यह भी पढ़ें : 5 लाख रु का फंड बनाने के ये हैं 5 तरीके, 2200 रुपए से शुरू करें निवेश

 

 

ट्रली मेडिसिन से हो रहा इलाज

टेली मेडिसिन की सुविधा दे रही आनन्दमयी चिकित्सालय की अधीक्षिका डा. प्रो. जान्नवी टंडन के मुताबिक टेलिमेडिसिन के जरिये विशेषज्ञ चिकित्सकों की मदद मरीज को आसानी से मिल सकेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को अपने स्वास्थ्य समस्याओं की जानकारी ही नहीं है। कई बार माहवारी का रक्त स्राव लंबे समय तक होने, मां-बच्चे के कुपोषण, बच्चों में सांस की बीमारी को गंभीरता से न लेना भारी पड़ता है। सांस की बीमारी और डायबिटिज के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। गांवों में चिकित्सा शिविरों के माध्यम से मरीजों को चिकित्सकों के पास भेजने और सूदूर गांव के लोगों को उनके नजदीक ही टेलिमेडिसिन की सुविधा वरदान साबित हो सकती है।

 

बताया अच्‍छा कदम

मिर्जापुर के धौरहरा गांव के ग्राम प्रधान, गांव के चिकित्सा शिविर में मरीजों की पहचान और फिर इलाज की सुविधा की जानकारी देने को अच्छा कदम मानते है। नोवार्टिस आरोग्य परिवार के कंट्री हेड लोकेश कुमार के मुताबिक हम सिर्फ पूर्व उप्र ही नही बल्कि पूरे उप्र और दूसरे राज्यों में काम कर रहे हैं।

 

यह भी पढ़ें : पहली सैलरी से बनाएं 1 लाख का फंड, ये हैं 3 बेस्ट ऑप्शन

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट