बिज़नेस न्यूज़ » States » Haryanaहरियाणा का 1.15 लाख करोड़ का बजट पेश, एग्रीकल्चर और हेल्थ पर रहा फोकस

हरियाणा का 1.15 लाख करोड़ का बजट पेश, एग्रीकल्चर और हेल्थ पर रहा फोकस

हरियाणा के फाइनेंस मिनिस्टर कैप्टन अभिमन्यु ने मनोहर खट्टर सरकार का 1.15 लाख करोड़ रुपए का चौथा बजट पेश कर दिया है।

1 of

चंडीगढ़। हरियाणा के फाइनेंस मिनिस्टर कैप्टन अभिमन्यु ने मनोहर खट्टर सरकार का 1.15 लाख करोड़ रुपए का चौथा बजट पेश कर दिया है। जीएसटी लागू होने के बाद राज्य का यह पहला बजट है। फाइनेंस मिनिस्टर ने कहा कि यह बजट राज्य की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाया गया है। हरियाणा का साल 2018-19 का बजट बीते साल के बजट की तुलना में 12.6 फीसदी अधिक है। बजट में किसी भी तरह का नया टैक्स नहीं लगाया गया है। इंडस्ट्री के लिए इस्तेमाल होने वाली प्राकृतिक गैस पर 12.5 फीसदी टैक्स घटाकर 6 फीसदी कर दिया है।

 

एग्रीकल्चर सेक्टर के लिए की ये घोषणाएं..

 

सरकार ने कृषि को लाभकारी बनाने, कृषि उत्पादकता बढ़ाने तथा किसान परिवारों और भूमिहीन श्रमिकों के शारीरिक, वित्तीय और मनोवैज्ञानिक दवाब को कम करने के लिए उपाय करने हेतु ‘हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण’ स्थापित करने का निर्णय लिया है। इस सम्बन्ध में एक विधेयक इस सदन के चालू सत्र में लाए जाने की सम्भावना है।

 

    आवारा बैलों को समस्या से दिलाएंगे छुटकारा


    आवारा बैलों की समस्या से निपटने के साथ-साथ मादा पशुओं की संख्या में वृद्धि करके दूध उत्पादन बढ़ाने के प्रयासों में, सरकार का वर्ष 2018-19 में बड़े पैमाने पर सेक्सड सीमन टैक्नोलोजी अपनाने का प्रस्ताव है। इस तकनीक के तहत गाय के 90 प्रतिशत से अधिक बछिया पैदा होंगे।

     

    अम्बाला में बनेगा पशुधन विकास डिप्लोमा कॉलेज


    पशु चिकित्सा क्षेत्र में शिक्षा के अवसर उपलब्ध करवाने के लिए लाला लाजपत राय पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्विद्यालय, हिसार के तहत एक पशु चिकित्सा पशुधन विकास डिप्लोमा कॉलेज लखनौर साहिब, अम्बाला में स्थापित किया जाएगा।

     

    15,000 हैक्टेयर क्षेत्र में लगाए जाएंगे पेड़
     

    वर्ष 2018-19 के दौरान लगभग 15,000 हैक्टेयर क्षेत्र में वनीकरण किया जाएगा।

     

    एसवाईएल योजना के लिए 100 करोड़ किए आवंटित


    एसवाईएल परिजयोजना के लिए वर्ष 2018-19 में के लिए 100 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। बजट के दौरान फाइनेंस मिनिस्टर ने कहा कि अगर एसवाईएल योजना के लिए 1,000 करोड़ रुपए की जरूरत होगी तो वह भी सरकार देगी।

     

    हेल्थ सेक्टर के लिए किए ये ऐलान


    हेमोडायलिसिस सेवाएं 7 नागरिक अस्पतालों (पंचकूला, गुरुग्राम, जींद, फरीदाबाद, सिरसा, हिसार और अम्बाला छावनी) में शुरू की जाएगी। इसके अलावा ये जल्द ही अन्य जिलों के नागरिक अस्पतालों में शुरू की जाएगी।

     

    आगे पढ़ें - हेल्थ सेक्टर के लिए कि क्या घोषणाएं

     

     

    फरीदाबाद और गुड़गांव में ह्दय चिकित्सा सुविधा
     

    फरीदाबाद और गुड़गांव में हृदय चिकित्सा सेवाएं अर्थात कार्डियक कैथ लैब और कार्डियक केयर यूनिट्स और एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी जैसी सेवाएं तथा 20 बिस्तरों वाली कार्डियक केयर यूनिट्स शुरू किए जाने की योजना है।

     

    महेंद्रगढ़ और गुड़गांव में मेडिकल कॉलेज खोलने के प्रस्ताव
     

    महेन्द्रगढ़ में एक चिकित्सा महाविद्यालय खोलने का प्रस्ताव है। वहीं नगर निगम गुड़गांव और श्री माता शीतला देवी पूजा स्थल बोर्ड, गुड़गांव के सहयोग से गुड़गांव में एक मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जाने का प्रस्ताव है।

    prev
    next
    मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट