Home » States » Rajasthanपुराने नोटों से बिजली का बिल जमा कराने वालों की सार्वजनिक होगी जानकारी - Electricity bill deposits with old n

नोटबंदी में पुराने नोटों से बिजली बिल जमा कराने वालों के नामों का होगा खुलासा, ये है आदेश

राजस्थान सूचना आयोग ने डिस्काॅम दौसा से नोटबंदी के दौरान बैंक में जमा कराए पुराने नोटों की सूचना देने को कहा है।

1 of

 

जयपुर. राजस्थान सूचना आयोग ने एक महत्वपूर्ण फैसले में जयपुर डिस्काॅम दौसा की तरफ से नोटबंदी के दौरान 8 से 10 नवम्बर 2016 की अवधि में बैंक में जमा कराए 500 और 1000 रुपए के नोटों की सूचना देने के निर्देश दिए हैं।

 

देश की सुरक्षा को खतरा बता नहीं दी थी जानकारी

बिजली वितरण कम्पनी जयपुर डिस्काॅम ने देश की सुरक्षा एवं अखण्डता को खतरा बताते हुए यह सूचना देने से इनकार कर दिया था, परन्तु सूचना आयोग ने इस तर्क को विवेकहीन और आपत्तिजनक मान कर ठुकरा दिया। बिजली कम्पनी के अधीक्षण अभियंता को आदेश दिया कि 21 दिन में आवेदक को 500 व 1000 रूपए के नोट बैंक में जमा कराने की पर्चियों की प्रतियां एवं अन्य सूचना दें।

 

 

यह भी पढ़ें : बिजली का बिल हो जाएगा आधा, अगर इन 5 उपकरणों का करेंगे इस्तेमाल

 

 

दूसरी अपील पर दिया आदेश

राजस्थान सूचना आयोग के सूचना आयुक्त आशुतोष शर्मा ने बांदीकुई निवासी हेमचन्द सैनी की दूसरी अपील पर यह फैसला सुनाया। सैनी ने 8 से 10 नवम्बर 2016 को नोटबंदी के दौरान बांदीकुई कार्यालय से बैंक में जमा हुए 500 व 1000 रूपए के पुराने नोटों की जमा पर्चियां, पासबुक की प्रति, जमा करवाने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों का नाम आदि सूचना मांगी थी। बिजली कम्पनी ने सैनी को सूचना देने से इनकार कर दिया था।

 

 

इस कार्यालय की जांच कर रही है CBI

सूचना आयोग ने अपने फैसले में बिजली कम्पनी के अधिकारियों को चेतावनी भी दी है कि सूचना आवेदनों का गम्भीरता व संवेदनशीलता से निपटारा करें। उल्लेखनीय है कि नोटबंदी के दौरान दौसा क्षेत्र में बिजली कम्पनी के कर्मचारियों व बैंक अधिकारियों की मिलीभगत से गलत तरीके से पुराने नोट बदलने के कई मामले सामने आए थे, जिनकी CBI जांच भी कर रही हैं।


यह भी पढ़ें : अगर ज्यादा आ रहा है बिजली का बिल, तो इन तरीकों से करें चेक

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट