बिज़नेस न्यूज़ » States » Uttar PradeshUP के झांसी में बनाया जाएगा डिफेंस कॉरिडोर, मिलेंगी नौकरियां

UP के झांसी में बनाया जाएगा डिफेंस कॉरिडोर, मिलेंगी नौकरियां

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के पिछडेपन को दूर करने के लिए सरकार ने पहल शुरू की है।

उत्‍तर प्रदेश में बुंदेलखंड के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए बनेगा डिफेंस कॉरिडोर - Government initiated the initiative to remove the backwardness of the Bundelkhand area of Uttar Pradesh

 

झांसी. उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के पिछडेपन को दूर करने के लिए सरकार ने पहल शुरू की है। इसी क्रम में झांसी जिले के 15 गांवों को मिलाकर डिफेंस काॅरिडोर के रूप मे विकसित किए जाने की योजना को मंजूरी दे दी गई है। बुंदेलखंड में डिफेंस काॅरिडोर के विकसित होने से बडी संख्या में यहां के युवाओं को रोजगार मिलने का रास्ता साफ हो जाएगा।

 

इन्‍वेस्‍टर्स समिट से होगी शुरुआत

उद्योग उपायुक्त सुधीर कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि झांसी में इंडस्ट्रियल टाउनशिप हब बनाने के लिए सैद्धांतिक मंजूरी मिल गयी है। 21 और 22 फरवरी को लखनऊ में होने वाली इन्‍वेस्‍टर्स समिट में निवेशक AMU पर हस्ताक्षर करेंगे।'

 

झांसी के 15 गांव चुने गए

राष्ट्रीय निवेश एवं विनिर्माण क्षेत्र के तहत 2015 में झांसी और औरेया को  चुना गया था। सर्वेक्षण के बाद औरेया में उचित वातावरण नहीं मिल पाने के कारण इस जिले को इस योजना से बाहर कर दिया गया। झांसी के 15 गांवों को डिफेंस काॅरिडोर के रूप में विकसित करने को मंजूरी दे दी गई है। राज्यपाल ने गजट प्रकाशित करते हुए झांसी जिले के 15 गांवों की 5567 एकड़ जमीन को राष्ट्रीय निवेश एवं विनिर्माण क्षेत्र की सूची में शामिल कर दिया है।

 

मिलेंगी नौकरियां

इस तरह का काॅरिडोर चेन्नई में भी विकसित किया जा रहा है। दोनों जगहाें में देश और विदेश की जानी मानी कम्पनियां निवेश करेंगी। बुंदेलखंड में डिफेंस काॅरिडोर के विकसित होने से बडी संख्या में यहां के युवाओं को रोजगार मिलने का रास्ता साफ हो जाएगा।

 

 

जमीन अधिग्रहण का काम जारी

सूत्रों के अनुसार यहां जमीन के आधिग्रहण का काम किया जा रहा है। यहां सेना के लिए बम, बारूद,अस्त्र शस्त्र और अन्य तरह के उपकरण बनाये जायेंगे। झांसी का बबीना क्षेत्र एशिया का सबसे बडा  सैनिक अभ्यास क्षेत्र है। इसी के पास खैरा गांव में डिफेंस एक्सपलोसिव यूनिट केे निर्माण का भी काम चल रहा है।   


 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट