बिज़नेस न्यूज़ » States » Punjabइस इंडियन ने उड़ाई दुनिया के सबसे अमीर की नींद, कभी करता था उसकी नौकरी

इस इंडियन ने उड़ाई दुनिया के सबसे अमीर की नींद, कभी करता था उसकी नौकरी

दुनिया के सबसे अमीर और अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस के लिए ऐसा शख्स मुसीबत बन गया है, जो कभी उन्हीं की नौकरी करता था।

1 of

नई दिल्ली. दुनिया के सबसे अमीर और अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस के लिए ऐसा शख्स मुसीबत बन गया है, जो कभी उन्हीं के यहां नौकरी किया करता था। दिलचस्प यह है कि यह शख्स एक इंडियन है। इस शख्स ने बेजोस की ऐसी नींद उड़ा रखी है कि वह उससे निबटने के लिए हजारों करोड़ रुपए खर्च करने पर आमादा हैं, लेकिन उनकी मुसीबत खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है।

 

यह इंडियन बना मुसीबत
हम बात कर रहे हैं फ्लिपकार्ट के फाउंडर सचिन बंसल की, जो कभी अमेजन में ही नौकरी किया करते थे। बंसल चंडीगढ़ में पले-बढ़े और उन्होंन आईआईटी में पढ़ाई की। बंसल ने 2006 में अमेजन को ज्वाइन किया था और 2007 में नौकरी छोड़कर भारत में ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिकार्ट की शुरुआत की, जो इस समय भारतीय की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी बन चुकी है। अब बंसल खुद अमेजन के लिए भारत में सबसे बड़ी बाधा बन गए हैं। यही वजह है कि दुनिया के सबसे अमीर शख्स बेजोस की कंपनी को भारतीय बाजार में पैठ बनाने के लिए हजारों करोड़ रुपए खर्च कर रही है। 

 

अमेजन के लिए सिरदर्द बनी फ्लिपकार्ट
अमेजन दुुनिया भर में बिजनेस बढ़ाने के लिए भारत को एक अहम मार्केट मान रही है। उसकी वित्त वर्ष 2018-19 में 5 अरब डॉलर यानी 32 हजार करोड़ रुपए के निवेश की योजना है। हालांकि इससे इंडियन मार्केट में फ्लिपकार्ट की चुनौती पर असर पड़ने की उम्मीद कम ही है। ऐसे में अमेजन अब फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए दांव चलने जा रही है।

 

 

आगे भी पढ़ें


 

फ्लिपकार्ट को खरीदने की पेशकश कर सकती है अमेजन
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेजन अब फ्लिपकार्ट को खरीदने की पेशकश कर सकती है। दरअसल दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी पहले भी फ्लिपकार्ट को खरीदने की नाकाम कोशिश कर चुकी है। अमेजन ने इससे पहले भी फ्लिपकार्ट की कंट्रोलिंग स्टेक खरीदने के लिए बातचीत की थी, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। 
इस घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले एक शख्स ने रॉयटर्स को बताया कि अमेजन के साथ डील होने की उम्मीदें कम हैं और अगर ऐसी कोई डील होती है तो मार्केट पर एकाधिकार जैसी स्थिति पैदा हो सकती है, क्योंकि भारत के ई-कॉमर्स मार्केट की बड़ी हिस्सेदारी पर फ्लिपकार्ट और अमेजन का कब्जा है।

 

आगे भी पढ़ें


 

वालमार्ट से मिल रही है तगड़ी टक्कर
अमेजन को अब अमेरिका की एक अन्य कंपनी से टक्कर मिल रही है। यह कंपनी है वालमार्ट, जो दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी है। वालमार्ट फिलहाल फ्लिपकार्ट की 40 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए बातचीत कर रही है, जो उसकी अब तक की सबसे बड़ी ओवरसीज डील हो सकती है। इस डील से वालमार्ट की ई-कॉमर्स मार्केट में पहुंच सुनिश्चित होगी। यह मार्केट एक दशक में 200 अरब डॉलर होने का अनुमान है।

 

आगे भी पढ़ें

भारत में 5 अरब डॉलर का निवेश करेगी अमेजन
इस डील से एशिया की तीसरी बड़ी इकोनॉमी में अमेजन को सीधे तौर पर चुनौती मिलेगी। अमेजन ने अपने ऑनलाइन ग्रॉसरी मार्केट में विस्तार के लिए 5 अरब डॉलर के निवेश की प्रतिबद्धता जाहिर की है।
रिपोर्ट के मुताबिक वालमार्ट प्राइमरी और सेकंडरी शेयर परचेज के माध्यम से फ्लिपकार्ट की मेजॉरिटी स्टेक खरीदेगी, जिससे भारतीय कंपनी की वैल्यु 21 अरब डॉलर हो सकती है।

 

40 फीसदी मार्केट पर है फ्लिपकार्ट का कब्जा
अमेजन के पूर्व इम्प्लॉई सचिन बंसल और बिनी बंसल द्वारा वर्ष 2007 में स्थापित फ्लिपकार्ट का भारत के 40 फीसदी ऑनलाइन रिटेल मार्केट पर कब्जा है। रिसर्च कंपनी फॉरेस्टर के मुताबिक अमेजन फिलहाल फ्लिपकार्ट से पीछे है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट