Home » राज्य » दिल्लीXi follows Pm Modi and orders a toilet revolution in villages

मोदी की नकल कर रहा है चीन, इस स्‍कीम को बनाया रोल मॉडल

अमेरिका समेत दुनिया के लगभग सभी ताकतवर देशों के बड़े नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुरीद हैं।

1 of
नई दिल्‍ली.. अमेरिका समेत दुनिया के लगभग सभी ताकतवर देशों के बड़े नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुरीद हैं। हालांकि चीन इस सच को स्‍वीकार करने से बचता है। लेकिन अब चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक बेहद खास  प्रोजेक्‍ट की नकल कर रहा है। दिलचस्‍प बात यह है कि इस खास मिशन को सफल बनाने के लिए चीन की सरकार करीब 20 हजार करोड़ रुपए भी खर्च कर रही है।  तो आइए, जानते हैं कि आखिर कौन सा है वो प्रोजेक्‍ट । 
 
 
 
 
'टॉयलेट क्रांति' कर रहा चीन 
 
दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'स्वच्छ भारत मिशन' की तर्ज पर पड़ोसी देश ने भी स्वच्छी चीन मिशन शुरू किया है। इसका मुख्य उद्देश्य देशभर में शौचालय बनाना है। इस 'शौचालय क्रांति'  के तहत चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सोमवार को सभी अधिकारियों को पूरे देश में मौजूद शौचालय को अपग्रेड करने के आदेश दिए हैं। इसके अलावा उन्‍होंने नए शौचालय बनाने को भी कहा है। स्‍थानीय मीडिया के मुताबिक शी ने सभी अधिकारियों को यह कहा है कि शहरी और ग्रामीण लोगों के जीवनस्तर को सुधारने के लिए शौचालय का निर्माण करना एक महत्वूर्ण हिस्सा है।  आगे पढ़ें - 2015 में शुरू की थी शुरुआत 
 
20 हजार करोड़ रुपए खर्च 
 
साल 2015 में चीन ने 'शौचालय क्रांति' शुरू की थी। इसके तहत 20 अरब युआन यानी करीब 20 हजार करोड़ रुपए के खर्च पर 68 हजार शौचालय अभी तक अपग्रेड किए जा चुके हैं। शी ने कहा कि शौचालय की समस्या कोई छोटी बात नहीं है और एक सभ्य ग्रामीण-शहरी वातावरण बनाने के लिए शौचालय को स्वच्छ रखना जरूरी है। आगे भी पढ़े - 
 
पीएम ने लाल किले से छेड़ी थी मुहिम 
 
स्वच्छ भारत मिशन के तहत पीएम मोदी भी पूरे भारत में शौचालयों की स्थापना करने और लोगों को इसके इस्तेमाल के लिए जागरूक करने पर जोर दे रहे हैं। उन्‍होंने 15 अगस्‍त 2014 को लाल किले से स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत देशभर में टॉयलेट क्रांति की मुहिम छेड़ी थी। यही नहीं, महात्‍मा गांधी के जन्‍मदिन के मौके पर उन्‍होंने देश के कई नामचीन हस्‍तयिों को स्‍वच्‍छ भारत मिशन से जुड़ने की अपील भी की थी। पीएम मोदी की सक्रियता की वजह से देश के कई राज्यों ने खुले में शौच रोकने के लिए कई कठोर नियम बनाए हैं और रोकने की कोशि‍श में लगे हैं। 
 
प्रोत्साहन राशि में भी इजाफा  
 
पीएम मोदी के इस मिशन को बढ़ावा देने के लिए सरकार की ओर से कई अलग - अलग तरह के तरीके अपनाए गए। सरकार ने शौचालय निर्माण के लिए प्रोत्साहन राशि में 2,000 की वृद्धि करते हुए इसे 10,000 से 12,000 कर दिया गया है। वहीं पिछले तीन सालों में 4 करोड़ से ज्‍यादा शौचालय का निर्माण किया गया है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट