बिज़नेस न्यूज़ » States » Haryanaजो मोदी नहीं कर पाए सचिन ने किया मुमकिन, कर रहा लाखों की कमाई, किसानों को भी कराया फायदा

जो मोदी नहीं कर पाए सचिन ने किया मुमकिन, कर रहा लाखों की कमाई, किसानों को भी कराया फायदा

एक शख्‍स ऐसा भी है जो अपने वेंचर के जरिए किसानों का दर्द को सुन रहा है और उनके हिस्‍से का लाभ दे रहा है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए जरूरी कानून बनाने और किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्र सरकार लगातार प्रयास कर रही है। हालांकि इसके बावजूद बिचौलियों का प्रभाव कम नहीं हो रहा है। यही वजह है कि तमाम प्रयासों के बावजूद किसानों को उनके हिस्‍से का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

 

लेकिन एक शख्‍स ऐसा भी है जो अपने वेंचर के जरिए किसानों का दर्द को सुन रहा है और उनके हिस्‍से का लाभ दे रहा है। इस शख्‍स का नाम सचिन देव वशिष्‍ठ है। हरियाणा के अंबाला के रहने वाले सचिन की पहल से न सिर्फ किसानों को फायदा पहुंच रहा है बल्कि उन्‍हें भी लाखों में कमाई हो रही है। तो आइए जानते हैं सचिन देव वशिष्‍ठ की सफलता की कहानी।   

 

 

सचिन ने ऐसे की शुरुआत

दरअसल, सचिन केसर का कारोबार करते हैं। वह केसर उगाने वाले किसानों और कस्‍टमर्स के बीच 'किंग केसरिया' एक पूल का काम कर रहे हैं। मनीभास्‍कर को दिए इंटरव्‍यू में सचिन ने बताया, मूल रूप से जम्‍मू - कश्‍मीर के किसानों को ध्‍यान में रखकर मैंने इस कारोबार की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि केसर की खेती करने वाले किसानों को अपने ही देश में उचित दाम नहीं मिल पा रहा है, बल्कि किसानों की मेहनत को बिचौलियों के जरिए सऊदी अरब के शेखों तक ऊंचे दाम पर पहुंचा दिया जाता है। ऐसे में हमारे लिए किसानों से सीधे संपर्क जरूरी था।

 

 

एनजीओ की मिली मदद

सचिन आगे बताते हैं कि उन्‍हें इस काम में एनजीओ की मदद मिली। इस एनजीओ के जरिए केसर उगाने वाले किसानों से संपर्क हुआ। मैंने उनके लिए फूड सप्लायर का काम किया। सचिन बताते हैं कि देखते ही देखते हमारा आइडिया हिट हो गया और हेल्‍थ को लेकर अवेयर रहने वाले देश- विदेश से लोगों ने हमें ऑर्डर देना शुरू कर दिया।

 

आगे भी पढ़ें

 

 

 

1 ग्राम के पाउच से की शुरुआत

सचिन बताते हैं कि किंग केसरिया ने मार्केट में कारोबार की शुरुआत छोटी पैकिंग उतार कर की। उन्‍होंने कहा कि 1 ग्राम केसर को​ छोटे जिप पाउच में डालकर हमने लोगों को डिलिवरी करना शुरू किया। बाद में सचिन ने पार्ट टाइम जॉब शुरू कर की और पैसे जुटाकर ई-कॉमर्स वेबसाइट kingkesariya.co.in लांच किया। सचिन कहते हैं कि‍ हमें किसानों और कस्‍टमर्स का भरोसा जितना था। जिसमें काफी हद तक कामयाब हुए हैं।  

 

 

आगे भी पढ़ें 

 

 

30 लाख की सालाना कमाई   

सचिन का कहना है कि उनके वेंचर का 30 लाख रुपए का सालाना कमाई  है। उन्‍होंने बताया कि हमारे कस्‍टमर देश के अलावा विदेश में भी हैं। यही नहीं, ब्रिटेन के एक जर्नल ने किंग केसरिया को दुनिया की टॉप 3 एग्री ई- कॉमर्स वेबसाइट्स की सूची में रखा है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट