बिज़नेस न्यूज़ » States » Gujaratगुजरात बजट: किसानों को मिलेगा जीरो फीसदी पर कर्ज, 30 हजार युवाओं को मिलेगी नौकरी

गुजरात बजट: किसानों को मिलेगा जीरो फीसदी पर कर्ज, 30 हजार युवाओं को मिलेगी नौकरी

गुजरात के डेप्युटी चीफ मिनिस्टर और वित्त मंत्री नितिन पटेल ने आज गुजरात 2018-19 बजट पेश किया।

1 of

गांधीनगर। गुजरात के डेप्युटी चीफ मिनिस्टर और वित्त मंत्री नितिन पटेल ने आज गुजरात 2018-19 बजट पेश किया। विधानसभा चुनाव के बाद चीफ मिनिस्टर विजय रूपाणी सरकारका यह पहला बजट है। इस बजट में गुजरात सरकार का किसानों, युवाओं और शिक्षा पर खास फोकस रहा। सरकार ने किसानों को जीरो फीसदी पर कर्ज देने के लिए फंड बनाया है। इसके अलावा सरकारी दफ्तरों में 30 हजार युवाओं को नौकरी दी जाएगी।

 

किसानों को मिलेगा जीरो फीसदी पर लोन

 

किसानों की मदद करने और खेती को बढ़ावा देने के लिए को-ऑपरेशन डिपार्टमेंट के लिए 6,755 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है। जीरो फीसदी पर किसानों को लोन देने के लिए 500 करोड़ रुपए का फंड बनाया जाएगा। ताकि, किसानों को बिना ब्याज के आसानी से लोन मिल सके। जमीन और पेयजल संरक्षण के लिए अलग से 548 करोड़ रुपए का फंड बनाया गया है।

 

बजट हाईलाइट्स

 

- नितिन पटेल ने कहा कि हमारी सरकार की नीतियां और विकास एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।

- फाइनेंशियल ईयर 2016-17 में राजस्व घाटे में 1.42 फीसदी की कमी दर्ज की गई है।

- सरकार ने चुनिंदा इलाकों में एनिमल फार्म बनाने के लिए 3 लाख रुपए आवंटित किए हैं। इस तरह के 12 एनिमल फार्म बनाए जाएंगे।

- मुख्यमंत्री अप्रेंटिसशिप स्कीम के तहत ट्रेनिंग के दौरान युवाओं को हर महीने 3,000 रुपए मिलेंगे।

- गुजरात के युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए 785 करोड़ का स्पेशल फंड बनाया जाएगा। इससे राज्य के करीब 3.5 लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा।

- हेल्थ सेक्टर के लिए 7950.50 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।

- सरकार के अलग-अलग विभागों में करीब 30 हजार नियुक्तियां की जाएंगी।

 

आगे पढ़ें - गुजरात बजट में क्या रहा खास..

 

 

बजट हाईलाइट्स

 

- गौशाला के लिए 44 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

- स्टेट टाक्सिकोलजी ऐंड रिसर्च सेंटर के लिए 2 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

- मेडिकल एजुकेशन को नई धार दी जाएगी। मेडिकल कॉलेज में वर्चुअल क्लासरूम्स के लिए 2 करोड़ रुपएका फंड बनाया गया है।

- अहमदाबाद में आधारभूत संरचना मजबूत करने के लिए 210 रुपए खर्च किए जाएंगे। बायो-माइनिंग प्रॉजेक्ट्स के लिए 100 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

 

 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट