बिज़नेस न्यूज़ » States » Maharashtraमहाराष्‍ट्र में प्‍लास्टिक व थर्मोकॉल पर प्रतिबंध लागू, 3 माह की हो सकती है जेल

महाराष्‍ट्र में प्‍लास्टिक व थर्मोकॉल पर प्रतिबंध लागू, 3 माह की हो सकती है जेल

कैरी बैग, थर्मोकॉल सहित प्लास्टिक वस्तुओं के इस्तेमाल पर महाराष्ट्र सरकार का प्रतिबंध शनिवार से लागू हो गया है।

Plastic ban in Maharashtra

मुंबई. कैरी बैग और थर्मोकॉल सहित प्लास्टिक वस्तुओं के इस्तेमाल पर महाराष्ट्र सरकार का प्रतिबंध शनिवार से लागू हो गया। महाराष्‍ट्र सरकार के कानून के मुताबिक, प्‍लास्टिक प्रतिबंध की पालना न करने वालों को तीन माह की जेल का प्रावधान किया गया है। 

 

सबके समर्थन की जरूरत 

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बताया कि प्लास्टिक प्रतिबंध केवल तभी सफल हो सकता है जब सभी लोग इस कदम का समर्थन करें। उन्‍होंने कहा कि हम प्लास्टिक के जिम्मेदार उपयोग को बढ़ावा देना चाहते हैं। इसलिए, हमने उस तरह के प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगा दिया है जिसे इक्‍ट्ठा करना, रेग्‍युलेट और रिसाइकिल नहीं किया जा सकता है।

 

यह होगी सजा 
उन्‍होंने कहा कि कानून के मुताबिक पहली बार उल्‍लंघन करने वाले व्‍यक्ति पर 5000 रुपए के जुर्माने का प्रावधान है, दूसरी बार उल्‍लंघन करने पर 10 हजार रुपए और तीसरी बार उल्‍लंघन करने पर 3 माह की कैद और 25 हजार रुपए का प्रावधान किया गया है। 

 

बिजनेस को प्रभावित होने से बचाएंगे 
मुख्‍यमंत्री ने कहा कि इस प्रतिबंध का मकसद प्रदूषण फैलाने वालों को रोकना है, लेकिन इससे बिजनेस पर कोई प्रभाव नहीं पड़े, इसलिए मार्केट में किसी ठोस विकल्‍प की संभावना तलाशी जा रही है। उन्‍होंने कहा कि हम पुलिस राज को प्रमोट नहीं करना चाहते और हम ट्रेडर्स और छोटे वेंडर्स की समस्‍याओं का समाधान भी करना चाहते हैं। 

 

3 माह का समय दिया गया था 
गौरतलब है कि महाराष्‍ट्र सरकार ने 23 मार्च को राज्य में प्‍लास्टिक उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया था। इसमें, प्लास्टिक का निर्माण, उपयोग, बिक्री, वितरण और भंडारण शामिल हैं। इसके अलावा एक बार उपयोग वाले बैग, चम्मच, प्लेट्स, पीईटी और पीईटीई बोतलें और थर्मोकॉल आइटम जैसी सामग्री पर भी रोक लगा दी गई थी। हालांकि सरकार ने  मौजूदा चीजों के निपटारे के लिए सरकार ने तीन महीने का समय दिया था।

 

आज से लगा प्रतिबंध 
उधर, राज्य पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने कहा कि सभी प्रकार के प्लास्टिक बैग, चाहे उनकी मोटाई, चाय कप, चश्मा, थर्मोकॉल चश्मे, थर्मोकॉल सजावट के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं, प्लास्टिक में बक्से जैसे पार्सल, भोजन के लिए इस्तेमाल होने वाली चम्मच पर आज से प्रतिबंधित लगा दिया गया है। 

 

दूसरे राज्‍यों से लाने पर भी प्रतिबंध 
मंत्री ने कहा कि अगर ये प्रतिबंधित चीजें, किसी अन्य राज्य से महाराष्ट्र में लाई जाएंगी तो सरकार ने तीन महीने की जेल का सख्त प्रावधान किया है। 

 

इन्‍हें दी गई है छूट 

कदम ने कहा कि मैन्‍युफैक्‍चरिंग कंपनियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले प्लास्टिक और थर्मोकॉल, बोतलों जैसे अस्पतालों में उपयोग की जाने वाली सामग्री, और मोटाई में 50 माइक्रोन से ऊपर की दवाओं, प्लास्टिक के पेन्स, दूध पाउच को स्टोर करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले बक्से को प्रतिबंध से छूट दी गई है।
- इसके अलावा प्लास्टिक और थर्मोकॉल पैकेजिंग में कुछ हद तक छूट दी गई है। जैसे टेलीविजन सेट, फ्रिज, कंप्यूटर के साथ-साथ रेनकोट के तौर पर इस्‍तेमाल होने वाली प्लास्टिक, अनाज भंडार करने के लिए इस्तेमाल होने वाली प्‍लास्टिक, पौधों के लिए नर्सरी में इस्तेमाल वाली प्‍लास्टिक, बिस्कुट, चिप्स आदि की पैकिंग को प्रतिबंध से छूट दी गई है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट