बिज़नेस न्यूज़ » States » Madhya Pradeshइंदौर देश का सबसे साफ-सुथरा शहर, स्वच्छता सर्वे में भोपाल दूसरे और चंडीगढ़ तीसरे पर

इंदौर देश का सबसे साफ-सुथरा शहर, स्वच्छता सर्वे में भोपाल दूसरे और चंडीगढ़ तीसरे पर

सरकार के स्वच्छता सर्वे में इंदौर को देश का सबसे साफ-सुथरा शहर चुना गया है।

1 of

नई दिल्ली। सरकार के स्वच्छता सर्वे में इंदौर को देश का सबसे साफ-सुथरा शहर चुना गया है। यह लगातार दूसरा मौका है, जब इंदौर को इस सर्वे में पहला स्थान मिला है। सर्वे में इंदौर के बाद भोपाल और चंडीगढ़ का नाम है। भोपाल भी लगातार दूसरे साल टॉप 2 में स्थान पाने में कामयाब रहा है। मिनिस्टर ऑफ स्टेट फॉर हाउसिंग हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार को सर्वे रिपोर्ट के बारे में जानकारी दी है। स्टेट कैपिटल में ग्रेटर मुंबई को देश में सबसे स्वच्छ चुना गया है। 

 

 

झारखंड का प्रदर्शन सबसे अच्छा
सर्वे में झारखंड को स्वच्छता के मामले में सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाले राज्य के रूप में चुना गया है। झारखंड के बाद महाराष्‍ट्र दूसरे और छत्तीसगढ़ तीसरे नंबर पर हैं। इस बार सर्वे में स्थानीय नागरिकों से सफाई के बारे में मिलने वाले फीडबैक को प्राथमिकता दी गई है। नागरिकों द्वारा यह फीडबैक उनके रोजाना के अनुभवों के आधार पर लिया गया है। 

 

4041 शहरों में किया गया सर्वे 
2018 स्वच्छता सर्वेक्षण के नतीजे देशभर के 4041 शहरों के सर्वे के बाद जारी किए गए हैं। जबकि पिछले साल के नतीजे सिर्फ 434 शहरों में किए गए सर्वे के आधार पर दिए गए थे। इसी के चलते केंद्र सरकार इसे दुनिया का सबसे बड़ा स्वच्छता सर्वेक्षण कहा है। पहला स्वच्छता सर्वेक्षण 2016 में किया गया था। हालांकि, तब इसमें सिर्फ 73 शहरों को ही शामिल किया गया था। 2016 में कर्नाटक के मैसूर को भारत के सबसे स्वच्छ शहर का दर्जा दिया गया था। 

 

किस पैमाने पर हुआ सर्वे 
- कॉलोनियों, बस्तियों, पुराना शहर, अव्यवस्थित और व्यवस्थित बसा क्षेत्र साफ है या नहीं?
- महिला और पुलिस पब्लिक और कम्युनिटी टॉयलेट। क्या इन्हें बच्चे भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
- टॉयलेट की सफाई के साथ रोशनदान, जलप्रदाय, लाइट के इंतजाम।
- टॉयलेट एरिया में ड्रेनेज सिस्टम।
- टॉयलेट में स्वच्छ भारत मिशन के संदेश वाले होर्डिंग, बैनर, वॉल पेंटिंग।
- मार्केट में सफाई व्यवस्था।
- सब्जी, फल, मीट या फिश मार्केट में साइट कंपोस्टिंग, वेस्ट ट्रांसफर स्टेशन और प्राइमरी वेस्ट कलेक्शन सेंटर की जानकारी।
- सफाई को लेकर लगे साइन बोर्ड।
- रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर सफाई व्यवस्था।
- मुख्य स्टेशन पर रेलवे ट्रैक या प्लेटफॉर्म के आसपास 500 मीटर क्षेत्र में कहीं खुले में शौच तो नहीं की जा रही?
- शहर में लगे डस्टबीन के बारे में जानकारी और उसके इस्तेमाल को लेकर जागरुकता।

 

आगे भी पढ़ें, क्या पूछे गए सवाल......

 

 

टीम ने लोगों से क्या सवाल पूछे?


- क्या आपको यह जानकारी है कि आपका शहर स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में हिस्सा ले रहा है?
- आपका क्षेत्र क्या पिछले साल की अपेक्षा ज्यादा साफ है?
- क्या इस साल आपने व्यावसायिक क्षेत्रों में लगे लिटरबिन का उपयोग शुरू किया है?
- क्या आप इस साल पृथकीकृत (गीला-सूखा) घर-घर कचरा संग्रहण से संतुष्ट हैं?
- क्या पिछले साल की अपेक्षा मूत्रालय-शौचालय की व्यवस्था बढ़ी है जिसके कारण लोगों ने खुले में पेशाब और शौच करना बंद किया है?
- क्या सार्वजनिक और सामुदायिक शौचालय पहले की अपेक्षा ज्यादा साफ हैं और उन तक पहुंचना आसान है?

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट