बिज़नेस न्यूज़ » States » Rajasthanयूपी और राजस्‍थान में काल बनी आंधी, 100 से ज्‍यादा की मौत

यूपी और राजस्‍थान में काल बनी आंधी, 100 से ज्‍यादा की मौत

राजस्थान और उत्तर प्रदेश में बुधवार शाम आए बवंडर ने जमकर तबाही मचाई।

Over 100 killed in storm in UP and Rajasthan

नई दिल्‍ली। राजस्थान और उत्तर प्रदेश में बुधवार शाम आए बवंडर ने जमकर तबाही मचाई। चार राज्यों में आंधी और बारिश की वजह से 100 से ज्‍यादा लोगों की जान गई। 24 घंटे में राजस्थान में 30 से ज्‍यादा तो उत्तर प्रदेश में 73 लोगों की मौत हो गई। मध्यप्रदेश में 5 और बिहार में 2 लोगों की जान गई। वहीं 140 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं। इस बवंडर की रफ्तार 120 किमी प्रति घंटे रही। इस दौरान कई पेड़ और बिजली के खंभे धराशायी हो गए। कई जगह सड़कों पर और रेलवे ट्रैक पर पेड़ पोल गिरने से यातायात व्यवस्था ठप रही। 


पीएम और राष्‍ट्रपति ने दुख जाहिर किया 


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मौतों पर गहरा दुख जाहिर किया। प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रभावितों को राहत पहुंचाने के लिए संबंधित राज्यों से तालमेल बनाएं।

 

 

उत्तर प्रदेश: सबसे ज्यादा असर आगरा में,43 मौतें

- उत्तर प्रदेश में तेज आंधी और बारिश से 64 लोगों की मौत हो गई। आगरा में सबसे ज्यादा 43 लोगों की मौत हुई। राज्य में 83 लोग जख्मी हुए। अधिकारियों ने सभी प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव कार्य पहुंचाने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मरने वालों के परिवार को 4 लाख और घायलों को 50 हजार मुआवजा देने का ऐलान किया।

 

राजस्थान: सबसे ज्यादा 17 मौतें भरतपुर में

 

-आपदा प्रबंधन के हेमंत कुमार गेरा ने बताया, "राजस्थान में 3 जिले भरतपुर, धौलपुर और अलवर सबसे ज्यादा प्रभावित रहे। भरतपुर में 17, धौलपुर में 9,अलवर में 9 झुंझुनू 1 मौत हुई। 100 से ज्यादा लोग जख्मी हुए।"

- बीकानेर में 38 किमी घंटा की गति से चली आंधी चली। इस दौरान राज्य में 500 मीटर विजिबिलिटी रही। पारा 45 डिग्री से गिरकर 35 डिग्री पर आ गया। जयपुर में आंधी गति 18 किलोमीटर प्रति घंटा रही। आंधी से दृश्यता 500 मीटर ही रही। जयपुर में पारा 42.7 डिग्री था जो शाम को तेज हवाओं के कारण 8 डिग्री सेल्सियस कम हो गया।

- बुधवार को बूंदी के बाद जैसलमेर और कोटा का तापमान सबसे ज्यादा रहा। यहां 45 डिग्री सेल्सियस पारा दर्ज किया गया। वहीं, पिलानी में 23.7 एमएम बारिश दर्ज की गई।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट