बिज़नेस न्यूज़ » States » Delhiये हैं देश के टॉप होल सेल मार्केट, दिवाली पर करते हैं करोड़ों का बिजनेस

ये हैं देश के टॉप होल सेल मार्केट, दिवाली पर करते हैं करोड़ों का बिजनेस

दिवाली पर देश में कुछ ऐसे होलसेल मार्केट हैं, जो पूरे देश की डिमांड को पूरा करते हैं।

1 of
दिवाली पर देश में कुछ ऐसे होलसेल मार्केट हैं जो कि पूरे देश की डिमांड को पूरा करते हैं। इन मार्केट्स के बिना आप दिवाली के त्योहार की कल्पना नहीं कर सकते हैं क्योंकि ज्वैलरी, ऑटो गुड्स, रेडीमेड गारमेंट्स, पटाखे, फैंसी लाइट्स और अन्य डेकोरेटिव आइटम्स की सप्लाई रिटलर्स को यहीं से होती है। यह मार्केट अलग-अलग वजहों से प्रसिद्ध हैं, जिनके बारे में मनी भास्कर आपको बताने जा रहा हैं।
 
1.  चांदनी चौक
 
पुरानी दिल्ली का चांदनी चौक मार्केट में ना केवल उत्तर भारत बल्कि पूरे देश से रिटेल कारोबारी सामान खरीदने के लिए आते हैं। चांदनी चौक में कई छोटे-छोटे मार्केट हैं जो अलग-अलग सामान बेचने के लिए प्रसिद्ध हैं। दिवाली में यहां सबसे ज्यादा ज्वैलरी और कपड़ो का बिजनेस होता है। दिवाली में इस मार्केट में सबसे ज्यादा होलसेल बिजनेस कपड़ो, साड़ियों और ज्वैलरी का होता है। साथ ही अगर आप छोटा बिजनेस चलाते हैं, तो होल सेल प्राइस पर आपको प्रोडक्ट मिल जाएंगे। देश के ज्यादातर खुदरा कारोबारी और इंपोटर्स इसी बाजार से सामान ले जाते हैं।
 
चांदनी चौक मार्केट एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश गोयल ने मनी भास्कर से बात करते हुए कहा कि इस साल बिजनेस में 25 फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है। चांदनी चौक वैसे तो रिटेल का मार्केट है लेकिन साड़ियों के मार्केट में बिजनेस काफी अच्छा है। इसके साथ ही ज्वैलरी मार्केट में भी रिटेल कारोबारी ज्वैलरी खरीदने के लिए आते हैं। करोल बाग के बाद दिल्ली में यह मार्केट डिजाइनर ज्वैलरी के लिए सबसे बड़ा मार्केट है।
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
 
2. क्रॉफोर्ड मार्केट मुंबई
 
देश की फाइनेंश्यिएल कैपिटल मुंबई में पुलिस हेडक्वार्टर और सीएसटी स्टेशन के पास में स्थित यह मार्केट महाराष्ट्र का सबसे बड़ा होलसेल मार्केट हैं। इस मार्केट की खासियत यह है कि यहां पर सब्जी और फूल भी मिलते हैं जो मुंबई के अंदर सबसे बड़ा होलसेल मार्केट हैं। यहां पर रिटलर्स और छोटे खरीददार भी सामान खरीदने के लिए आते हैं। जो सामान यहां पर मिलता है उनमें स्टिच किए हुए कपड़े, ड्रेस मैटेरियल, आर्टिफिशयल ज्वैलरी, ट्रेवल बैग्स आदि सामान मिलता है। इस मार्केट के पास ही झावेरी बाजार हैं जो पश्चिम भारत में गोल्ड और डायमंड ज्वैलरी का सबसे बड़ा केंद्र है।
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
 
3. लाजपत राय मार्केट, चांदनी चौक
 
पुरानी दिल्ली में लाल किले के सामने स्थित यह मार्केट इलेक्ट्रॉनिक और इलेक्ट्रिकल गुड्स की बिक्री के लिए जाना जाता है। दिवाली के दौरान देश भर के अधिकतर रिटेलर्स यहां पर फैंसी लाइट्स की खरीददारी करने के लिए आते हैं। चूंकि आजकल चाइनीज लाइटिंग आइटम्स की ज्यादा डिमांड है इसलिए झालर और अन्य चीनी सामान को खरीदने के लिए रिटेल कारोबारी सबसे पहले यहीं पर आकर सामान खरीदते हैं और फिर अपने शहरों में ले जाकर बेचते हैं।  इसके अलावा लोकल मेड एलसीडी टीवी, फ्रिज और दूसरे आइटम्स भी यहां पर होलसेल और रिटेल में बिकते हैं।
 
भागीरथ पैलेस मार्केट एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय शर्मा ने मनी भास्कर को बताया कि इस साल होलसेल के मार्केट में बिजनेस 50 फीसदी तक डाउन है। हर बड़े शहर में इंपोर्टस के बैठने के कारण फैंसी लाइट का बिजनेस काफी कम है। हालांकि एप्लाइंसेस का बिजनेस काफी अच्छा चल रहा है। 
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
 
4. मंगलदास मार्केट, गुजरात (मुंबई)
 
गुजरात से आए व्यापारी ही इस मार्केट में व्यापार करते हैं, इसलिए इस मार्केट का नाम ऐसा पड़ा है। यह मार्केट भी मुंबई का एक और सबसे बड़ा होलसेल मार्केट है और यह क्रॉफोर्ड मार्केट के पास में स्थित है। यहां पर आपको दिवाली के लिए विशेष रूप से गुजरात में बने कपड़े, साड़ियां, फैब्रिक और बिना सिले कपड़े मिल जाएंगे। मंगलदास मार्केट कपड़ों के लिए मशहूर है और महाराष्ट्र ही नहीं बल्कि गोवा, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश के कपड़ा व्यापारी भी यहां खरीददारी करने के लिए आते हैं।
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
 
5.   चावड़ी बाजार
चांदनी चौक और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन (अजमेरी गेट) के पास में स्थित यह मार्केट पेपर कार्ड्स, ब्रास और कॉपर से बने प्रोडक्टस के लिए मशहूर हैं। 1840 में इस मार्केट की नींव पड़ी थी। तब यह हार्डवेयर का होल सेल मार्केट था। आज इस मार्केट की पहचान पेपर प्रॉडक्ट्स के कारण हैं। दिवाली और शादी के लिए कार्ड्स, वॉलपेपर के लिए यह पूरे देश में सबसे बड़ा होलसेल मार्केट हैं।
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
 
6. सूरत का प्रसिद्ध है टेक्सटाइल और डायमंड मार्केट
 
गुजरात के सूरत शहर में मौजूद टेक्सटाइल और डायमंड के लिए पूरे भारत में मशहूर है। 1901 में सूरत में डायमंड कटिंग और पॉलिशिंग का कारोबार शुरू हुआ था जो आज भी जारी है। दिवाली के वक्त यहां पूरे देश से व्यापारी आते हैं और धनतेरस से पहले यहां करोड़ों रुपए का कारोबार होता है।
 
डायमंड सिटी के अलावा सूरत को सिल्क सिटी ऑफ इंडिया के नाम से भी जाना जाता है। सिल्क के अलावा यहां की कॉटन मिल्स भी प्रसिद्ध हैं। इस शहर में 800 से ज्यादा होलसेलर्स हैं जो टेक्सटाइल बिजनेस में लगे हुए हैं। यहां से देश भर के साड़ी व्यापारी दिवाली और शादी से पहले खरीददारी करने के लिए आते हैं।  
 
शहर में 42 हजार के करीब पॉवरलूम यूनिट्स और प्रिंटिंग मिल्स हैं जो हर साल नौ करोड़ से अधिक साड़ियां और ड्रेस मैटेरियल तैयार करती हैं। यहां का टेक्सटाइल मार्केट दिवाली के दिनों में सबसे अधिक व्यापार करता है।
 
साउथ गुजरात चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष चंद्रकांत जरीवाला ने मनी भास्कर को बताया कि दिवाली से पहले देश में कपड़ो के कारोबार में सूरत का 60 फीसदी हिस्सा हैं। फेस्टिव सीजन के शुरू होते ही मार्केट में तेजी देखने को मिली है और इस वक्त होलसेल बिजनेस ग्रो कर रहा हैं। पूरे देश से यहां व्यापारी साड़ियां, ड्रेस मैटेरियल, जेंट्स और बच्चों के कपड़े यहां बनते और बिकते हैं।
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
 
7 सदर बाजार
 
सेंट्रल दिल्ली में चांदनी चौक, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और खारी बावली से कुछ कदमों की दूरी पर स्थित सदर बाजार देश का ही नहीं बल्कि एशिया का सबसे बड़ा होल सेल मार्केट हैं। दिवाली के समय यह पटाखों की बिक्री और खरीद के लिए सबसे बड़ा होलसेल मार्केट बन जाता है। सदर बाजार में आप हाउसहोल्ड गुड्स से लेकर फैंसी ज्वैलरी,  खिलौने और कॉस्मेटिक खरीद सकते हैं।
सदर बाजार मार्केट एसोसिएश्न के अध्यक्ष ताराचंद गुप्ता ने मनी भास्कर से कहा कि पूरे देश से यहां रिटेलर्स सामान खरीदने के लिए आते हैं, क्योंकि फैक्ट्री से तैयार प्रोडक्ट्स सबसे पहले यहीं पर आते हैं। दिवाली पर पटाखे शिवकासी से और डेकोरेटिव आइटम्स भी सबसे पहले फैक्ट्री से यहां पर होलसेलर्स के पास से आते हैं।  इस साल होलसेल के बिजनेस में 50 फीसदी की गिरावट हैं। पटाखों के बिजनेस में भी इस साल 15 से 20 फीसदी की गिरावट दिख रही हैं।
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
 
8. ऑटो इंडस्ट्री और वूलेन मार्केट का गढ़ है लुधियाना
 
पंजाब में स्थित लुधियाना देश के अंदर ऑटो, साईकिल और वूलेन हौजरी का सबसे बड़ा मार्केट है। बीएमडब्लयू और मर्सिडीज बेंज के ज्यादातर पार्ट्स यहीं से सप्लाई होते हैं। देश की नामी गिरामी साइकिल और टू-व्हीलर कंपनियों की फैक्ट्रियां भी यही हैं। ज्यादातर होलसेल बिजनेस इन्हीं का होता है। शहर के बीचोंबीच में स्थित फिरोज गांधी मार्केट वूलेन क्लॉथ मार्केट का सबसे बड़ा होलसेल मार्केट हैं। दिवाली से पहले फैक्ट्री में तैयार फिनिशड गुड्स इस मार्केट से ज्यादा ठंड पड़ने वाले राज्यों के मार्केट में बिकने के लिए जाते हैं। स्वेटर, जैकेट्स, वूलेन सूट, मफलर को लेने के लिए उत्तर भारत के तकरीबन सभी राज्यों से व्यापारी आते हैं।
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
 
9.  आर्ट्स एंड क्राफ्ट के लिए फेमस हैं जयपुर
 
राजस्थान की राजधानी जयपुर में हवा महल के आस-पास का मार्केट जैसे की बड़ी चौपड़, छोटी चौपड़,जौहरी बाजार दिवाली में कुंदन की ज्वैलरी,  कार्पेट,  टेक्सटाइल, लेदर गुड्स, हैंडीक्राफ्ट, जेम्स, पॉटरी और चूड़ियों के लिए पूरे देश में फेमस है। पटाखों का होलसेल मार्केट भी यहीं पर लगता हैं। इस मार्केट में पूरे राजस्थान से रिटेलर्स सामान लेने के लिए आते हैं।
 
आगे की स्लाइड में पढ़े देश के और टॉप होलसेल मार्केट के बारे में....
10.  कोलकाता का बड़ाबाजार है ईस्ट इंडिया में सबसे बड़ा हब
 
पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में हुगली नदी के किनारे और शहर के बीचोंबीच स्थित बड़ा बाजार मार्केट ईस्ट इंडिया में होलसेल का सबसे बड़ा मार्केट है। वैसे तो इस मार्केट में आप जो चाहें वो मिल जाता है लेकिन दिवाली के वक्त यहां पर आने वाली कारोबारियों की भीड़ देखने लायक होती है।
 
इस दौरान मार्केट में 50 हजार से अधिक छोटे-बड़े रिटेल व्यापारी यहां सामान लेने आते हैं। पूर्वोत्तर में यह मार्केट पटाखे, कपड़ो और फैंसी आइटम्स की खरीददारी करने के लिए सबसे बड़ा मार्केट प्लेस है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट