Home » States » Uttar PradeshFood park project UP CM reaches out to Patanjali's Acharya Balkrishna फूड पार्क को लेकर योगी ने की आचार्य बालकृष्‍ण से बात, अधिकारियों को काम में तेजी लाने का दिया आदेश

योगी पर पतंजलि को भरोसा, फूड पार्क राज्‍य से बाहर ले जाने का बदल सकती है फैसला

योगी आदित्‍यनाथ ने अधिकारियों से पतंजलि आयुर्वेद के ग्रेटर नोएडा स्थित फूड पार्क के मामले को तेजी से हल करने को कहा है।

1 of
लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की तरफ से मिले आश्‍वासन के बाद पतंजलि ने फूड पार्क को दूसरे राज्‍य में ले जाने के फैसले पर पुनर्विचार का भरोसा दिया है। मंगलवार को आचार्य बालकृष्‍ण ने एक ट्वीट कर बताया था कि प्रदेश सरकार ने इस फूड पार्क को अनुमति देने से मना कर दिया है और वह इसे किसी दूसरे राज्‍य में ले जाने पर विचार कर रही है। इसके बाद बुधवार को योगी ने आचार्य बालकृष्‍ण से बात की और उन्‍हें मदद का भरोसा दिलाया।

 
योगी ने अधिकारियाें को दिया आदेश
बाद में बताया गया कि योगी ने अधिकारियों को फूड पार्क स्‍थापित करने की कार्रवाई को तेज करने का अधिकारियों को आदेश दिया था। 450 एकड़ बनने वाले इस फूड पार्क में करीब 6 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया जाना है। सूचना विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेट्री अवनीश अवस्‍थी ने इस मामले पर स्‍पष्‍टीकरण देते हुए कहा कि यह प्रोजेक्‍ट कैंसिल नहीं किया गया है। उनके अनुसार मुख्‍यमंत्री ने आचार्य बालकृष्‍ण से इस मामले में बात की है, और उनकी शिकायत को सुना। अवस्‍थी के अनुसार मुख्‍यमंत्री ने इस प्रोजेक्‍ट के प्रोसेस को तेज करने को कहा है।
 
बालकृष्‍ण का ट्वीट, जिसने बदली स्थिति
ग्रेटर नोएडा में केन्द्रीय सरकार से स्वीकृत मेगा फूड पार्क को निरस्त करने की सूचना मिली, श्रीराम व कृष्ण की पवित्र भूमि के किसानों के जीवन में समृद्धि लाने का संकल्प प्रांतीय सरकार की उदासीनता के चलते अधूरा ही रह गया #पतंजलि ने प्रोजेक्ट को अन्यत्र शिफ्ट करने का निर्णय लिया। यह ट्वीट मंगलवार को आचार्य बालकृष्‍ण ने किया था।
 
10 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार
मंगलवार को आचार्य बालकृष्‍ण ने कहा था कि इस प्रोजेक्‍ट से 10 हजार लोगों को सीधा रोजगार मिलेगा और 25 हजार करोड़ रुपए का वार्षिक उत्‍पादन होगा। यह प्रोजेक्‍ट 30 माह के अंदर बन कर तैयार हो जाएगा। उनके अनुसार इसके लिए वित्‍तीय संस्‍थानों का सहयोग भी प्राप्‍त कर लिया गया है।
 
एक माह का मिला था एक्‍सटेंशन
मंगलवार को पतंजलि ने बताया था कि मिनिस्‍ट्री ऑफ फूड प्रोसेसिंग इंडस्‍ट्रीज की तरफ से एक माह का अतिरिक्‍त समय दिया गया है, जो जून के अंत में खत्‍म हो रहा है। इस दौरान कंपनी को प्रोजेक्‍ट को लेकर सभी औपचारिकताएं पूरी करनी थीं। लेकिन उत्‍तर प्रदेश सरकार के फूड प्रोसेसिंग सेक्रेट्री जेपी मीना के अनुसार पतंजलि से औपचारिकताएं पूरा करने को कहा गया था, जो पूरी नहीं हों सकीं।
 
अखिलेश यादव ने रखी थी आधारशिला
वर्ष 2016 में तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने ग्रेटर नोएडा में फूड पार्क की आधारशिला रखी थी। यह फूड पार्क 425 एकड़ जमीन पर तैयार किया जाना था, जिस पर 6000 करोड़ रुपए की लागत आनी थी।
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट