बिज़नेस न्यूज़ » States » Uttar Pradeshचार फेज में विकसित होगा जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट, पहले फेज के लिए होगी 3000 करोड़ की जरूरत

चार फेज में विकसित होगा जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट, पहले फेज के लिए होगी 3000 करोड़ की जरूरत

गौतम बुद्ध नगर जिले के जेवर के नजदीक नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे को चार चरणों में विकसित किया जाएगा

Jewar airport to be developed in four phases/चार फेज में विकसित होगा जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट

लखनऊ। गौतम बुद्ध नगर जिले के जेवर के नजदीक नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे को चार चरणों में विकसित किया जाएगा और इसके लिए जमीन खरीदने की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी। राज्‍य सरकार की ओर से कहा गया कि पहले चरण में 1206 हेक्‍टेयर जमीन का अधिग्रहण करने के लिए तकरीबन 3000 करोड़ रुपए की जरूरत होगी।  

 

मुख्‍यमंत्री आदित्‍यनाथ योगी की अध्‍यक्षता में मंगलवार को उत्‍तर प्रदेश कैबिनेट की बैठक में नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्‍ड एयरपोर्ट के विकास के लिए औपचारिकताओं को पूरा करने और सैद्धांतिक मंजूरी मांगने पर सहमति दे दी है।

 

3000 हेक्‍टेयर जमीन की आवश्‍यकता

 

इस एयरपोर्ट के लिए 3000 हेक्‍टेयर जमीन की आवश्‍यकता होगी। पहले चरण में 1206 हेक्‍टेयर जमीन के लिए लगभग 3000 करोड़ रुपए की जरूरत होगी। केंद्र सरकार ने 5 जुलाई को इस प्रोजेक्‍ट के लिए साइट क्लियरेंस अप्रूवल दिया था। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी 5 अक्‍टूबर को इस एयरपोर्ट के लिए एनओसी जारी की थी।  

 

ग्रेटर नोएडा में जेवर एनसीआर का दूसरा एयरपोर्ट होगा। सरकार का अनुमान है कि यह एयरपोर्ट अगले पांच या छह साल में परिचालन में आ जाएगा और इस पर तकरीबन 20,000 करोड़ रुपए का निवेश होगा। यह अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट अगले 10-15 सालों में प्रति वर्ष 3 से 5 करोड़ यात्रियों को हैंडल करेगा।


कई शहरों की जरूरतों को पूरा करेगा एयरपोर्ट 


नागरिक उड्डयन मंत्रालय का अनुमान है कि यह एयरपोर्ट संपूर्ण पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में कनेक्‍टीविटी को बढ़ावा देगी। यह एयरपोर्ट न केवल दिल्‍ली की बल्कि आगरा, मथुरा, बुलंदशहर और मेरठ की जरूरतों को पूरा करेगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट