Home » States » DelhiNepal and China working on cross border rail and dry port

नेपाल से मिलकर चीन ने चला दांव, भारत के लिए खतरे की घंटी

भारत और चीन के बीच तनाव भरे रिश्‍ते जगजाहिर है।

1 of

नई दिल्‍ली..  भारत और चीन के बीच तनाव भरे रिश्‍ते जगजाहिर हैं। दुनियाभर को यह मालूम है कि भारत को टक्‍कर देने के लिए चीन हर दांव लगा सकता है। ऐसा ही एक दांव उसने भारत के पड़ोसी देश नेपाल के साथ चला है। चीन इसके जरिए भारत को निशाना बनाने की कोशिश कर रहा है। तो आइए जानते हैं कि क्‍या है वो दांव। आगे पढ़ें -ये है चीन का दांव 

 

ये है चीन का दांव 


दरअसल, नेपाल और चीन मिलकर सीमा पार रेलवे संपर्क, राजमार्ग और एक ड्राई पोर्ट (रेल और सड़क मार्ग के जरिये समुद्र से जुड़ा स्थान) के निर्माण जैसे कई मोर्चो पर एक साथ काम कर रहे हैं। इस बात की पुष्टि खुद नेपाल में चीनी राजदूत यू हांग ने की है। आगे पढ़ें - OBOR प्रोजेक्‍ट में हो रहा शामिल 

 

OBOR प्रोजेक्‍ट में हो रहा शामिल 


नेपाल पहले ही चीन के वन बेल्‍ट, वन रोड (OBOR) प्रोजेक्‍ट में शामिल होने का एलान कर चुका है। अहम बात यह है कि इस प्रोजेक्‍ट का भारत समेत दुनिया के कई बड़े देश विरोध कर रहे हैं । राजदूत यू हांग ने कहा कि OBOR प्रोजेक्‍ट में शामिल नेपाल और अन्य देशों के लिए अर्थव्यवस्था व लोगों से संपर्क बनाए रखने का व्यापक मौका मिलता है। नेपाल ने मई में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की प्रमुख परियोजना OBOR में शामिल होने के लिए हस्ताक्षर किए थे। आगे पढ़ें नेपाल कर चुका है चीन का नुकसान  

नेपाल कर चुका है चीन का नुकसान  


हालांकि हाल ही में नेपाल ने चीन को एक झटका दिया है। दरअसल, नेपाल सरकार ने चीन की जिजुआ ग्रुप के साथ हाइड्रो पावर प्रोजेक्‍ट निर्माण में अनियमितताओं को देखते हुए इस कंपनी के साथ बूढ़ी गंडक (कोसी) डील को रद्द कर दिया है। इस डील की अनुमानित लागत 25000 करोड़ (नेपाल की करंसी) यानी 16 हजार करोड़ भारतीय रुपए थी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट