Home » States » MaharashtraVijay Mallya s fate depends on power british advocate Clare Montgomery

इस महिला के हाथ में है माल्या की किस्मत, हर घंटे के लेती है 1.60 लाख रु

विजय माल्या की लाइफ में महिलाएं हमेशा खास रही हैं।

1 of
 
लंदन. विजय माल्या की लाइफ में महिलाएं हमेशा खास रही हैं। उन्होंने जहां दो शादियां कीं, वहीं भारत से भागते समय भी वह अपनी गर्लफ्रेंड को साथ में ले जाना नहीं भूले। अब 9 हजार करोड़ के बकायेदार इस अरबपति को वापस लाने के लिए भारत सरकार पीछे पड़ी हुई है तो अब भी उनकी किस्मत एक महिला के हाथों में हैं। कहा जा रहा है कि यही महिला माल्या को भारत सरकार के चंगुल में फंसने से बचा सकती है। जो हर घंटे की फीस के तौर पर 2 लाख रुपए वसूलती है।
 
 
माल्या का केस लड़ रही है यह महिला
दरअसल माल्या को वापस लाने के लिए भारत सरकार लंदन में केस लड़ रही है और उसके सामने सबसे बड़ा चैलेंज के तौर पर एक महिला खड़ी हो गई है। यह हैं बैरिस्टर क्लेयर मॉन्टगोमरी, जो माल्या की तरफ से केस लड़ रही हैं। इन्हें प्रत्यर्पण और इंटरनेशन क्रिमिनल लॉ का तगड़ा अनुभव है। इसीलिए वह इतनी ज्यादा फीस वसूलती हैं, जिसे सुनकर आप हैरत में पड़ जाएंगे।
 
 
 
आगे पढ़ें-कितनी लेती हैं फीस
 
 
हर घंटे के लेती हैं 1.60 लाख रुपए
2014 की एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बैरिस्टर क्लेयर मॉन्टगोमरी खासी चर्चित वकील हैं, इसीलिए वह घंटे के हिसाब से फीस वसूलती हैं। वह हर घंटे के लगभग 1.60 लाख रुपए लेती हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में खुलासा किया गया कि वह रोज की फीस के तौर पर 13 लाख रुपए लेती हैं।
ऐसा माना जा रहा है कि अपनी इसी वकील के चलते माल्या को भारत नहीं सौंपे जाने का भरोसा है। मीडिया से बातचीत में उनका यह भरोसा जाहिर भी होता है।
 
 
आगे भी पढ़ें
वकील ने कोर्ट में दीं ये दलीलें
मॉन्टगोमरी पहले ही दिन माल्या की पैरवी करते हुए कहा कि फ्रॉड के केस के सपोर्ट में उनके पास कोई सबूत नहीं है। मॉन्टगोमरी ने दावा किया कि भारत सरकार के निर्देश पर सीपीएस द्वारा धोखाधड़ी के सपोर्ट में पेश किए गए सबूत 'जीरो' के सामान हैं, जिसे उन्होंने 'पूरी तरह से भारत सरकार की नाकामी करार दिया।'
उन्होंने दावा किया कि सरकार के पास माल्या को धोखेबाज करार देने का कोई पुख्ता मामला नहीं है।
 
 
माल्या पर है इतना कर्ज
31 जनवरी 2014 तक किंगफिशर एयरलाइन्स पर बैंकों का 6,963 करोड़ रुपए बकाया था। इस कर्ज पर इंटरेस्ट के बाद माल्या की टोटल लायबिलिटी 9,432 करोड़ रुपए हो चुकी है।
सीबीआई ने 1000 से भी ज्‍यादा पेज की चार्जशीट में कहा कि किंगफिशर एयरलाइन्स ने IDBI की तरफ से मिले 900 करोड़ रुपए के लोन में से 254 करोड़ रुपए का निजी इस्‍तेमाल किया।
किंगफिशर एयरलाइन्स अक्टूबर 2012 में बंद हो गई थी। दिसंबर 2014 में इसका फ्लाइंग परमिट भी कैंसल कर दिया गया।
डेट रिकवरी ट्रिब्‍यूनल ने माल्या और उनकी कंपनियों UBHL, किंगफिशर फिनवेस्ट और किंगफिशर एयरलाइन्स से 11.5% प्रति साल की ब्याज दर से वसूली की प्रॉसेस शुरू करने की इजाजत दी थी।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट